कोरोना ने बदला रेल यात्रियों का मन, स्टेशन ट्रेन के पहुंचते ही यात्री अब डिब्बा बंद पूड़ी सब्जी की जगह मांग रहे काढ़ा और गर्म पानी

दूध वाली चाय की जगह ग्रीन टी की मांग कर रहे यात्री।

कोरोना संक्रमण की दूसरी लहर ने सबकुछ बदल कर रख दिया है। रेल यात्रा में भी काफी बदलाव देखने को मिल रहे हैं। संक्रमण से बचने के लिए यात्रियों ने डिब्बा बंद खाना लेना बेहद कम कर दिया है। यात्री अब वेंडर से ग्रीन टी व गर्म पानी मांग रहे।

Samanvay PandeyThu, 22 Apr 2021 02:16 PM (IST)

बरेली, (अंकित शुक्ला)। कोरोना संक्रमण की दूसरी लहर ने सबकुछ बदल कर रख दिया है। रेल यात्रा में भी काफी बदलाव देखने को मिल रहे हैं। संक्रमण से बचने के लिए यात्रियों ने डिब्बा बंद खाना लेना बेहद कम कर दिया है। बरेली जंक्शन पर रुकने वाली ट्रेनों के यात्री अब वेंडर से पूड़ी-सब्जी नहीं, बल्कि ग्रीन टी व गर्म पानी की मांग कर रहे हैं। लगातार बढ़ती मांग को देखते हुए वेंडर्स दूध वाली चाय के बजाय ग्रीन टी बेचने लगे हैं। 15 रुपये की पानी की ठंडी बोतल के बजाय नार्मल मिनिरल वाटर की खरीद हो रही है।

जंक्शन पर लगने वाले छह स्टाल संचालकों की मानें तो खाना की मांग 80 फीसद घट गई है। लोग अदरक वाली या ग्रीन टीन की मांग कर रहे हैं। इधर 10 दिनों में ठंडा पानी भी कम बिक रहा है। जंक्शन पर इस समय 48 जोड़ी ट्रेनों का स्टापेज हैं। जिनसे करीब सात हजार यात्रियों की आवाजाही हो रही है। भारतीय रेलवे खानपान एवं पर्यटन निगम (आइआरसीटीसी) के अधिकारियों के मुताबिक यात्री पेंट्रीकार वेंडरों से काढ़ा भी मांग रहे हैं। मांग को देखते हुए वेंडरों ने स्टेशन पर ग्रीन टी रखनी शुरू कर दी है।

सबसे ज्यादा डिब्रूगढ़-लालगढ़ जाने वाली अवध असम कोविड स्पेशल में रोजाना 100 से अधिक कप ग्रीन टी की मांग हो रही है। यही हाल डिब्रूगढ़ राजधानी, श्रमजीवी एक्सप्रेस, नौचंदी एक्सप्रेस, शहीद एक्सप्रेस, बाघ एक्सप्रेस, सरयू यमुना, उपासना एक्सप्रेस का हाल है।खानपान अधीक्षक आइआरसीटीसी फुरकान खां ने बताया कि ट्रेनों में गर्म पानी व ग्रीन टी की डिमांड बढ़ी है। लोग बढ़ते कोरोना संक्रमण के चलते डिब्बा बंद खाने से पहरेज कर रहे हैं। श्रमजीवी, अवध असम, राजधानी, हिमगिरी, किसान, दुर्गियाना आदि ट्रेनों में गर्म पानी व ग्रीन टी ऑनडिमांड दी जा रही है।

कोरोना संक्रमण के साथ बढ़ी जागरूकता

कोरोना संक्रमण बढ़ने के साथ लोगों में जागरूकता भी बढ़ी है। लोग ट्रेनों में सफर के दौरान सतर्कता बरत रहे हैं। यही वजह है कि लोग ट्रेनों में काढ़ा, तुलसी, अदरक वाली चाय की मांग कर रहे हैं।

40 वर्ष से अधिक उम्र वाले ज्यादा कर रहे डिमांड

जंक्शन के वेंडरों के अनुसार 40 वर्ष से अधिक उम्र के यात्री सबसे ज्यादा ग्रीन टी, गर्म पानी आदि की मांग कर रहे हैं। एक दिन में चार हजार से अधिक कप ग्रीन टी की बिक्री हो रही है। जबकि पूरे दिन में दो सौ भी लंच पैकेट भी नहीं बिक रहे हैं।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

पांच राज्यों के विधानसभा चुनावों से जुड़ी प्रमुख जानकारियों और आंकड़ों के लिए क्लिक करें।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.