Indo-Nepal Border : नेपाल में भारतीय की हत्या के बाद बार्डर पहुंचे एडीजी कानून व्यवस्था, एसएसबी और पुलिस सतर्क

Indo-Nepal Border : नेपाल में भारतीय की हत्या के बाद एसएसबी और पुलिस सतर्क, बार्डर पहुंचे डीएम, एसपी

शुक्रवार को अपर पुलिस महानिदेशक (कानून व्यवस्था) बार्डर पर पहुंचे। उन्होंने अधिकारियों से हालात की जानकारी ली। बार्डर के एरिया के लोगों में युवक की हत्या पर गम और नेपाल पुलिस के प्रति गुस्सा है। बार्डर पर तैनात एसएसबी के जवान सहित पुलिस को भी अलर्ट कर दिया गया है।

Ravi MishraFri, 05 Mar 2021 11:29 AM (IST)

बरेली, जेएनएन। नेपाल में पुलिस की फायरिंग में एक भारतीय युवक की मौत तथा दूसरे के घायल होने की घटना के बाद जहां डीएम, एसपी रात से ही बार्डर क्षेत्र में डेरा जमाए हैं। वहींं घायल को स्तरीय उपचार के लिए लखनऊ रेफर किया गया है। शुक्रवार को अपर पुलिस महानिदेशक (कानून व्यवस्था) बार्डर पर पहुंचे। उन्होंने अधिकारियों से हालात की जानकारी ली। बार्डर के एरिया के लोगों में युवक की हत्या पर गम और नेपाल पुलिस के प्रति गुस्सा है। हालांकि मामले में बार्डर पर तैनात एसएसबी के जवान सहित पुलिस को भी अलर्ट कर दिया गया है। इस मामले में नेपाल की पुलिस पोस्टमार्टम के बाद शव को परिजनों को सौपेंगी। जिसके बाद परिजनों द्वारा शव को गांव लाया जाएगा।  

नेपाली पुलिस ने मारी पीलीभीत के युवक को गोली 

गुरुवार की रात को पूरनपुर क्षेत्र में रहने वाले युवक गोविंदा को नेपाली पुलिस ने गोली मार दी थी जिससे उसकी मौके पर ही मौत हो गई थी। मामले में नेपाली पुलिस तस्करी में मुठभेड़ होने की बात कह रही है। जिसके बाद बार्डर के गांवों में इस बात को लेकर तल्खी दिखाई दे रही है। हालांकि मामले में पुलिस घायल पप्पू से पूछताछ के लिए नेपाल गई थी। जिसको दोपहर तक पीलीभीत के अस्पताल लाने की संभावना जताई जा रही है। इसके अलावा मृतक युवक के शव को भी गांव लाने की उम्मीद है।  

प्रशासन ने मुख्यालय को भेजी पूरी मामले की रिपोर्ट 

जबकि मामले में गुरमेज नाम का एक युवक जो पूरनपुर के हजारा में रहता है वह वहां से खिसक लिया है। शुक्रवार को पुलिस उसके घर पहुंची लेकिन वह सामने आने से बच रहा है। इस पूरे मामले में पुलिस सच्चाई जानने का प्रयास कर रही है। जिसके लिए वह पप्पू से पूरा घटनाक्रम पता करने का प्रयास कर रही है। इस पूरे मामले की रिपोर्ट प्रशासन एवं सशस्त्र सीमा बल ने मुख्यालय भेजी है। बार्डर पर पिछले एक साल में कपड़े, बिजली उपकरण, मादक पदार्थ की तस्करी में आठ लोगों को गिरफ्तार किया जा चुका है। इनमें से कुछ नेपाल से लौट रहे थे, कुछ सामान लेकर जा रहे थे।

 

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.