शाहजहांपुर में पिलर धंसने से टूटा 11 करोड़ से बना कोलाघाट पुल, दिल्ली-लखनऊ मार्ग पर यातायात बाधित

Kolaghat Bridge Collapsed in Shahjahanpur जलालाबाद से मिर्जापुर को जोड़ने वाले रामगंगा नदी पर बना कोलघाट का पुल सोमवार सुबह गिर गया। जिससे इस मार्ग का आवागमन पूरी तरह से बंद हो गया। शाहजहांपुर-दिल्ली मार्ग पर 2002 में करीब 11 करोड़ से कोलाघाट पुल बनाने को मंजूरी मिली थी।

Ravi MishraMon, 29 Nov 2021 09:42 AM (IST)
शाहजहांपुर में टला बड़ा हादसा, रामगंगा नदी पर बना कोलाघाट पुल गिरा, बंद हुआ आवागमन

शाहजहांपुर, जेएनएन। Kolaghat Bridge Collapsed in Shahjahanpur : शाहजहांपुर-दिल्ली राज्यमार्ग पर सोमवार सुबह बड़ा हादसा टल गया। रामगंगा स्थित कोलाघाट पुल पिलर धंसने के साथ ही गिर गया। उस पर से गुजर रही कार भी नीचे आ गई। हालांकि कोई हताहत नहीं हुआ। डीएम इंद्र विक्रम सिंह ने सेतु निगम व लोक निर्माण विभाग के अधिकारियों के साथ निरीक्षण किया। उन्होंने पहले से जांच कर रही टीम से इस मामले में भी रिपोर्ट तलब की है। सेतु निगम के अधिकारियों ने भी जांच के निर्देश दिए हैं। वैकल्पिक व्यवस्था के तहत पैंटून पुल बनाने का एस्टीमेट शासन को भेजा जा रहा है। अभी तक माना जा रहा है कि जमीन के स्टेटा में परिवर्तन आने से पिलर धंस गया।

नीचे आ गया करीब 13 वर्ष पहले बना पुल

जलालाबाद से मिर्जापुर को जोडऩे के लिए रामगंगा नदी पर करीब 13 वर्ष पहले बना सड़क का पुल सोमवार तड़के ढह गया। वर्ष 2008 में कालाघाट पुल को 11 करोड़ रुपये की लागत से बनाया गया था। सेतु निगम ने इस पुल को बनाकर लोक निर्माण विभाग को हैंडओवर किया था। बीते दो वर्ष से इसकी हालत जर्जर होने लगी तो मरम्मत का काम भी कराया गया। अचानक पुल का आधा हिस्सा गिर गया। इस दौरान यातायात न होने से बड़ा नुकसान टला गया। वहां पर सिर्फ एक कार हल्की सी क्षतिग्रस्त हुई है।

करीब 11 करोड़ से रामगंगा नदी पर बना था कोलाघाट पुल

शाहजहांपुर-दिल्ली मार्ग पर 2002 में करीब 11 करोड़ से रामगंगा नदी पर कोलाघाट पुल बनाने को मंजूरी मिली थी। वर्ष 2008 में इस पुल पर आवागमन भी शुरू हो गया था। करीब दो वर्ष से इस पुल पर कई जगह गड्ढे हो गए थे। जिस वजह से लोगों को दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा था। कई बार स्थानीय ग्रामीणों ने इसको लेकर अधिकारियों को भी अवगत कराया लेकिन कोई ध्यान नहीं दिया गया।

प्रतिदिन गुजरते है हजाराें की संख्या में वाहन 

शाहजहांपुर को जलालाबाद होते हुए कलान व मिर्जापुर के साथ ही फर्रुखाबाद, बदायूं से जोड़्ने वाले इस मार्ग पर प्रतिदिन हजारों की संख्या में वाहन गुजरते हैं। सुबह करीब तीन बजे जलालाबाद से मिर्जापुर के बीच स्थित पुल का पिलर नंबर आठ अचानक जमीन में धंसने के साथ ही पूरी तरह जमीन में समा गया। उसके साथ दो स्लैब भी नीचे आ गए। मुरादाबाद के मुहल्ला कुंदरकी निवासी नाजिम अपने घायल रिश्तेदार शाकिर को लेकर प्रयागराज से मुरादाबाद जा रहे थे। जिस समय पिलर धंसना शुरू हुआ उनकी कार भी उसी पर थी। स्लैब के साथ उनकी कार भी नीचे आ गई।

हालांकि उसमें सवार सभी पांच लोग सुरक्षित बच गए। सूचना पर पुलिस पहुंची। पुल के दोनों ओर आवागमन रोकने के साथ ही यातायात को डायवर्ट कर दिया गया है। सेतु निगम के डीपीएम विजेंद्र मौर्य ने लोक निर्माण विभाग के अधिकारियों मुआयना किया। डीएम इंद्र विक्रम भी वहां पहुंचकर जानकारी ली।

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

Tags
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.