पीलीभीत में छात्रा से दुष्कर्म के आरोपित सहायक प्राध्यापक ने जानिए पूछताछ में क्या कहा, पुलिस को नहीं हो रहा विश्वास

Assistant professor misdeed girl student in Pilibhit पीलीभीत में छात्रा से दुष्कर्म करने का आरोपित महिला महाविद्यालय के सहायक प्राध्यापक को पुलिस जिला अस्पताल ले गई और वहां उसका चिकित्सकीय परीक्षण कराया। इसके बाद आरोपित का चालान करके न्यायालय में पेश करने की तैयारी है।

Samanvay PandeyPublish:Sat, 27 Nov 2021 01:50 PM (IST) Updated:Sun, 28 Nov 2021 08:04 AM (IST)
पीलीभीत में छात्रा से दुष्कर्म के आरोपित सहायक प्राध्यापक ने जानिए पूछताछ में क्या कहा, पुलिस को नहीं हो रहा विश्वास
पीलीभीत में छात्रा से दुष्कर्म के आरोपित सहायक प्राध्यापक ने जानिए पूछताछ में क्या कहा, पुलिस को नहीं हो रहा विश्वास

बरेली, जेएनएन। Assistant professor misdeed girl student in Pilibhit : पीलीभीत में छात्रा से दुष्कर्म करने का आरोपित महिला महाविद्यालय के सहायक प्राध्यापक को पुलिस जिला अस्पताल ले गई और वहां उसका चिकित्सकीय परीक्षण कराया। इसके बाद आरोपित का चालान करके न्यायालय में पेश करने की तैयारी है।आरोपित सहायक प्राध्यापक को पुलिस ने शुक्रवार की शाम शहर में ईदगाह क्रासिंग के निकट गिरफ्तार किया था। उसे सदर कोतवाली में ले जाकर घटना से संबंधित विभिन्न बिंदुओं पर पुलिस अधिकारियों ने कई घंटे तक पूछताछ की।

शनिवार को पूर्वाह्न पुलिस टीम आरोपित सहायक प्राध्यापक को लेकर जिला अस्पताल पहुंची। वहां चिकित्सकों ने आरोपित का चिकित्सकीय परीक्षण किया। सीओ सिटी सुनील दत्त शर्मा के अनुसार आरोपित का मेडिकल परीक्षण करा लिया गया है। अब चालान करके उसे न्यायालय में पेश किया जाएगा। सीओ सिटी के अनुसार पूछताछ के दौरान आरोपित लगातार खुद को निर्दोष बताता रहा। उसने यह भी तर्क किया कि इससे पहले वह जहां जहां महाविद्यालयों में कार्यरत रहा है, उन स्थानों पर उसके चाल चलन के बारे में जांच करा ली जाए।

छात्रा का कराया गया मेडिकल परीक्षण : दुष्कर्म पीड़ित छात्रा से मिलने प्रशिक्षु सीओ ज्योति यादव व महिला थाना की प्रभारी रीना सिंह शुक्रवार को उसके घर पहुंचीं। छात्रा से बातचीत करने के बाद उसका मेडिकल परीक्षण कराने के लिए जिला अस्पताल ले जाया गया। सदर कोतवाली में वरिष्ठ उप निरीक्षक, विवेचक सदाकत अली के अनुसार पीड़िता का मेडिकल परीक्षण कराया गया। एक्सरे नहीं हो पाया है। अब पीड़िता का शनिवार को एक्सरे कराया जाएगा। इसके उपरांत न्यायालय में मजिस्ट्रेट के समक्ष उसके बयान कलमबंद कराए जाएंगे।