संदिग्ध परिस्थितियों में गर्भवती महिला की मौत, मायके वालों ने कहा दहेज के लिए मार डाला

बरेली मंडल के शाहजहांपुर जिले के तिलहर क्षेत्र में पड़ने वाले गांव गोबरसंडा में एक संदिग्ध परिस्थितियों में बुधवार रात गर्भवती महिला की मौत हो गई। शरीर पर चोट के निशान मिलने पर मायके वालों दहेज के लिए हत्या करने का आरोप लगाया है।

Sant ShuklaPublish:Thu, 01 Apr 2021 05:10 PM (IST) Updated:Thu, 01 Apr 2021 05:10 PM (IST)
संदिग्ध परिस्थितियों में गर्भवती महिला की मौत, मायके वालों ने कहा दहेज के लिए मार डाला
संदिग्ध परिस्थितियों में गर्भवती महिला की मौत, मायके वालों ने कहा दहेज के लिए मार डाला

बरेली, जेएनएन। बरेली मंडल के शाहजहांपुर जिले के तिलहर क्षेत्र में पड़ने वाले गांव गोबरसंडा में एक संदिग्ध परिस्थितियों में बुधवार रात गर्भवती महिला की मौत हो गई। शरीर पर चोट के निशान मिलने पर मायके वालों दहेज के लिए हत्या करने का आरोप लगाया है।

क्षेत्र के गोबरसंडा गांव निवासी अनमोल कुमार की पत्नी सोनाश्री सात महीने की गर्भवती थी । बुधवार रात करीब साढ़े दस बजे सोनाश्री की तबीयत खराब हो गई। पड़ोसियों ने उनके पिता लखीमपुर खीरी जिले के मोहम्मदी थाना क्षेत्र के खंडोरा गांव निवासी कमलेश कुमार को फोन पर सूचना दी। कमलेश ने बताया कि रात करीब 12 बजे जब बेटी के मायके पहुंचे तो वह मृत अवस्था में जमीन पर पड़ी थी। आरोप है कि गर्दन व शरीर के अन्य हिस्सों पर चोट के निशान थे। ऐसे में उन्होंने पुलिस को सूचना दी। प्रभारी निरीक्षक हरपाल सिंह बालियान ने मौके पर पहुंचकर ग्रामीणों से जानकारी ली। कमलेश ने बताया कि तीन साल पहले बेटी की शादी दो बीघा खेत बेंचकर की थी। आरोप है कि शादी के बाद उसके मायके वाले दहेज के लिए प्रताड़ित करने लगे। तीन-चार बार पंचायत भी हुई लेकिन उसके बाद भी प्रताड़ित किया जाना बंद नहीं हुआ। सोनाश्री का एक डेढ़ साल का बेटा शेरू है। जबकि सात माह से वह गर्भ से थी।

चुनाव लड़ने के लिए मांगे थे रुपये

मृतका के पिता का आरोप है कि बेटी की ससुराल वालों ने कुछ दिन पहले दहेज के अलावा 10 हजार रुपये पंचायत चुनाव लड़ने के लिए भी मांगे थे। लेकिन आर्थिक स्थिति का हवाला देते हुए रुपये देने से मना कर दिया था। आरोप लगाया कि करीब एक साल से बेटी की विदाई भी नहीं कर रहे थे। दो दिन पहले भी बेटी के ससुराल वालों को उनके घर जाकर समझाया था।

क्या कहना है पुलिस का

पोस्टमार्टम कराया गया है। उसके बाद ही मौत का कारण स्पष्ट हो सकेगा। तहरीर के आधार पर आगे की कार्रवाई की जाएगी।

हरपाल सिंह बालियान, प्रभारी निरीक्षक