राज्यपाल के आदेश पर निलंबित हुआ पीलीभीत का दुष्कर्मी प्रोफेसर, काला जादू के नाम पर छात्राओं के साथ करता था दुष्कर्म

पीलीभीत के महिला महाविद्यालय की छात्रा से दुष्कर्म करने देह व्यापार चलाने तथा काला जादू का भय दिखाने के आरोपित सहायक प्राध्यापक डा. कामरान आलम को निलंबित कर दिया गया। राज्यपाल के आदेश पर शासन में सचिव उच्च शिक्षा शमीम अहमद खान ने निलंबन आदेश जारी कर दिया है।

Ravi MishraThu, 09 Dec 2021 01:36 PM (IST)
राज्यपाल के आदेश पर निलंबित हुआ पीलीभीत का दुष्कर्मी प्रोफेसर

बरेली, जेएनएन। पीलीभीत के महिला महाविद्यालय की छात्रा से दुष्कर्म करने, देह व्यापार चलाने तथा काला जादू का भय दिखाने के आरोपित सहायक प्राध्यापक डा. कामरान आलम को निलंबित कर दिया गया। राज्यपाल के आदेश पर शासन में सचिव उच्च शिक्षा शमीम अहमद खान ने निलंबन आदेश जारी कर दिया है। यह कार्रवाई अपर मुख्य सचिव डा. मोनिका गर्ग का अनुमोदन प्राप्त होने के बाद कर दी गई। अपर मुख्य सचिव का अनुमोदन मिलते ही आरोपित सहायक प्राध्यापक डा. कामरान आलम को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया गया है। मामले में संयुक्त निदेशक स्तर के एक विभागीय अधिकारी को जांच सौंपी गई है। निलंबन अवधि में कामरान को क्षेत्रीय उच्च शिक्षा अधिकारी कार्यालय बरेली से संबद्ध किया गया है।

शहर के महिला महाविद्यालय में बीएससी द्वितीय वर्ष की छात्रा ने विगत 21नवंबर को गणित विषय के सहायक प्राध्यापक डॉ. कामरान आलम खान के खिलाफ दुष्कर्म करने, सैक्स रैकेट चलाने तथा काला जादू का भय दिखाने के गंभीर आरोपों के तहत सदर कोतवाली में मुकदमा दर्ज कराया। इसकी भनक लगते ही कामरान आलम खान फरार हो गया। खासी मशक्कत के बाद पुलिस ने विगत 26 नवंबर की शाम कामरान को शहर के ईदगाह रेलवे क्रासिंग के पास से गिरफ्तार कर लिया। कोर्ट में पेशी के बाद कामरान को जिला कारागार में निरुद्ध कर दिया गया है। आरोपित सहायक प्राध्यापक की गिरफ्तारी के बाद से ही निलंबन की प्रक्रिया शुरू हो गई थी। उच्च शिक्षा सचिव शमीम अहमद खान ने उच्च शिक्षा निदेशक डा. अमित भारद्वाज को सभी औपचारिकताएं पूरी कर निलंबन का प्रस्ताव भेजने के आदेश दिए।

उच्च शिक्षा निदेशक ने पूरे मामले में क्षेत्रीय उच्च शिक्षा अधिकारी व कार्यवाहक प्राचार्य से रिपोर्ट तलब की। इसके बाद आरोपित सहायक अध्यापक के निलंबन का प्रस्ताव तैयार कराकर शासन को भेजा गया। शासन में प्रस्ताव के आधार पर डिप्टी सीएम डा. दिनेश शर्मा के समक्ष फाइल भेजकर निलंबन की अनुमति मांगी गई। डिप्टी सीएम की अनुमति मिलने के बाद बुधवार को अपर मुख्य सचिव डा. मोनिका गर्ग ने निलंबन आदेश पर अनुमोदन प्रदान कर दिया। साथ ही संयुक्त निदेशक डा. राजीव पांडेय को मामले में विभागीय जांच के लिए जांच अधिकारी नामित किया गया है। सचिव शमीम अहमद खान द्वारा भी निलंबन का आधिकारिक आदेश जारी कर दिया गया है।

आरोपित सहायक प्राध्यापक के निलंबन आदेश पर अपर मुख्य सचिव का अनुमोदन प्राप्त हो चुका है। इसके अनुपालन में सचिव स्तर से भी आदेश जारी कर निलंबन की आधिकारिक पुष्टि कर दी गई है। मामले में जांच के लिए संयुक्त निदेशक स्तर के अधिकारी की नियुक्ति की गई है। अब महाविद्यालय के माहौल में सुधार के प्रस्तावों पर जल्द से जल्द कार्रवाई शुरू होगी। - शमीम अहमद खान, सचिव, उच्च शिक्षा विभाग

निलंबन आदेश में यह लिखा है

राज्यपाल के आदेश से उच्च शिक्षा सचिव शमीम अहमद खान द्वारा जारी कार्यालय आदेश में लिखा गया कि शासन के संज्ञान में आया है कि डा. कामरान आलम खान, प्रवक्ता गणित, राजकीय महिला महाविद्यालय पीलीभीत के विरुद्ध दर्ज एफआइआर मु. अपराध संख्या 336/21 धारा 294, 376, 506 भारतीय दंड विधान के अंतर्गत आधिकारिक गिरफ्तारी दिनांक 26 नवंबर 2021 को 19.30 बजे हो चुकी है। निदेशक उच्च शिक्षा के पत्र द्वारा उक्त प्रवक्ता के विरुद्ध दर्ज मुकदमे एवं आरोपों के क्रम में डा. कामरान आलम खान, प्रवक्ता गणित को दिनांक 26 नवंबर 2021 से निलंबित किए जाने हेतु संस्तुति सहित उपलब्ध कराए गए प्रस्ताव के परिशीलन के आधार पर प्रथम दृष्टया पाया गया कि डा. कामरान आलम खान, प्रवक्ता गणित का कृत्य अत्यंत गंभीर प्रकृति का है जो उत्तर प्रदेश सरकारी कर्मचारी आचरण नियमावली 1956 (यथा संशोधित) का स्पष्ट उल्लंघन है।

उक्त गंभीर कृत्य हेतु शासन द्वारा डा. कामरान आलम खान, प्रवक्ता गणित को निलंबित किया जा चुका है। अतः डा. कामरान आलम खान, प्रवक्ता गणित के विरुद्ध उत्तर प्रदेश सरकारी सेवक (अनुशासन एवं अपील) नियमावली 1999 के नियम 7 के अंतर्गत अनुशासनिक कार्रवाई संस्थित करते हुए आरोपों की जांच के लिए डा. राजीव पांडेय, संयुक्त निदेशक, उच्च शिक्षा निदेशालय उत्तर प्रदेश प्रयागराज को जांच अधिकारी नामित किए जाने के आदेश राज्यपाल एतद्द्वारा प्रदान करते हैं। निलंबन अवधि में डा. कामरान आलम खान, प्रवक्ता गणित क्षेत्रीय उच्च शिक्षा अधिकारी कार्यालय बरेली से संबद्ध रहेंगे।

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

Tags
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.