जानिए बरेली में क्यों नही लग पा रही दूसरे शहरों के वाहनों में हाईसिक्योरिटी नंबर प्लेट

जानिए बरेली में क्यों नही लग पा रही दूसरे शहरों के वाहनों में हाईसिक्योरिटी नंबर प्लेट

High Security Number Plate News बरेली में ऐसे लोगों की संख्या एक हजार से अधिक है। जो हाई सिक्योरिटी नंबर प्लेट (एचएसआरपी) लगवाने के लिए परेशान हैं। सबसे ज्यादा परेशानी उन लोगों को हो रही है। जिनके वाहन दूसरे प्रदेशों में पंजीकृत है।

Ravi MishraTue, 02 Mar 2021 02:20 PM (IST)

बरेली, जेएनएन। High Security Number Plate News : बरेली में ऐसे लोगों की संख्या एक हजार से अधिक है। जो हाई सिक्योरिटी नंबर प्लेट (एचएसआरपी) लगवाने के लिए परेशान हैं। सबसे ज्यादा परेशानी उन लोगों को हो रही है। जिनके वाहन दूसरे प्रदेशों में पंजीकृत है। इन लोगों को एचएसआरपी के लिए भटकना पड़ रहा है। इससे नाराज लोग परिवहन विभाग में शिकायत कर रहे हैं। बता दें कि वाहनों में हाई सिक्योरिटी नंबर प्लेट सरकार ने अनिवार्य कर दी है।

15 अप्रैल की समय सीमा होने की वजह से डीलरों के यहां आवेदकों का दबाव बढ़ गया है। कुछ कंपनियों ऐसी हैं, जिनके वाहन सबसे ज्यादा पसंद किए जाते हैं। इन कंपनियों के डीलरों के यहां रजिस्ट्रेशन प्लेट के लिए दो से तीन माह का समय दिया जा रहा है। दूसरे प्रदेशों में रजिस्टर्ड वाहन के स्वामियों की मांग पर स्थानीय डीलर विचार तक नहीं कर रहे हैं। उनकी रसीद भी नहीं कट रही है। परिवहन विभाग के कार्यालय से भी आवेदकों को संतोषजनक जवाब नहीं मिल रहा है।

राजनगर में रहने वाले चंदन यादव ने दो पहिया मोटर साइकिल हरियाणा से खरीदी थी। वर्तमान में बरेली में कार्यरत होने के कारण लोकल स्तर पर हाई सिक्योरिटी नंबर प्लेट लगवाने के लिए कई बार ऑनलाइन आवेदन के प्रयास के साथ ही मोटर साइकिल डीलर्स से भी संपर्क किया, लेकिन समस्या का निराकरण नहीं हो सका।

सिविल लाइंस निवासी प्रमेंद्र सक्सेना ने बताया कि वह राजस्थान में नौकरी करते थे। जहां उन्होंने एक मोटरसाइकिल खरीदी थी। वर्तमान में वह बरेली में एक प्राइवेट कंपनी में नौकरी कर रहे हैं। एचएसआरपी अनिवार्य किए जाने के बाद कई बार ऑनलाइन आवेदन व इधर-उधर संपर्क किया, लेकिन अभी तक वाहन में हाई सिक्योरिटी नंबर प्लेट नहीं लग सकी है।

 शासन को पत्र भेजकर लोगों की परेशानी से अवगत कराया गया है। जैसे ही कोई आदेश मिलेगा उसका पालन कराया जाएगा। लोगों को भी किसी अन्य जिले या प्रदेश में जाने पर वाहन का भी ट्रांसफर करा लेना चाहिए। - आरपी सिंह, एआरटीओ प्रशासन 

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.