Murder in Bareilly : बरेली में 40 हजार रुपये के लिए बचपन के दोस्त की पत्थर पर पटक कर हत्या

Murder in Bareilly उधार में दिए 40 हजार रुपये वापस करने में आनाकानी करने पर युवक ने बचपन के दोस्त की नृशंस हत्या कर दी।पहले उसे पत्थर पर पटका फिर सीने पर घुटने से वार किए। इसके बाद गला दबाकर मार डाला।

Samanvay PandeyFri, 18 Jun 2021 07:59 AM (IST)
13 जून को हुई वारदात का आरोपित कमरुद्दीन गुरुवार को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया।

बरेली, जेएनएन। Murder in Bareilly : उधार में दिए 40 हजार रुपये वापस करने में आनाकानी करने पर युवक ने बचपन के दोस्त की नृशंस हत्या कर दी।पहले उसे पत्थर पर पटका, फिर सीने पर घुटने से वार किए। इसके बाद गला दबाकर मार डाला। 13 जून को हुई वारदात का आरोपित कमरुद्दीन गुरुवार को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया। थाने में बैठा आरोपित अपने किए पर अफसोस करने के बजाय पूरा घटनाक्रम बयां करता गया।

भोजीपुरा के मनेहरा गांव निवासी सोमपाल शर्मा ठेके पर भवन निर्माण का काम करते थे। 13 जून को वह बरेली जाने की बात कहकर घर से निकले मगर, वापस नहीं लौटे। उसी शाम को परिवार के लोग तलाश करने निकल पड़े। उनके बारे में कोई जानकारी नहीं हुई तो भाई सेवाराम ने भोजीपुरा थाने में गुमशुदगी दर्ज कराई। 16 जून की शाम को बसुधरन ढाल के पास उनका शव मिला। पोस्टमार्टम में गला दबाकर मारने की बात पता चली तो पुलिस ने मोबाइल की काल डिटेल निकलवाई।

टूट गई थी पसलियां, शरीर पर चोट के निशान : गला दबाने से पहले कमरुद्दीन ने सोमपाल को पीटा। पोस्टमार्टम रिपोर्ट में पता चला कि उनके सीने की हड्डी टूटी थी। घुटने के वार से पसलियां टूट गईं, फेफड़ा फट गया। गले पर चोट के निशान मिले हैं।काल डिटेल के जरिये पता चला कि 13 जून को बैकुंठापुर निवासी कमरुद्दीन ने सोमपाल को कई बार फोन किया था। इसी आधार पर पुलिस ने उसे पकड़ लिया। पूछताछ में उसने कहा कि छह माह पहले सोमपाल ने 40 हजार रुपये उधार लिये थे। जरूरत पडऩे पर रुपये वापस मांगे, मगर वापस नहीं किए।

13 जून को कई बार फोन करने पर वह भोजीपुरा पुल के पास मिले तो कहा कि देवरनिया चलो, वहीं रुपये मिलेंगे। वहां शराब पीने के बाद दोबारा भोजीपुरा की ओर ले जाने लगे तो गुस्सा आ गया। उधारी को लेकर तकरार होने लगी। इसी गुस्से में सोमवार को उनकी बाइक से खींचकर पत्थर पर पटक दिया। इसके बाद घुटने से सीने पर वार किया। बेसुध होने पर गला दबाकर हत्या की और शव नाले फेंककर अपनी बाइक से फरार हो गया। इससे पहले सोमपाल का मोबाइल फोन ईंट से कुचलकर झाडिय़ों में फेंक दिया था। हालांकि काल डिटेल से वह फंस गया।

कक्षा चार से आठ तक दोनों पढ़े थे साथ : सोमपाल और कमरुद्दीन दोनों कक्षा चार से कक्षा आठ तक साथ पढ़े। वह दोस्ती बाद में भी जारी रही। दोनों का एक-दूसरे के घर आना जाना था। कामकाज में भी मदद करते थे। इस दोस्ती में 40 हजार रुपये का लेनदेन विवाद की वजह बन गया। कमरुद्दीन के बयान सुनकर सोमपाल के परिवार वाले भी हैरान रह गए।

तलाशने निकले स्वजन तो साथ रहा आरोपित : सोमपाल घर नहीं लौटे तो परिवार के लोगों ने कमरुद्दीन को भी जानकारी दी थी। दोस्ती का हवाला देकर वह तुरंत उनके घर पहुंचा। स्वजन के साथ तलाश कराने में मदद का नाटक करता रहा।सोमपाल की हत्या के बाद कमरुद्दीन ने उनकी बाइक एक घर में छिपा दी थी। दुस्साहस ऐसा था कि एक ओर सोमपाल का शव मिला, दूसरी ओर वह बाइक का सौदा करने में लगा था। कवायद थी कि कबाड़ी को बाइक बेचकर रुपये जुटा लेगा। हालांकि पुलिस कह रही कि बाइक बुधवार को घटनास्थल के पास झाडिय़ों में मिल गई।एसपी देहात राजकुमार अग्रवाल ने बताया कि कमरुद्दीन ने सोमपाल की हत्या की बात स्वीकार की है। उसे जेल भेज दिया गया।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.