सपा सरकार में मेधावियों के लिए आए लैपटाप बंद हैं एक कमरे में, इन लैपटाप का क्या होगा कोई नहीं जानता

Samajwadi Party Goverment Laptop Distribution Scheme समाजवादी पार्टी की अखिलेश सरकार में तत्कालीन छात्र-छात्राओं को वितरित करने के लिए आए 73 लैपटाप नहीं बांटे जा सके। वर्तमान सरकार ने लैपटाप के वितरण पर रोक लगा दी तो जीआइसी के कक्ष में रखकर कैद कर दिया गया।

Samanvay PandeySat, 04 Dec 2021 02:26 PM (IST)
सपा सरकार में वितरित होने के लिए आए 73 लैपटाप अब भी बचे हैं।

बरेली, (पीयूष दुबे)। Samajwadi Party Goverment Laptop Distribution Scheme : समाजवादी पार्टी की अखिलेश सरकार में तत्कालीन छात्र-छात्राओं को वितरित करने के लिए आए 73 लैपटाप नहीं बांटे जा सके। वर्तमान राज्य सरकार ने उन लैपटाप के वितरण पर रोक लगा दी तो इन्हें राजकीय इंटर कालेज (जीआइसी) के एक कक्ष में रखकर कैद कर दिया गया। अनिश्चितकाल के लिए कैद से ये लैपटाप कब आजाद होंगे, इसका जवाब फिलहाल किसी के पास नहीं है।

प्रदेश में यूपी फ्री स्मार्ट फोन और टैबलेट योजना 2021 का इंतजार कर रहे युवाओं के सपने पूरे होने वाले हैं। ऐसी खबर है कि योगी सरकार दिसंबर के दूसरे सप्ताह से वितरण शुरू करा देगी। इस अच्छी खबर से जहां तमाम छात्र-छात्राओं में खुशी का माहौल है, वहीं उन छात्र-छात्राओं के मन की टीस फिर से उभर आई, जिन्हें सपा की अखिलेश सरकार में लैपटाप दिए जाने थे। ऐसे में सवाल उठा कि आखिर वो लैपटॉप हैं कहां?

इस सवाल का जवाब खोजा तो पता चला कि समाजवादी पार्टी की सरकार में वितरित होने के लिए आए लैपटाप में 73 लैपटॉप बाकी बचे हैं, जिन्हें राजकीय इंटर कॉलेज के एक कक्ष में सुरक्षित रखकर कमरे को सील कर दिया है, करीब पांच साल गुजरने के बाद भी वे लैपटाप एक में धूल फांक रहे हैं, जबकि बच्चों को लैपटाप का इंतजार अब भी है, जिसके खत्म होने का आसार फिलहाल नजर नहीं आ रहे हैं, क्योंकि लैपटाप वितरण कब किया जाएगा, इस सवाल के पूछे जाने पर विभागीय अफसर खामोशी साध लेते हैं।

सुरक्षा के लगाए गए हैं दो सिपाहीः राजकीय इंटर कालेज के जिस कक्ष में लैपटाप रखे गए हैं, वहां पर सुरक्षा के लिहाज से दो सिपाहियों की ड्यूटी लगाई गई है। वे एक-एक करके ड्यूटी देते हैं। इस लिहाज से देखा जाए तो प्रतिमाह हजारों रुपये लैपटाप की सुरक्षा में खर्च किए जा रहे हैं।

विंडो-7 के हैं लैपटापः सपा सरकार में वितरित होने के लिए आए लैपटाप में विंडो-7 थी। उन लैपटाप में दो जीबी रैम और 500 जीबी हार्डडिस्क था। उस समय के लिहाज से लैपटाप बच्चों के लिए काफी मददगार साबित होते। जिला विद्यालय निरीक्षक डा. मुकेश कुमार सिंह ने बताया कि पूर्ववर्ती सरकार में वितरित करने के लिए आए लैपटॉप को राजकीय इंटर कॉलेज के एक कक्ष में सुरक्षित तरीके से रखा गया है। उसकी पूर्ण सुरक्षा कराई जा रही है।

एमजेपी रुहेलखंड विश्वविद्यालय के आइटी विभागाध्यक्ष एसएस बेदी ने बताया कि लैपटॉप में अगर नमी नहीं पहुंची होगी तो उसमें कोई खराबी नहीं होगी। अब उन लैपटाप के विंडो को अपडेट करना होगा। इसके बाद ही प्रयोग में लाया जा सकता है। समाजवादी पार्टी के बरेली जिलाध्यक्ष अगम मौर्य ने बताया कि समाजवादी पार्टी ने युवाओं के लिए लैपटाप वितरण योजना शुरू की थी, जिससे रोजगार में उनको सहायता मिले लेकिन भाजपा ने बदले की भावना से और योजनाओं के साथ ही इस योजना को भी बंद कर दिया। सपा सरकार में जो लैपटाप वितरित होने थे, उनका पता ही नहीं चला है कि अब वो कहां हैं।

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

Tags
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.