बरेली में आबकारी विभाग फंसा तो फेंकी डीएम के पाले में गेंद, बोला- डीएम के आदेश पर बहाल हुए शराब कारोबारियों के लाइसेंस

Licenses of Liquor Traders Restored in Bareilly सहारनपुर की टपरी डिस्टलरी में करोड़ों की टैक्स चोरी पकड़े जाने के बाद सस्पेंड किये गए डाउन टाउन और तमाशा बार के लाइसेंस आबकारी विभाग ने बहाल कर दिये। हैरानी वाली बात यह है।

Ravi MishraSun, 28 Nov 2021 12:45 PM (IST)
बरेली में आबकारी विभाग फंसा तो फेंकी डीएम के पाले में गेंद

बरेली, जेएनएन। Licenses of Liquor Traders Restored in Bareilly : सहारनपुर की टपरी डिस्टलरी में करोड़ों की टैक्स चोरी पकड़े जाने के बाद सस्पेंड किये गए डाउन टाउन और तमाशा बार के लाइसेंस आबकारी विभाग ने बहाल कर दिये। हैरानी वाली बात यह है कि जांच कर रही एसआइटी ने मामले में चार्जशीट दाखिल कर दी है। लाइसेंस बहाली पर सवाल खड़े हुए तो आबकारी विभाग ने सफाई पेश करते हुए डीएम के आदेश का हवाला दिया। कहा कि डीएम के आदेश पर लाइसेंस बहाल कर सील खोल दी गई है। जानकारी के बाद पूरे मामले में आबकारी कमिश्नर उत्तरप्रदेश सैंथिल पांडियन सी ने जिला आबकारी अधिकारी से रिपोर्ट तलब की है।

एसटीएफ ने मार्च 2021 में सहारनपुर की टपरी डिस्टलरी में करोड़ों रुपये की टैक्स चाेरी पकड़ी थी। टैक्स चोरी पकड़े जाने के बाद एसटीएफ ने डिस्टलरी को सील कर दिया था। जांच में प्रदेश के कई शहरों कानपुर, बरेली, बदायूं के भी शराब कारोबारी टैक्स चोरी के मामले में फंसे। जांच में सामने आया कि एक ही बार कोड पर डिस्टलरी से कई ट्रक शराब निकालकर बाजार में खपा दी गई। सील डिस्टलरी से ही बरेली में एक ट्रक शराब पहुंची जिसे एसओजी और बारादरी पुलिस ने पकड़ ली। पता चला कि शराब कारोबारी मनोज जायसवाल द्वारा शराब मंगाई गई थी।

मामले में बारादरी थाने में मुकदमा दर्ज हुआ। बाद में शासन ने पूरे प्रकरण की जांच एसआइटी को सौंप दी। जिसके बाद मामले में एसआइटी ने माडल टाउन के रहने वाले डिस्टलरी मालिक प्रणव अनेजा, अजय जायसवाल, मनोज जायसवाल समेत 18 लोगों के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज की थी। शासन के आदेश के बाद तत्कालीन डीएम नितीश कुमार ने मनोज जायसवाल के स्टेडियम रोड स्थित डाउन डाउन व डीडीपुरम राेड स्थित तमाशा बार का लाइसेंस निरस्त कर दिया था। इसी प्रकरण में अजय जायसवाल का होलसेल समेत कई अन्य लाइसेंस भी निलंबित कर दिये गए थे।

आबकारी विभाग ने पेश की सफाई

आबकारी विभाग ने मामले में सफाई पेश करते हुए कहा कि नोटिस का शराब कारोबारी द्वारा संतोषजनक जवाब दिया गया था। इसी के बाद डीएम के आदेश पर शराब कारोबारी मनोज जायसवाल के सस्पेंड दोनों लाइसेंस बहाल कर दिये गए। जानकारी के मुताबिक, 15 नवंबर को आबकारी विभाग ने शराब कारोबारी के दोनों बार की सील खोली।

सहारनपुर टैक्स चोरी प्रकरण में मनोज जायसवाल के लाइसेंस निरस्त कर नोटिस जारी किया गया था। नोटिस का संतोषजनक जवाब मिलने पर डीएम के आदेश के बाद उनके दोनों लाइसेंस बहाल किये गए। मामले में एसआइटी जांच कर रही है। कार्रवाई संबंधी यदि दोबारा निर्देश मिलते हैं आगे कार्रवाई सुनिश्चित की जाएगी। - देव नारायण दूबे, जिला आबकारी अधिकारी

पूरे मामले में जिला आबकारी अधिकारी से रिपोर्ट तलब की गई है। रिपोर्ट के आधार पर आगे की कार्रवाई की जाएगी। देखा जाएगा कि किस आधार पर शराब कारोबारी के लाइसेंस बहाल किये गए हैं।

- सैंथिल पांडियन सी, कमिश्नर आबकारी, उत्तरप्रदेश

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

Tags
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.