दिल्ली

उत्तर प्रदेश

पंजाब

बिहार

उत्तराखंड

हरियाणा

झारखण्ड

राजस्थान

जम्मू-कश्मीर

हिमाचल प्रदेश

पश्चिम बंगाल

ओडिशा

महाराष्ट्र

गुजरात

टीकाकरण से छूटे बच्चों के लिए मिशन इंद्रधनुष, दस हजार से ज्यादा बच्चे चिन्हित

इसके साथ ही जापानी इन्सेफ्लाइटिस (दिमागी बुखार ) का टीकाकरण भी किया जाएगा।

कोविड-19 महामारी के दौरान लॉकडाउन या अन्य किसी कारण से टीकाकरण न करा पाने वाले बच्चों के लिए मंगलवार से सघन मिशन इंद्रधनुष अभियान 3.0 शुरू होगा। जिले में ऐसे करीब 10342 बच्चे चिह्नित किये गए हैं जिनको टीका लगाया जाना है।

Sant ShuklaMon, 22 Feb 2021 06:35 PM (IST)

बरेली,जेएनएन।  कोविड-19 महामारी के दौरान लॉकडाउन या अन्य किसी कारण से टीकाकरण न करा पाने वाले बच्चों के लिए मंगलवार से सघन मिशन इंद्रधनुष अभियान 3.0 शुरू होगा। जिले में ऐसे करीब 10,342 बच्चे चिह्नित किये गए हैं, जिनको टीका लगाया जाना है। इसके साथ ही जापानी इन्सेफ्लाइटिस (दिमागी बुखार ) का टीकाकरण भी किया जाएगा।

जिला प्रतिरक्षण अधिकारी डॉ.आरएन सिंह ने बताया कि नियमित टीकाकरण के साथ मिशन इंद्रधनुष 3.0 आयोजन टीकाकरण कवरेज को 90 प्रतिशत लक्ष्य प्राप्त करना प्रस्तावित है। सघन मिशन इंद्रधनुष अभियान के अंतर्गत टीकाकरण हर ब्लाक में किया जाएगा। इसका पहला चरण 23 फरवरी, एक व दो मार्च को किया जाएगा। दूसरे चरण में 23 मार्च, पांच अप्रैल एवं छह अप्रैल को अभियान चलेगा। मिशन इंद्रधनुष 3.0 में दो साल तक के बच्चों को 11 गंभीर बीमारियों से बचाने के लिए टीकाकरण किया जा रहा है। सघन मिशन इंद्र धनुष अभियान 3.0 अभियान में 1260 सत्रों में 10342 छूटे हुए बच्चों का टीकाकरण करने का लक्ष्य रखा गया है।3598 गर्भवती महिलाओं का टीकाकरण होगा।

11 बीमारी से बचाता है यह टीकाकरण

डॉ. गंगवार ने बताया कि इसअभियान के तहत पोलियो, टीबी, पीलिया, , डिप्थीरिया , कालीखांसी, टेटनेस, निमोनिया, डायरिया, रुबेला, दिमागी बुखार जैसी बीमारियों से रक्षा के लिए टीकाकरण किया जाता है।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.