बरेली पुलिस की पिटाई का फर्जी ट्वीट वायरल, जांच हुई तो पता चला कि दो साल पुराना है वीडियो

फिलहाल पुलिस ट्वीट करने वाले युवक की तलाश में जुट गई है।

बरेली पुलिस की पिटाई का शुक्रवार को फर्जी ट्वीट वायरल हो गया। वायरल करने वाले ने लिखा कि चालान काटने पर पुलिस की पिटाई की जा रही है। ट्वीट करने वाले ने घटनाक्रम बरेली का बताया। इस पर बरेली पुलिस तुरंत जांच में जुट गई।

Publish Date:Sat, 23 Jan 2021 04:06 PM (IST) Author: Sant Shukla

 बरेली, जेएनएन।  बरेली पुलिस की पिटाई का शुक्रवार को फर्जी ट्वीट वायरल हो गया। वायरल करने वाले ने लिखा कि चालान काटने पर पुलिस की पिटाई की जा रही है। ट्वीट करने वाले ने घटनाक्रम बरेली का बताया। इस पर बरेली पुलिस तुरंत जांच में जुट गई। जांच में सामने आया कि वीडियो गाजियाबाद का है और मामला दो वर्ष पुराना है। बरेली से इसका कोई लेना देना नहीं है। फिलहाल पुलिस ट्वीट करने वाले युवक की तलाश में जुट गई है।

ट्वीट करते हुए एक धर्म विशेष पर आरोप लगाया गया कि जिस तरह लोगों द्वारा पुलिस की पिटाई की जा रही है। वह कानून के लिए चुनौती है। ट्वीट को बकायदा यूपी पुलिस और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के ऑफिशियल ट्विटर हैंडल को टैग भी किया गया। ट्वीट होते ही तेजी से रिट्वीट होने लगे। आरोप-प्रत्यारोप का दौर शुरू हो गया। बरेली पुलिस ने जवाब देते हुए लिखा कि उक्त प्रकरण गाजियाबाद का है। मामला दो वर्ष पुराना है। इसमें कार्रवाई भी की जा चुकी है। तब जाकर मामला शांत हुआ था। पुलिस इस बिंदु पर जांच में जुट गई है कि माहौल बिगाड़ने के तहत तो यह ट्वीट नहीं किया गया। अब जांच के बाद असल हकीकत सामने आ पाएगी। एसएसपी रोहित सिंह सजवाण ने कहा कि बगैर जाने-परखे न कोई पोस्ट करें न ही इंटरनेट मीडिया पर शेयर करें। अगर कोई अफवाह फैलाने वाली या इस तरह की पोस्ट करता है जिससे माहौल बिगड़ता है तो पोस्ट करने वाले से सख्ती से निपटा जाएगा।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.