top menutop menutop menu

कोरोना से हो चुकी पति की मौत, पत्नी बनी सावित्री कर रही पूजा पाठ

कोरोना से हो चुकी पति की मौत, पत्नी बनी सावित्री कर रही पूजा पाठ
Publish Date:Sun, 09 Aug 2020 06:00 AM (IST) Author: Ravi Mishra

बरेली, [अंकित गुप्ता] । सावित्री और सत्यवान की कहानी तो सुनी ही होगी। वह यमराज से पति के प्राण वापस ले आई थीं। हिंदू धर्म में पति की दीर्घायु के लिए पत्नियां कई व्रत और अनुष्ठान करती हैं। ऐसी ही एक पत्नी अपने पति की दीर्घायु के लिए कोविड अस्पताल में पूजा पाठ और मंत्रों का जाप कर रही है। लेकिन उसे नहीं पता कि उसका पति कोरोना से लड़ते हुए प्राण त्याग चुका है। पति की मौत के बारे में उनके स्वजनों ने पत्नी को इसलिए नहीं बताया कि कहीं उसे सदमा न लगे और इस बीमारी में उसे भी कुछ न हो जाए। दरअसल, सिविल लाइंस क्षेत्र के स्टेट बैंक कालोनी निवासी एक युवक बीती 30 जुलाई को कोरोना संक्रमित हो गया था।

आफिस में साथी के पॉजिटिव आने के बाद उसने अपनी जांच कराई थी। रिपोर्ट पॉजिटिव आने के बाद स्वजनों ने उसे कोविड अस्पताल में भर्ती करा दिया था। इसके अगले ही दिन पूरे परिवार की जांच हुई तो एक अगस्त को युवक की पत्नी भी पॉजिटिव आ गई। अस्पताल में युवक का इलाज ठीक से नहीं किया जा रहा था इसके चलते स्वजनों ने पत्नी को दिल्ली के एक अस्पताल में भर्ती करा दिया था। युवक की दो अगस्त को मौत हो गई लेकिन स्वजनों ने इसकी जानकारी पति को नहीं दी। युवक की मौत के अगले ही दिन उसका जन्मदिन था।

इसके चलते पत्नी ने पति को फोन और मैसेज किए। जिनका कोई जवाब नहीं आया। पत्नी ने इस बारे में स्वजनों से बात की तो उन्होंने पति की तबियत ठीक न होने की बात कही, बताया कि उनके पास मोबाइल नहीं है। यह जानकारी मिलने के बाद से कोविड अस्पताल में ही पत्नी ने पति की लंबी उम्र के लिए पूजा पाठ, मंत्रों का जाप शुरू कर दिया। वह तीनों समय पति की सलामति के लिए माला से जाप कर रही है। उसे नहीं पता कि वह जिसके लिए जाप कर रही है वह उससे बहुत दूर जा चुका है। फेसबुक पर पोस्ट देख परिजन घबराए युवक एक फाइनेंस कंपनी में बड़े पद पर था।

उसकी मौत के बाद कई लोगों ने उसे श्रद्धांजलि देते हुए फेसबुक पर पोस्ट कर दीं। यह देख उसके स्वजन घबरा गए। यह पोस्ट उसकी पत्नी न देख ले इसके लिए आनन फानन अस्पताल प्रशासन से कहकर उसका मोबाइल हटवा दिया। उससे कहा गया कि यह मल्टीमीडिया मोबाइल खतरनाक है इससे दूर रहे। अब उसे कीपैड मोबाइल दिया गया है, जिससे वह अपनों के संपर्क में बनी रहे। युवक के एक बेटा और एक बेटी भी है।युवक के स्वजनों ने कोविड अस्पताल प्रशासन के खिलाफ मुख्यमंत्री और जिलाधिकारी से शिकायत की है। उनका आरोप है कि अस्पताल प्रशासन ने लापरवाही की। बताया कि उनके भाई ने बताया था कि उसे दो दिन तक कोई डाक्टर देखने नहीं आए। स्वजनों का कहना है कि अगर डाक्टर गए तो वार्ड में लगे सीसीटीवी की फुटेज उपलब्ध कराएं।

 

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.