Rohilkhand University Exam News : लॉ की परीक्षाएं होंगी, बार काउंसिल आफ इंडिया ने दी सहमति, जानें कब हो सकती हैं परीक्षाएं

Rohilkhand University Exam News महात्मा ज्योतिबा फुले रुहेलखंड विवि में लॉ की परीक्षाएं अब विधिवत करायी जाएंगी। बार काउंसिल आफ इंडिया ने भी इसकी सहमति दे दी है। परीक्षाएं अगस्त के मध्य तक शुरु करायी जाएंगी।समिति ने लॉ की परीक्षा के लिए तीन मुद्दों को रखा था।

Samanvay PandeyFri, 11 Jun 2021 08:35 AM (IST)
महाविद्यालय अपने स्तर से कोविड-19 के प्रभाव को देखते हुए करा सकेंगे परीक्षा।

बरेली, जेएनएन। Rohilkhand University Exam News : महात्मा ज्योतिबा फुले रुहेलखंड विवि में लॉ की परीक्षाएं अब विधिवत करायी जाएंगी। बार काउंसिल आफ इंडिया ने भी इसकी सहमति दे दी है। परीक्षाएं अगस्त के मध्य तक शुरु करायी जाएंगी।कोविड-19 महामारी के चलते परीक्षा के मुद्दे से निपटने के लिए 12 सदस्यीय विशेषज्ञ समिति बनायी गई थी। जिसके तहत समिति की सदस्यों ने लॉ की परीक्षा को लेकर तीन मुद्दों को मुख्य रूप से रखा था। जिसमें कोविड-19 के तहत परीक्षा करायी जाए या नहीं करायी जाए।

आफलाइन या ऑनलाइन मोड पर परीक्षाएं करायी जाएं। परीक्षाओं के लिए बीसीआई की विशेष अनुमति होगी या नहीं। इन सभी मुद्दों पर बार काउंसिल की ओर से गहनता से विचार किया गया। इसके बाद बार काउंसिल की ओर से रिपोर्ट को स्वीकार करते हुए निर्देश दिए गये हैं कि विवि और महाविद्यालय अपने स्तर से कोविड-19 के प्रभाव को देखते हुए परीक्षाएं करा सकते हैं। किसी भी हाल में परीक्षाएं रद्द नहीं होगी।

इसमें द्वितीय एवं तृतीय वर्ष एलएलबी की परीक्षा करायी जाएगी। प्रथम वर्ष के छात्रों को प्रोन्नत किया जाएगा। वहीं एलएलएम के अंतिम वर्ष के छात्रों की परीक्षाएं भी करायी जाएंगी। रुहेलखंड विवि के विधि विभागाध्यक्ष डा अमित सिंह ने बताया कि बार काउंसिल की ओर से सहमति रिपोर्ट प्राप्त हो चुकी है। साथ ही उत्तर प्रदेश सरकार की गाइडलाइन के अनुसार ही परीक्षाएं करायी जाएंगी।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.