बरेली में 108 नंबर एम्‍बुलेंस में गूंजी किलकारिया, दो बच्‍चों का हुआ जन्‍म, जच्‍चा बच्‍चा स्‍वस्‍थ

Children Birth on 108 Ambulance प्रदेश सरकार की ओर से संचालित 108 व 102 एम्‍बुलेंस सेवाएं लगातार लोगों की जान बचाने में अहम भूमिका निभा रही हैं। 108 एम्‍बुलेंस कर्मियों की कुशलता ने एक बार फिर दो एम्‍बुलेंसों में प्रसव कराकर जच्‍चा बच्‍चा की जान बचाई है।

Ravi MishraTue, 23 Nov 2021 03:51 PM (IST)
बरेली में 108 नंबर एम्‍बुलेंस में गूंजी किलकारिया, दो बच्‍चों का हुआ जन्‍म, जच्‍चा बच्‍चा स्‍वस्‍थ

बरेली, जेएनएन। Children Birth on 108 Ambulance: प्रदेश सरकार की ओर से संचालित 108 व 102 एम्‍बुलेंस सेवाएं लगातार लोगों की जान बचाने में अहम भूमिका निभा रही हैं। 108 एम्‍बुलेंस कर्मियों की कुशलता ने एक बार फिर दो एम्‍बुलेंसों में प्रसव कराकर जच्‍चा बच्‍चा की जान बचाई है। प्रसव के साथ उन्‍हें अस्‍पताल में भर्ती कराया गया जहां दोनों बच्‍चे व उनकी माताएं स्‍वस्‍थ हैं।

108 सेवा के इमरजेंसी मेडिकल टेक्‍नीशियन (ईएमटी) यशपाल सिंह और पायलट विकेश कुमार सिंह ने बताया कि रविवार की देर रात खेजरपुर गांव से फरीन बीबी पत्‍नी एहसान अली को अस्‍पताल ले जाने के लिए कॉल आई थी। फोन पर ही बताया गया था कि मामला सीरियस है। बिना समय गवाएं एम्‍बुलेंस लेकर पहुंच गए। पेशेंट को एम्‍बुलेंस में लेकर निकले और रास्‍ते में ही हालत गंभीर हो गई। जिसके कारण एम्‍बुलेंस में ही कराने के अलावा कोई और रास्‍ता नहीं था। ईएमटी यशपाल ने अपनी कुशलता का परिचय देते हुए एम्बुलेंस में सुरक्षित प्रसव कराया। इसके बाद जच्‍चा बच्‍चा दोनों को सीएचसी नवाबगंज अस्‍पताल में भर्ती कराया गया। जहां पर दोनों ही स्‍वस्‍थ हैं।

इसके अलावा दूसरे केस में पायलट अमित और ईएमटी अमित ने गुड़वारा गांव की ज्‍योति (21) पत्‍नी राकेश का 108 एम्‍बुलेंस में प्रसव कराया। इसके बाद जच्‍चा बच्‍चा को बहेरी सीएचसी में भर्ती करा दिया गया। जच्‍चा बच्‍चा दोनों स्‍वस्‍थ हैं।

108 एवं 102 एम्‍बुलेंस सेवा के प्रोग्राम मैनेजर सुमित कुमार ने बताया कि 108 एम्‍बुलेंस सेवा प्रदेश सरकार की ओर से सभी लोगों के लिए फ्री हैं। किसी भी इमरजेंसी में सरकारी अस्‍पताल जाने के लिए 24 घंटे किसी भी समय कॉल की जा सकती है। इसके अलावा 102 सेवा गर्भवती महिलाओं और 2 वर्ष तक के बच्‍चों को सरकारी अस्‍पताल ले जाती है एवं इलाज के बाद वापस घर भी छोड़ती है। यह सेवा भी पूरी तरह से नि:शुल्‍क है।

सुमित कुमार ने बताया कि गर्भवती महिला को प्रसव के लिए एम्‍बुलेंस से ही ले जाना चाहिए। एम्‍बुलेंस कर्मचारी प्रसव कराने या अन्‍य इमरजेंसी के लिए प्रशिक्षित होते हैं एवं एम्‍बुलेंस में डिलीवरी किट भी उपलब्‍ध रहती है। 

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

Tags
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.