पीलीभीत में बढ़ रहा डेंगू का प्रकोप, 40 नए मरीज मिले, जानिये जिले में अब कितने हो गए डेंगू के मरीज

Dengue in Pilibhit डेंगू का प्रकोप खत्म नहीं हो पा रहा है। स्वास्थ्य महकमा डेंगू की रिपोर्ट छिपा रहा है जिस वजह से डेंगू प्रभावित क्षेत्रों में जांच फागिंग व एंटी-लार्वा छिड़काव कार्य नहीं हो रहा है। शनिवार को एलाइजा जांच रिपोर्ट में 40 नए केस सामने आए हैं।

Samanvay PandeySun, 28 Nov 2021 08:15 PM (IST)
डेंगू संक्रमितों का आंकड़ा बढ़कर 283 हो गया है।

पीलीभीत, जेएनएन। Dengue in Pilibhit : डेंगू का प्रकोप खत्म नहीं हो पा रहा है। स्वास्थ्य महकमा डेंगू की रिपोर्ट छिपा रहा है जिस वजह से डेंगू प्रभावित क्षेत्रों में जांच, फागिंग व एंटी-लार्वा छिड़काव कार्य नहीं हो रहा है। शनिवार को एलाइजा जांच रिपोर्ट में 40 नए केस सामने आए हैं। इससे डेंगू संक्रमितों का आंकड़ा बढ़कर 283 हो गया है। अभी कई सैंपलों की रिपोर्ट प्रतीक्षरत भी है जिससे यह आंकड़ा बढ़ने की आशंका है।

सीएमओ कार्यालय से शुक्रवार को प्राप्त हुई रिपोर्ट में 40 मरीज संक्रमित मिले थे। इन मरीजों से संपर्क कर इनके घरों में एंटी लार्वा का छिड़काव व संक्रमित क्षेत्रों में फागिंग कराई जानी चाहिए थी लेकिन विभागीय जिम्मेदारों की लापरवाही से ऐसा कुछ नहीं हुआ। सीएमओ कार्यालय की तरफ से रिपोर्ट ही छिपा ली गई। मलेरिया विभाग ने रिपोर्ट होते हुए भी मरीजों व संक्रमित क्षेत्रों में कोई कार्रवाई नहीं की। मामले में पक्ष जानने के लिए मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ. सीमा अग्रवाल व सहायक जिला मलेरिया अधिकारी राजीव मौर्या को फोन किया गया लेकिन काल रिसीव नहीं हुई।

कंट्रोल रूम से निभा रहे औपचारिकता: डीएम पुलकित खरे ने विकास भवन में संचालित कंट्रोल रूम से डेंगू संक्रमित मरीजों पर निगरानी रखने व दैनिक रिपोर्ट लेने के आदेश दिए थे। इस पर सीडीओ ने दैनिक रिपोर्ट लेनी शुरू कर दी। शुरुआत में व्यवस्था ठीक चली लेकिन अब कंट्रोल रूम से भी लापरवाही बरती जा रही है। सीडीओ को भी गलत रिपोर्ट भेजकर औपचारिकता निभाई जा रही है। मरीजों द्वारा जो समस्याएं बताई जा रही हैं उन्हें विभाग के जिम्मेदारों तक नहीं पहुंचाया जा रहा। संक्रमित मरीजों को प्रतिदिन फोन कर स्वास्थ्य संबंधी जानकारी नहीं ली जा रही है। स्वास्थ्य विभाग डेंगू की रोकथाम में लापरवाही कर मरीजों के स्वास्थ्य से खिलवाड़ चल रहा है।

पाजिटिव रेट बढ़कर 50 फीसदः जनपद में डेंगू मरीजों का आंकड़ा बढ़ने के साथ ही संक्रमण की दर में भी तेजी आई है। डेंगू सक्रिय मामलों की दर 30 फीसद से बढ़कर 50 फीसद हो गया है। शनिवार को 79 डेंगू आशंकित मरीजों की रिपोर्ट आई जिसमें से 40 मरीजों के सीरम का एलाइजा टेस्ट सक्रिय पाया गया है। ऐसे में स्वास्थ्य विभाग द्वारा मरीजों की रिपोर्ट छिपाकर शासन के संचारी रोग नियंत्रण अभियान का मजाक उड़ाया जा रहा है।

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

Tags
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.