बरेली में अधीक्षण अभियंता ग्रामीण की जेई पर मेहरबानी देख दंग हुए कर्मचारी, रिश्वतखोरी के मामले में चार्जशीट दाखिल होने के बाद

Fariedpur Sub Station फरीदपुर बिजली उपकेंद्र के अवर अभियंता (जेई) पर घूसखोरी के लगे आरोपों में दो सदस्यीय जांच टीम ने आरोप पत्र दाखिल कर दिया है। इसके बाद अधीक्षण अभियंता ग्रामीण ने आरोपित अवर अभियंता उन्हें सशर्त बहाल करते हुए फतेहगंज पूर्वी सब स्टेशन पर तैनात किया है।

Ravi MishraTue, 21 Sep 2021 01:58 PM (IST)
बरेली में 20 दिन बाद बहाल हुए फरीदपुर सब स्टेशन के जेई , फतेहगंज पूर्वी तैनात

बरेली, जेएनएन।  Fariedpur Sub Station : फरीदपुर बिजली उपकेंद्र के अवर अभियंता (जेई) पर घूसखोरी के लगे आरोपों में दो सदस्यीय जांच टीम ने आरोप पत्र दाखिल कर दिया है। इसके बाद अधीक्षण अभियंता ग्रामीण ने आरोपित अवर अभियंता उन्हें सशर्त बहाल करते हुए फतेहगंज पूर्वी सब स्टेशन पर तैनात किया है। रिपोर्ट के आधार पर अंतिम फैसला लिया जाएगा।

दरअसल, पिछले माह फरीदपुर बिजलीघर पर तैनात अवर अभियंता अश्विनी वर्मा और लाइनमैन के बीच हुई बातचीत का आडियो विभागीय ग्रुपों पर वायरल हो गया था। इसमें अवर अभियंता नए कनेक्शन के बदले ली जाने वाली ऊपरी कमाई में अपना हिस्सा (500 रुपये) भी होने की बात कह रहे थे। मामला अधीक्षण अभियंता (ग्रामीण) तक पहुंचा।

अवर अभियंता अश्विनी शर्मा के प्राथमिक बयान के बाद सभी को प्रथम दृष्टया दोषी माना गया। जिसके बाद अवर अभियंता को निलंबित कर अधिशासी अभियंता द्वितीय के कार्यालय से संबद्ध किया गया। इसके साथ ही तत्काल दोनों निविदाकर्मियों कंप्यूटर आपरेटर शिवम और लाइनमैन सोबरन सिंह को नौकरी से हटा दिया गया।

अधिशासी अभियंता स्तर पर दो अधिकारियों की टीम बनाकर मामले की जांच शुरू कराई। टीम ने आरोप पत्र दे दिया है। अब नियमानुसार जेई से अंतिम जवाब लिया जाएगा। वहीं करीब 20 दिन बाद अब अवर अभियंता को सशर्त बहाल किया गया है।

पीलीभीत में बिजली कटौती से परेशान किसान

हफ्तों से बरसात नहीं होने से उमसभरी गर्मी से लोग बेहाल हो रहे हैं। वहीं पर्याप्त बिजली नहीं मिलने से धान व गन्ने की फसलों पर विपरीत प्रभाव पड़ रहा है। जिले की कलीनगर और पूरनपर तहसील क्षेत्र में नहरों का जाल होने के बावजूद हजारों किसानों को सिंचाई की सुविधा का लाभ नहीं मिलता है। अनेक किसान बिजली से चलने वाले नलकूपों से ही फसल की सिंचाई किया करते हैं।

सितंबर महीने में नाममात्र बरसात होने से पड रही गर्मी से लोग परेशान रहते हैं। वहीं बिजली आपूर्ति में सुधार नहीं होने के कारण फसलों की सिंचाई को पर समय पानी का संकट रहता है। क्षेत्र के मंगल सिंह, बलजीत सिंह, अब्दुल नफीस खां आदि ने बिजली कटौती मे सुधार की मांग की है। माधोटांडा विद्युत सब-स्टेशन के अवर अभियंता पुष्पेन्द्र ने बताया कि जितनी आपूर्ति कंट्रोल से मिलती है, वही उपभोक्ताओं को दी जा रही है।

फरीदपुर में तैनाती के दौरान जिस अवर अभियंता पर रिश्वत संबंधी आडियो वायरल का आरोपित माना गया था, उन्हें फिलहाल नियमानुसार सशर्त बहाल कर फतेहगंज पूर्वी में नई तैनाती दी गई है। जांच पूरी होने के बाद रिपोर्ट के आधार पर आगे की कार्रवाई होगी।

- अशोक कुमार चौरसिया, अधीक्षण अभियंता (ग्रामीण), बरेली

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.