मिशन शक्ति महिलाओं को करा रहा उनकी शक्ति का एहसास

मिशन शक्ति महिलाओं को करा रहा उनकी शक्ति का एहसास
Publish Date:Thu, 22 Oct 2020 03:10 AM (IST) Author: Jagran

बरेली, जेएनएन : महिलाओं को सुरक्षा का एहसास कराने के लिए सरकार ने कई व्यवस्थाएं की हैं। हालांकि, जानकारी के अभाव में महिलाओं को उनका फायदा नहीं मिल पाता है। घरेलू हिसा, दहेज उत्पीड़न, बाल अपराध तक के मामले में महिलाएं सही जगह संपर्क नहीं कर पाती हैं। बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ योजना के तहत मिलने वाले आर्थिक लाभ के आवेदन करने के लिए भी परेशानी होती है। दैनिक जागरण के प्रश्न पहर कार्यक्रम के तहत महिलाओं की इन्हीं समस्याओं का समाधान किया महिला कल्याण विभाग बरेली मंडल की उपनिदेशक नीता अहिरवार ने। साथ ही उन्होंने महिला से जुड़े अन्य सवालों के भी जवाब दिए।

सवाल : मेरी एक बेटी है, पति बहुत परेशान करता है। मुझे क्या करना चाहिए? - आभा, मढ़ीनाथ

जवाब : 300 बेड अस्पताल के परिसर में वन स्टाप सेंटर आपकी जैसी महिलाओं के लिए है। तुरंत 181 पर डायल करिए आपके पास मदद पहुंच जाएगी। साथ ही, चाहें तो थाने पर भी शिकायत दे सकती हैं।

सवाल : घरेलू हिसा की शिकार महिला के अधिकार कैसे मिल सकते हैं? - पिकी, गणेशनगर

जवाब : अब पति और ससुराल की संपत्ति पर पीड़िता अपना दावा कर सकती है। यह अधिकार मिल चुका है। आजीविका भत्ता के लिए आर्थिक और कानूनी मदद मिलती है। आजीविका भत्ता कोर्ट से एकमुश्त या महीने के हिसाब से भी देने के आदेश हो सकते हैं। सवाल : मिशन शक्ति कोविड के साथ हमारी मदद कैसे कर सकेगा? - सौम्या, सिविल लाइंस

जवाब : लाकडाउन खत्म हुआ है, लेकिन, कोविड नहीं। मिशन शक्ति के साथ हम लोगों को कोविड के लिए भी जागरूक कर रहे हैं। सवाल : घरेलू हिसा के कितने मामले पांच साल में आए, कितने खारिज हुए? - डा. रमेश, महानगर

जवाब : कोर्ट कई मामलों को खारिज भी करता है लेकिन, इसका डाटा हमारे पास नहीं होता है। फिर भी अगर आपको चाहिए तो हम दिलवाने की कोशिश करेंगे। सवाल: मिशन शक्ति क्या सिर्फ महिलाओं की सुरक्षा तक सीमित है? - सौरभ सिंह, दीनदयालपुरम

जवाब : ऐसा नहीं है। हम लोगों से संपर्क कर रहे हैं। युवक और युवतियों की सक्सेस स्टोरी भी ली जा रही हैं। उन्हें पुरस्कार भी दिए जाएंगे। ट्विटर के जरिये भी लोग अपनी स्टोरी भेज सकते हैं। सवाल : एंटी रोमियो स्क्वाड क्या अभी भी सक्रिय है। हमारी मदद कैसे हो सकती है? - रिकी, डेलापीर

जवाब : थाने अपने अनुसार चिह्नित जगहों पर एंटी रोमियो स्क्वाड तैनात करते हैं। आप 9454403093 पर फोन करके अपने अनुसार भी एंटी रोमियो स्क्वाड की गश्त बढ़वा सकती हैं। मिशन शक्ति के तहत भी आपको इसी सुरक्षा का एहसास कराया जाता है। सवाल : परिवार के अंदर होने वाली हिसा के बारे में मुझे जानकारी दें, मैं कहां शिकायत कर सकती है? - रूचि, सिविल लाइंस

जवाब : जिला स्टाप केंद्र, जिला प्रोबेशन अधिकारी का कार्यालय या समीप के थाने पर शिकायत कर सकती हैं। हेल्पलाइन नंबर 181 को डायल करिए। मदद पहुंच जाएगी। सवाल : कन्या सुमंगला योजना का फायदा कैसे मिलता है? - नंदनी शर्मा, फरीदपुर

जवाब : परिवार में दो बच्चों में एक बेटी होने पर इसका फायदा मिलता है। छह श्रेणियों में पंद्रह हजार रुपये का भुगतान होता है। कलक्ट्रेट में कमरा नंबर 20 में संपर्क किया जा सकता है। सवाल : मिशन शक्ति में क्या निजी संस्थाएं और एनजीओ भी मदद कर सकती हैं? - इंद्रदेव, बिहारीपुर

जवाब : बिल्कुल हो सकता है। आपकी मदद ली जा सकती है। ज्यादा से ज्यादा लोग जुड़ेंगे तभी सुरक्षा का माहौल पैदा होगा।

सवाल : महिला कल्याण विभाग की कई योजनाएं हैं लेकिन, धरातल पर कितना लाभ मिल पाता है?- सुमित कुमार, सुभाषनगर

जवाब : 71 हजार निराश्रित महिलाओं को आर्थिक मदद दी जा रही है। पाक्सो एक्ट, जेजे एक्ट और घरेलू हिसा के मामलों में पीड़ितों को मदद पहुंचाई जाती है। सवाल : लावारिस लोगों के मिलने पर अगर उनकी आइडी भी न हो तो मदद कैसे करें? - चित्रांश सक्सेना, शास्त्रीनगर

जवाब : ऐसे मामले में थाने में संपर्क कर लेना ही बेहतर रहता है। सवाल : महिला हेल्पलाइन के नंबर मिलते नहीं है। क्या कारण हो सकता है? - मोहित टंडन, बिहारीपुर

जवाब : मैं आपसे बात करते हुए नंबर डायल कर रही हूं। मेरे मिल रहे हैं। ये व्यस्त लाइनें होती हैं। कुछ दिन पहले 181 में थोड़ी समस्या आई थी। केंद्रीयकृत व्यवस्था है। फिर भी इसको दिखवा लिया जाएगा। सवाल : घरेलू हिसा एक्ट में मदद के लिए क्या कर सकता हूं? - रोहित सिंह, शांतिविहार

जवाब : कलक्ट्रेट में कमरा नंबर 20 में संपर्क किया जा सकता है। पूरी मदद मिलेगी।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.