पुलिस ने दर्ज किया मुकदमा, भाजपाई बोले- फर्जी है

पुलिस ने दर्ज किया मुकदमा, भाजपाई बोले- फर्जी है
Publish Date:Thu, 22 Oct 2020 03:24 AM (IST) Author: Jagran

बरेली, जेएनएन: मंगलवार को किला थाने में लव जिहाद के खिलाफ प्रदर्शन के दौरान हुई तोड़फोड़ के आरोप में भाजपा व हिदुत्ववादी संगठनों के नेताओं पर मुकदमा दर्ज हुआ तो सियासी तापमान चढ़ गया। भाजपा और विहिप ने मुकदमे को फर्जी करार दिया। पलटवार करते हुए कहा कि उन पुलिसकर्मियों को नहीं बख्शेंगे, जिन्होंने बेवजह लाठियां बरसाकर दर्जनों कार्यकर्ताओं को चोटिल किया।

प्रेमनगर निवासी छात्रा की बरामदगी न होने और लव जिहाद के खिलाफ मंगलवार को किला थाने में प्रदर्शन के दौरान सीओ व ट्रेनी आइपीएस साद मियां से भाजपा, विहिप कार्यकर्ताओं की नोकझोंक हो गई थी। जिसके बाद बवाल हुआ और रात को भाजयुमो के जिला संयोजक विभु शर्मा वैभव, विश्व हिंदू परिषद के योगेश गुप्ता, दिव्य चतुर्वेदी, हिंदू शक्ति दल के हर्ष भारद्वाज, छावनी के रहने वाले अमित राठौर व पंजाबपुरा के राजेश सक्सेना को नामजद व कई अज्ञात पर मुकदमा दर्ज किया गया। चौकी प्रभारी किला सनी की तहरीर पर आरोपितों पर सरकारी संपत्ति को नुकसान पहुंचाने, महामारी अधिनियम समेत कई गंभीर धाराएं लगाई गई। बुधवार को इसकी जानकारी होने पर भाजपा नेताओं की त्योरियां चढ़ गई।

भाजपा और विहिप की सुनें

मुकदमे पर भाजपा नेताओं का कहना है कि प्रदर्शन में बड़ी संख्या में लोग शामिल थे। तोड़फोड़ किसने की, यह नहीं पता। किसी गलतफहमी में पुलिस ने कार्यकर्ताओं के नाम दर्ज कर लिए। विहिप का कहना है कि जो नाम गलत तरीके से दर्ज किए हैं, उन्हें मुकदमे से निकलवाएंगे।

पुलिस का तर्क

मुकदमे के बाबत पुलिस का तर्क है कि घटनाक्रम के समय वीडियो बनवाए गए थे। उनमें आरोपित तोड़फोड़ करते दिखाई दे रहे हैं। इसी आधार पर मुकदमे में नाम दर्ज किए गए हैं। जो वीडियो वायरल हुआ, उसमें भाजयुमो नेता व अन्य कुर्सियां फेंकते दिखाई दे रहे हैं। लव जिहाद के खिलाफ नारेबाजी की जा रही।

मुकदमे पर पलटवार भी

भाजपा, विहिप कार्यकर्ताओं पर मुकदमे हुए तो संगठनों ने पलटवार भी किया है। भाजपा का कहना है कि चार कार्यकर्ताओं पुलिस की लाठी से बुरी तरह घायल हुए। उनके मेडिकल कराए गए हैं। भाजपा जिलाध्यक्ष पवन शर्मा बोले, आरोपित पुलिसकर्मियों पर मुकदमा दर्ज कराएंगे। धवार को कुछ सम्मेलन होने से व्यस्तता रही इसलिए तहरीर नहीं तैयार कराई जा सकी।

----------

झ ठा है मुकदमा

युवा मोर्चा के जिला संयोजक विहिप के कार्यकर्ताओं का नाम मुकदमे में बेवजह शामिल किया गया। उन लोगों ने तोड़फोड़ नहीं की है। वीडियो हमने भी बनवाए हैं, कहीं भी हमारे कार्यकर्ता तोड़फोड़ करते नहीं दिख रहे। जिन पुलिसकर्मियों ने लाठियां बरसाई, उन पर मुकदमा कराएंगे।

-पवन शर्मा, जिलाध्यक्ष, बरेली

----------

पुलिस ने गलत कार्रवाई की है। इस प्रकरण में हमने एसएसपी से बात की है। लव जिहाद के खिलाफ हमारा आंदोलन जारी रहेगा। पुलिस ने यदि 24 घंटे में छात्रा को बरामद नहीं किया तो धर्म पंचायत बुलाई जाएगी।

- पवन अरोरा, विभाग संयोजक, विहिप

-------

तोड़फोड़ में हमारे लोग शामिल नहीं थे। जिन पर मुकदमा दर्ज हुआ, उनमें एक तो छात्र है। हमारे पास भी वीडियो हैं, जिनसे सारी स्थिति साफ हो जाएगी। हमारे कार्यकर्ता ने यदि कोई हरकत की होगी तो वे लोग स्वीकारेंगे।

- केएम अरोरा, महानगर अध्यक्ष, भाजपा

------

घटनाक्रम के कई वीडियो बनाए गए थे। उसे देखने के बाद ही चेहरों की पहचान कर मुकदमा दर्ज किया गया है। वीडियो में तोड़फोड़ करते लोग साफ दिखाई दे रहे।

- रोहित सिंह सजवाण, एसएसपी

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.