Robbery in Bareilly : बरेली में बदमाशों ने जरी कारीगर के घर डाली डकैती, पांच लाख के जेवरात लेकर बिना कैमरे वाली गली से हुए फरार

Robbery in Bareilly रबड़ी टोला में रहने वाले जरी कारीगर राशिद के घर गुरुवार देर रात बदमाश पांच लाख की डकैती डालकर संकरी गलियों में फरार हो गए। बंधक बनाए गए राशिद के स्वजनों के शोर पर लोग इकट्ठा हुए। उन्होंने पुलिस को वारदात के बारे में जानकारी दी।

Ravi MishraFri, 17 Sep 2021 07:46 AM (IST)
Robbery in Bareilly : बरेली में बदमाशों ने जरी कारीगर के घर डाली डकैती

बरेली, जेएनएन। Robbery in Bareilly : रबड़ी टोला में रहने वाले जरी कारीगर राशिद के घर गुरुवार देर रात बदमाश पांच लाख की डकैती डालकर संकरी गलियों में फरार हो गए। बंधक बनाए गए राशिद के स्वजनों के शोर पर लोग इकट्ठा हुए। उन्होंने पुलिस को वारदात के बारे में जानकारी दी। प्रभारी एसएसपी रविंद्र कुमार, सीओ तृतीय साद मियां समेत बारादरी थाने की पुलिस ने छानबीन शुरू की। सीसी कैमरों की फुटेज के जरिये बदमाशों का प्राथमिक सुराग तलाशा जा रहा है।

राशिद के मुताबिक गुरुवार रात करीब 9.45 बजे घर की पहली मंजिल पर पत्नी फरीना, छह वर्षीय बेटा रजा मौजूद थे। उनके साथ काम करने वाला इस्लाम चाय लेने के लिए घर से बाहर गया हुआ था। घर का मुख्यद्वार लाॅॅक नहीं था। चार बदमाश घर के अंदर दाखिल हुए। एक बदमाश सीढ़ियों के पास रेकी के लिए रुक जाता है। बाकी तीन सीढ़ियों से ऊपर आने के बाद राशिद पर तमंचा तान देते है।

इसी दरम्यान नीचे इस्लाम लौट आता है। लेकिन नीचे खड़ा बदमाश उसको रोकता नहीं है। बल्कि ऊपर जाने देता है। इस्लाम को भी बदमाश बंधक बना लेते है। राशिद और इस्लाम को तख्त के पाये से बांधने के बाद फरीना से अलमारी की चाबी मांगते हैं। घबराई फरीना चाबी देती है। लेकिन बदमाश चाबी से अलमारी नहीं खोल पाते हैं। इसलिए लोहे की रॉड से लॉक तोड़ देते है। अलमारी में रखे 20 हजार रुपये नगद और फरीना के जेवर लूट लेते है।

डीबीआर और मोबाइल बदमाश साथ ले गए

भागने से पहले बदमाश घर में लगे सीसी कैमरा की डीबीआर और मोबाइल साथ ले जाते हैं। वाईफाई कनेक्शन को तोड़ देते हैं। बदमाशों ने राशिद और इस्लाम को कमरे में बंद किया था। फरीना के मुताबिक वह बदमाशों के आगे गिड़गिड़ाई। इसलिए उसको बांधा नहीं गया। फरीना ने ही बदमाशों के भागने के बाद राशिद और इस्लाम को कमरे के बाहर निकाला। उन्होंने शोर मचाकर पड़ोसियों को इकट्ठा किया। तब तक बदमाश भाग चुके थे।

सटीक रेकी : जिस गली से भागे उसमें सीसी कैमरा नहीं मिला

रााशिद के घर के नीचे परचून की दुकान है। जिस पर सीसी कैमरा लगा हुआ है। लेकिन कैमरा की दिशा दूसरी तरफ है। पुलिस देर रात तक इसी फुटेज जांचती रही। वारदात के वक्त ये दुकान भी बंद थी। रैकी बदमाशों की मजबूत थी। क्योंकि उन्हें राशिद के घर के लिए आने वाले सभी रास्तों के सीसी कैमरों की जानकारी थी। उन्होंने वारदात करके भागने के लिए उस गली को चुना, जिसमें एक भी सीसी कैमरा नहीं था।

बदमाशों के नाम : ठाकुर, राहुल, संतोष

कम उम्र के चार युवकों ने जींस और टी-शर्ट पहनी थी। मुंह पर कोविड संक्रमण से बचाव वाले मास्क लगाए थे। एक बदमाश के नाक के पास कटे का निशान भी था। बदमाश आपस में ठाकुर, संतोष और राहुल नामों से बातचीत कर रहे थे।

गली में मिला चाकू, फिंगर प्रिंट हो सकता है सुराग

पुलिस को बदमाशों के भागने के लिए इस्तेमाल करने वाली गली में एक चाकू मिला। इसको फोरेसिंक टीम के पास फिंगर प्रिंट जांचने के लिए भेजा गया है। पुलिस मान रही है कि घर से कुछ दूरी पर बदमाशों ने बाइक खड़ी की होगी। क्योंकि संकरी गलियों में भागने के लिए बाइक ही एकमात्र सहारा हो सकती है।

बदमाशों की तलाश में पुलिस टीम लगाई गई है। जल्द ही मामले का पर्दाफाश कर दिया जाएगा। - रविंद्र कुमार, प्रभारी एसएसपी

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.