मटर की फसल में कीटनाशक डालने के बाद किसान ने पकड़ लिया अपना माथा

बरेली बर्बाद फसल को किसानों को दिखाता किसान

आंवला के थाना अलीगंज क्षेत्र के ग्राम राजपुर कलां के एक कृषक को अपनी मटर की फसल में कीटनाशक का छिड़काव करना महंगा पड़ गया। दवा का छिड़काव करते ही फसल गई। उन्होंने दवा विक्रेता के खिलाफ खराब कीटनाशक देने का आरोप लगाते हुए तहरीर दी है।

Publish Date:Thu, 26 Nov 2020 04:42 PM (IST) Author: Samanvay Pandey

बरेली, जेएनएन। आंवला के थाना अलीगंज क्षेत्र के ग्राम राजपुर कलां के एक कृषक को अपनी मटर की फसल में कीटनाशक का छिड़काव करना महंगा पड़ गया। दवा का छिड़काव करते ही उनकी पूरी फसल झुलस कर खराब हो गई। उन्होंने दवा विक्रेता के खिलाफ खराब कीटनाशक देने का आरोप लगाते हुए तहरीर दी है। गांव के रूपेंद्र सिंंह का कहना है कि उन्होंने एक दुकानदार से अपनी मटर की खेती में सूड़ी को मारने के लिए कीटनाशक लिया था। उन्होंने उस समय सूड़ी के नष्ट होने तथा फसल पर इसका कोई भी गलत प्रभाव न होने की बात कही थी। उनके बताए अनुसार उन्होंने कीटनाशक का छिड़काव किया जिसके अगले दिन ही उनकी पूरी छह बीघा मटर की फसल झुलस गई। जब वे इसकी शिकायत करने दुकानदार के पास गए तो वह उन्हें भद्दी-भद्दी गालियां देने लगा। किसान ने दुकानदार के खिलाफ तहरीर दी है। थानाध्यक्ष रविकरन सिंह ने बताया कि प्रार्थनापत्र मिला है। जांच के बाद कार्रवाई की जाएगी। 

भाकियू का अनिश्चितकालीन धरना जारी

मीरगंज। भारतीय किसान यूनियन के तत्वाधान में तहसील गेट पर विभिन्न मांगों को लेकर संचालित  अनिश्चितकालीन धरना प्रदर्शन आंदोलन तीसरे दिन भी जारी रहा। इसी मुद्दे को लेकर वकीलों ने भी अपना कार्य बहिष्कार आंदोलन 31 नवंबर तक बढ़ा दिया। बुधवार को तहसील गेट पर संचालित धरने को संबोधित करने के लिए भाकियू के जिलाध्यक्ष को आना था लेकिन वे व्यस्तता के चलते नहीं आ सके। अब गुरुवार को किसान पंचायत होगी। 

भाकियू ने अभी कुछ दिन पहले एसडीएम ममता मालवीय को पांच सूत्री ज्ञापन सौंप समस्या समाधान की मांग की थी। साथ ही निस्तारण न होने धरना प्रदर्शन की चेतावनी दी थी। इसी क्रम में भाकियू ने तहसील गेट पर सोमवार से धरना शुरू किया, जो बुधवार को भी जारी रहा। भाकियू ने आरोप लगाया कि जिम्मेदार अधिकारी समस्या समाधान के स्थान पर मामलों को उलझा रहे हैं। सबसे अहम बात यह है कि तहसील गेट पर लगातार तीन दिन से 24 घंटे धरना चल रहा है। अभी तक शासन प्रशासन का कोई अधिकारी उनसे बातचीत करने नहीं आया है। धरना प्रदर्शन स्थल पर सुधीर बालियान, हरनाम सिंह, हरवीर, लाखन राम वर्मा, विजेंद्र, रानू चौधरी और तमाम कार्यकर्ता मौजूद रहे। वहीं बार एसोसिएशन के तहसील अध्यक्ष हाजी हबीबुल खां ने बताया कि समस्या समाधान न होने की स्थिति में आंदोलन को 31 नवम्बर तक बढ़ा दिया गया है। इस अवधि में वकील न्यायिक कार्य से विरत रहेंगे। 

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.