बरेली के मेडिकल कालेज में लोहे का पंच मारकर एमबीबीएस छात्र के दांत तोड़े, एडीजी को ट्वीट करने के बाद दर्ज हुई रिपोर्ट

Assault in Medical College मेडिकल कालेज में एमबीबीएस की पढ़ाई कर रहे छात्रों में किसी बात को लेकर झगड़ा हो गया। मारपीट में एक छात्र ने दूसरे को लोहे का पंच मारकर उसके दांत तोड़ दिए। मामला थाने तक पहुंचने पर घायल छात्र काा पुलिस ने मेडिकल कराया।

Samanvay PandeyPublish:Wed, 01 Dec 2021 07:51 AM (IST) Updated:Wed, 01 Dec 2021 07:51 AM (IST)
बरेली के मेडिकल कालेज में लोहे का पंच मारकर एमबीबीएस छात्र के दांत तोड़े, एडीजी को ट्वीट करने के बाद दर्ज हुई रिपोर्ट
बरेली के मेडिकल कालेज में लोहे का पंच मारकर एमबीबीएस छात्र के दांत तोड़े, एडीजी को ट्वीट करने के बाद दर्ज हुई रिपोर्ट

बरेली, जेएनएन। Assault in Medical College : मेडिकल कालेज में एमबीबीएस की पढ़ाई कर रहे छात्रों में किसी बात को लेकर झगड़ा हो गया। मारपीट में एक छात्र ने दूसरे को लोहे का पंच मारकर उसके दांत तोड़ दिए। मामला थाने तक पहुंचने पर घायल छात्र काा पुलिस ने मेडिकल कराया लेकिन रिपोर्ट दर्ज करने के बजाय समझौता कराने में लगी रही। बाद में एडीजी को ट्वीट करके मामले की जानकारी देने के बाद पुलिस ने रिपोर्ट दर्ज की।

घटना बरेली के फतेहगंज पश्चिमी के राजश्री मेडिकल कालेज का है। दिल्ली के जाफराबाद में रहने वाले सद्दाम हुसैन राजश्री मेडिकल कॉलेज में एमबीबीएस सेकेंड ईयर की पढ़ाई कर रहे हैं। पुलिस को दी तहरीर में सद्दाम ने कहा है कि मेडिकल कालेज में एडमिशन लेने के बाद से ही उनका सहपाठी कृष्ण यादव उन्हें परेशान कर रहा था। सोमवार शाम करीब चार बजे वह कैंपस में खड़े थे। इसी बीच वहां पहुंचे कृष्ण ने उनके साथ गालीगलौज शुरू कर दी। सद्दाम के मुताबिक उन्होंने विरोध किया तो कृष्ण ने लोहे का पंच उनके मुंह पर मारकर उनके दो दांत तोड़ दिए। घायल होकर जमीन पर गिरने के बाद भी वह उन्हें लात-घूंसों से पीटता रहा। दूसरे छात्रों के बीचबचाव करने के बाद कृष्ण उन्हें जान से मारने की धमकी देते चला गया। 

पुलिस ने तहरीर देने के बाद घायल सद्दाम का जिला अस्पताल में मेडिकल कराया। मंगलवार शाम तक पुलिस ने उनकी तहरीर पर रिपोर्ट दर्ज नहीं की। लिहाजा सद्दाम ने एडीजी को ट्वीट करके कार्रवाई की मांग की और जिला अस्पताल से ही अपने घर दिल्ली चले गए। एडीजी को ट्वीट किए जाने के बाद पुलिस ने मंगलवार शाम को रिपोर्ट दर्ज की। समझौता होने के इंतजार में पुलिस मंगलवार शाम तक मामले को टालती रही। पीड़ित के एडीजी को ट्वीट करने के बाद रिपोर्ट दर्ज की गई।

थाना प्रभारी राहुल सिंह के मुताबिक घायल छात्र का मेडिकल तहरीर मिलते ही करा दिया गया था लेकिन कालेज प्रबंधन दोनों के बीच समझौता कराने की कोशिश कर रहा था। इसी वजह से रिपोर्ट दर्ज नहीं की गई थी। बताया जाता है कि इस बीच घायल छात्र पर भी समझौता करने का दबाव डाला गया। इसी कारण वह अपने घर लौट गया।