बरेली में दैनिक जागरण के अभियान से जागे अफसर, प्रदूषण रोकने के लिए सड़कों पर करा रहे पानी का छिड़काव, जानिए हकीकत

Air Pollution in Bareilly दीपावली के बाद अचानक शहर में वायु गुणवत्ता सूचकांक (एक्यूआइ) तेजी से बढ़ा है। इसके साथ ही शहर में हो रहे निर्माण कार्यों के उड़ती धूल भी वायू को प्रदूषित कर रही है। इस पर लगाम लगाने के लिए दैनिक जागरण ने अभियान चलाया।

Ravi MishraSun, 21 Nov 2021 06:55 AM (IST)
बरेली में दैनिक जागरण के अभियान से जागे अफसर, प्रदूषण रोकने के लिए सड़कों पर करा रहे पानी का छिड़काव

बरेली, जेएनएन। Air Pollution in Bareilly : दीपावली के बाद अचानक शहर में वायु गुणवत्ता सूचकांक (एक्यूआइ) तेजी से बढ़ा है। इसके साथ ही शहर में हो रहे निर्माण कार्यों के उड़ती धूल भी वायू को प्रदूषित कर रही है। इस पर लगाम लगाने के लिए दैनिक जागरण ने जिम्मेदारों को जगाने के लिए अभियान चलाया है। इस कढ़ी में शहर के अलग-अलग प्रदूषण वाले स्थानों के बारे में बताया गया है। वहां प्रदूषण के कारण और उससे होने वाले नुकसान भी बताए हैं। नेशनल ग्रीन ट्रीब्यूनल ने भी प्रदूषण रोकने के निर्देश दिए हैं। गंभीर हालात की ओर जाते शहर में प्रदूषण कम करने के लिए अधिकारी सक्रिय हुए है। निर्माण स्थलों और शहर की प्रमुख सड़कों पर अब नियमित रूप से पानी का छिड़काव शुरू कर दिया गया है। शनिवार को जागरण की टीम ने चार प्रमुख स्थानों पर पानी छिड़काव को देखा।

स्थान एक - मिनी बाइपास

नगर निगम की एंटी स्माग गन ने करीब तीन किलोमीटर लंबे मिनी बाइपास पर शनिवार सुबह ही पानी का छिड़काव शुरू कर दिया। मशीन से सड़क के दोनों किनारों पर मिट्टी वाली जगह पर पानी छिड़का गया। मशीन से पानी की फुहार किनारे पर पड़ रही थी। इसके साथ ही बीच में लगे डिवाइडर पर भी पौधों पर छिड़काव किया गया। लगातार धूल के कारण पौधे बदरंग हो गए थे।

स्थान दो - पीलीभीत बाइपास

शहामतगंज चौराहे से नगर निगम की मशीन सेटेलाइट की ओर सड़क पर पानी छिड़कती हुई निकली। वहां सड़क किनारे काफी मिट्टी होने से अक्सर धूल उड़ती है। पानी की फुहार ने धूल को बैठा दिया और मिट्टी नहीं उड़ी। वहां से एंटी स्माग गन पीलीभीत बाइपास रोड पर निकली। वहां भी सड़क के दोनों ओर पानी का छिड़काव किया गया।

स्थान तीन - लालफाटक क्रासिंग

लालफाटक रेलवे क्रासिंग पर सेतु निगम पुल का निर्माण कर रहा है। वहां पुल का ढलान बनाने के लिए मिट्टी का काम चल रहा है। दोनों सर्विस रोड से वाहन निकल रहे हैं। इसके साथ ही क्रासिंग की ओर बनाई गई सर्विस रोड भी खराब हो चुकी है। वहां बेहद धूल उड़ रही है। उसे रोकने के लिए सेतु निगम ने पानी का बड़ा टैंकर चलाया। टैंकर पानी छिड़कता हुआ आगे तक निकल गया।

स्थान चार - चौपुला चौराहा

चौपुला चौराहा पर पुल का निर्माण पूरा हो चुका है, लेकिन अभी भी पुल के नीचे धूल-मिट्टी काफी है। वहां से निकलने वाले वाहनों को इससे परेशान होना पड़ता है। इस क्षेत्र का एक्यूआइ भी काफी अधिक पाया गया है। वहां भी सेतु निगम ने टैंकर चलाकर पानी का छिड़काव कराया। टैंकर ने चौराहा से पुल की दोनों सर्विस रोड के साथ ही सिटी स्टेशन रोड पर भी छिड़काव किया।

पर्दा डालने के बाद कम उड़ रही धूल

स्मार्ट सिटी परियोजना के तहत शहर में सड़कों के चौड़ीकरण का काम किया जा रहा है। सड़कें चौड़ी करने के साथ ही किनारे से नाला भी बन रहा है। इसके चलते गहरी खोदाई की जा रही है। मिट्टी सड़क किनारे पड़ने पर उससे भी धूल उड़ रही है। इसे रोकने के लिए अधिकारियों के निर्देश पर अब वहां ठेकेदार ने हरा पर्दा लगाना शुरू कर दिया है। इससे भी धूल थमी है।

शहर में जहां भी निर्माण कार्य हो रहे हैं। वहां प्रदूषण को रोकने का प्रयास किया जा रहा है। निर्माण स्थलों पर हरे पर्दे लगाए गए हैं। इसके साथ ही वहां लगातार पानी का छिड़काव करने के निर्देश अधिकारियों को दिए हैं। - अभिषेक आनंद, नगर आयुक्त

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

Tags
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.