दिल्ली

उत्तर प्रदेश

पंजाब

बिहार

उत्तराखंड

हरियाणा

झारखण्ड

राजस्थान

जम्मू-कश्मीर

हिमाचल प्रदेश

पश्चिम बंगाल

ओडिशा

महाराष्ट्र

गुजरात

बरेली के तीन सौ बेड अस्पताल में स्टाफ के बीच विवाद में मरीज की मौत, मारपीट में नानचाकू से महिला के सिर में लगी चोट

300 बेड अस्पताल में हुए बवाल के बाद संविदाकर्मी पैरा मेडिकल स्टाफ ने छोड़ा था काम

300 बेड कोविड अस्पताल में एक बार फिर तीमारदार और स्टाफ आमने-सामने आ गए।एक मामले में मारपीट के बाद स्वास्थ्यकर्मी विरोध जाहिर कर रहे थे कि इसी दौरान एक संक्रमित की जान चली गई।इसके बाद जमकर हंगामा हुआ। पुलिस ने एक स्वास्थ्यकर्मी को पीटा।

Samanvay PandeyFri, 07 May 2021 06:46 AM (IST)

बरेली, जेएनएन। 300 बेड कोविड अस्पताल में एक बार फिर तीमारदार और स्टाफ आमने-सामने आ गए।एक मामले में मारपीट के बाद स्वास्थ्यकर्मी विरोध जाहिर कर रहे थे कि इसी दौरान एक संक्रमित की जान चली गई।इसके बाद जमकर हंगामा हुआ। पुलिस ने एक स्वास्थ्यकर्मी को पीटा। जिसके विरोध में कर्मचारियों ने कार्य बहिष्कार कर दिया। देर रात तक मंडलीय अपर निदेशक एवं प्रमुख अधीक्षक डॉ.सुबोध कुमार शर्मा, सीएमओ डॉ.सुधीर कुमार गर्ग व पुलिस बल मामला शांत करने में जुटा रहा।

मामले की शुरुआत आइसीयू से हुई। यहां एक डॉक्टर के स्वजन कोरोना संक्रमण होने के बाद भर्ती थे। चूंकि तीमारदार खुद डॉक्टर था, इसलिए वह स्टाफ नर्स से अपने हिसाब से मरीज का उपचार करने को कह रहा था। वहीं, स्टाफ नर्स डॉक्टर के हिसाब से ट्रीटमेंट में लगा था। इसी बात पर तीमारदार और स्टाफ नर्स में विवाद हो गया। आरोप है कि तीमारदार ने गाली-गलौज करने के बाद तीमारदार को पीटा भी, जिससे उसकी अंगुली में चोट आई।

कुछ दिन पहले डॉक्टर आकांक्षा की पिटाई, फिर एक अन्य डॉक्टर के बाद लगातार स्टाफ से हो रही अभद्रता पर कर्मचारी विरोध स्वरूप एल-2 वार्ड के बाहर आ गए। वहीं, पुलिस व आलाधिकारियों को सूचना दी।हंगामे की सूचना पर पुलिस के साथ ही एडीएसआइसी व नोडल अधिकारी डॉ.सुबोध कुमार शर्मा मौके पर पहुंचे। एसआरएमएस में मरीज को भर्ती कराने की बात कहते हुए स्टाफ को समझाया। नोडल अधिकारी गए ही थे कि जनरल वार्ड में भर्ती फरीदपुर के मैनी गांव निवासी संक्रमित कुंवर पाल सिंह की मौत हो गई। इस पर तीमारदार युवक व युवती भड़क गए।

आरोप था कि स्टाफ ने मरीज को बचाने की कोशिश नहीं की। गाली-गलौज के बीच एक फिजीशियन चर्चित के साथ तीमारदारों की हाथापाई हो गई। इस बीच चर्चित कहीं से एक नानचाकू ले आया और मारपीट में नानचाकूू से महिला तीमारदार के सिर पर चोट लग गई।पुलिस की मौजूदगी में महिला तीमारदार को लगी चोट के बाद पुलिस ने आरोपित फिजीशियन चर्चित को पकड़ लिया। उसे जमकर पीटा, इस बीच पहुंचे स्वास्थ्यकर्मियों ने उसे छुड़वाया।

फिर सभी कर्मचारियों ने पहले तीमारदारों के जरिए रोज होने वाली अभद्रता और फिर पुलिस की एकतरफा कार्रवाई का विरोध शुरू कर पूरी तरह काम बंद कर दिया। अस्पताल प्रभारी डॉ.वागीश वैश्य ने समझाने का प्रयास किया, लेकिन स्टाफ नहीं माना।इधर, दोबारा हंगामा होने के कुछ देर बाद एडीएसआइसी व नोडल अधिकारी डॉ.सुबोध, सीएमओ डॉ.सुधीर गर्ग के साथ मौके पर पहुंचे। बारादरी थाना प्रभारी शांतनु और सीएमएस से पूरा मामला समझा।

इस बीच घायल युवती उमा भी पहुंची और चोट दिखाई। तय हुआ कि शिकायत मिलने पर मारपीट के आरोपित के खिलाफ मुकदमा दर्ज होगा।हंगामे के बाद करीब दो घंटे स्टाफ हड़ताल पर रहा। इस वजह मरीजों को भी काफी परेशानी हुई। इस पर जब एडीएसआइसी डॉ.सुबोध व सीएमओ डॉ.सुधीर गर्ग ने विरोध में बैठे स्टाफ को काफी समझाया, तब कहीं जाकर स्टाफ ने हड़ताल खत्म की।

हालांकि स्टाफ से मारपीट की घटना रोकने के लिए गार्ड, स्वास्थ्यकर्मियों के लिए भोजन-पानी की सही व्यवस्था करने की मांग रखी। शुक्रवार तक स्टाफ की मांग पूरी कराने का आश्वासन दिया।मंडलीय अपर निदेशक एवं प्रमुख अधीक्षक डॉ.सुबोध शर्मा ने बताया कि पीड़ित तीमारदार का मेडिकल कराया गया है। पुलिस ने भी मामले में बयान लिए हैं। काम प्रभावित करने की वजह से एक मरीज की मौत और मारपीट के आरोपित के खिलाफ कार्रवाई होगी।

 

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.