District Jail Alert : यूपी की इस जेल के कूलरों में भरे पानी में मिला मच्छरों का लार्वा, जेलर ने हटवाए कूलर

District Jail Alert जिले में बढ़ती मलेरिया के मरीजों की संख्या को देखते हुए स्वास्थ्य विभाग की ओर से मच्छरों के लार्वा नष्ट करने का अभियान चलाया जा रहा है। मंगलवार को डोमेस्टिक ब्रीडर चैकर्स की टीम जिला जेल पहुंची।

Ravi MishraTue, 21 Sep 2021 05:28 PM (IST)
District Jail Alert : यूपी की इस जेल के कूलरों में भरे पानी में मिला मच्छरों का लार्वा

बरेली, जेएनएन। District Jail Alert : जिले में बढ़ती मलेरिया के मरीजों की संख्या को देखते हुए स्वास्थ्य विभाग की ओर से मच्छरों के लार्वा नष्ट करने का अभियान चलाया जा रहा है। मंगलवार को डोमेस्टिक ब्रीडर चैकर्स की टीम जिला जेल पहुंची। यहां बैरकों के बाहर व कार्यालयों में लगे कूलरों में कई दिन पुराना पानी भरा था। उसे देखा गया तो उनमें मच्छरों का लार्वा पाया गया। ब्रीडर चैकर्स ने पानी को फैला कर लार्वा नष्ट कराया। इसके बाद लार्वानाशक दवा का छिड़काव किया। वहीं जेलर ने जेल में लगे सभी कूलरों को हटवाने के निर्देश दिए।

बीते सप्ताह जिला जेल में मलेरिया के दो मरीज पाए गए थे। इसके बाद डोमेस्टिक ब्रीडर चैकर्स की टीम ने जेल में जाकर मच्छरों का लार्वा वाले संभावित स्थान देखे थे। उस समय भी यहां लार्वा पाया गया था। जिस पर टीम ने जेल अधीक्षक व जेलर से रुके हुए पानी को निकलवाने व कूलरों की सफाई के लिए कहा था। लेकिन इस ओर ध्यान नहीं दिया गया और मंगलवार को टीम को यहां रखे कूलरों में भरे पानी में फिर लार्वा मिला। इस पर टीम के लोगों ने जेलर को जानकारी दी तो उन्होंने सभी कूलर खाली कराकर अलग रखने के निर्देश दिए।

इसके अलावा डोमेस्टिक ब्रीडर चैकर्स की टीमों ने जिले के अलग अलग गांव, मुहल्लों में जाकर एक एक घर को देखा। उन्हें 46 घरों में अलग अलग स्थानों पर पुराना पानी भरा मिला, जिसमें मच्छरों का लार्वा भी था। टीम के लोगों ने ग्रामीाणों व शहर के लोगाें को इसे लेकर जागरूक किया। कहाकि मलेरिया फैलने का सबसे बड़ा कारण मच्छर होते हैं, जो पानी में अपना लार्वा छोड़ते हैं और नए मच्छरों को जन्म देते हैं। इसलिए ध्यान रखें कि पानी का ठहराव न होने दें।

समरेर के पांच गांवों समेत मलेरिया के 19 मरीज मिले

मंगलवार को स्वास्थ्य विभाग की टीमों द्वारा 26 स्थानों पर शिविर लगाकर मलेरिया के संदिग्ध मरीजों की जांच की। इसमें मलेरिया के 19 और फैल्सीपेरम के दो मरीज मिले हैं। बता दें कि आसपुर ब्लाक के गांव सलेमपुर में एक, जगत के नगर सुलरा में एक, मूसाझाग में एक, रजौली में एक, कुठिया में एक, कमालपुर में एक, बदायूं शहर में जिला अस्पताल में एक, पुलिस लाइन में एक, चौधरी सराय में एक, वजीरगंज के घोड़ा में एक, सलारपुर के डुगरिया में एक, समरेर के कमान में एक, गदरौली में एक, भगवानपुर में एक, धीमरपुरा में दो, दातागंज कस्बे में एक मरीज मलेरिया का मिला है। वहीं दातागंज के ही सराय पिपरिया में एक और समरेर के मालीनगला में एक मरीज फैल्सीपेरम का भी मिला है। इन गांवों में स्वास्थ्य विभाग की टीम रुकी हुई है और लोगों की जांच की जा रही है।

मलेरिया का मरीज मिलने के चलते टीम को जेल में भेजा गया था। वहां कूलरों में भरे पानी में मच्छरों का लार्वा पाया गया। जिसे टीम ने मौके पर ही नष्ट कराय अौर लार्वीसायडल दवा का छिड़काव कराया। - तनवीर सिंह, मलेरिया इंस्पेक्टर

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.