Delhi Police Wanted Taimur Surrender : बरेली में बुलडोजर चला तो दहशत घबड़ाया दिल्ली का ढाई लाख का इनामी तस्कर, तैमूर ने किया सरेंडर

Delhi Police Wanted Taimur Surrender फतेहगंज पश्चिमी में तस्कर नन्हें लगड़ा के बैंक्वेट हाल पर चले बुलडोजर की गरज दिल्ली तक पहुंची। छह साल से फरार चल रहा ढाई लाख का इनामी तस्कर तैमूर उर्फ भोला ने दिल्ली नारकोटिक्स सेल में गुरुवार का सरेंडर कर दिया।

Ravi MishraFri, 17 Sep 2021 09:46 AM (IST)
Delhi Police Wanted Taimur Surrender : बरेली में बुलडोजर चला तो दहशत घबड़ाया दिल्ली का ढाई लाख का इनामी तस्कर

बरेली, जेएनएन। Delhi Police Wanted Taimur Surrender : : फतेहगंज पश्चिमी में तस्कर नन्हें लगड़ा के बैंक्वेट हाल पर चले बुलडोजर की गरज दिल्ली तक पहुंची। छह साल से फरार चल रहा ढाई लाख का इनामी तस्कर तैमूर उर्फ भोला ने दिल्ली नारकोटिक्स सेल में गुरुवार का सरेंडर कर दिया। भाई फरमान, फूफा शहीद खां उर्फ छोटे, उसके स्वजन, रिश्तदारों व पार्टनरों पर शिकंजा कसने, गैर जमानती वारंट जारी होने के बाद भोला ने बरेली पुलिस से बचकर दिल्ली में सरेंडर किया। अब बरेली पुलिस ने तस्कर को रिमांड पर लेकर पूछताछ की तैयारी शुरू कर दी है।

तस्कर तैमूर उर्फ भोला पर फरीदपुर के बेहरा गांव का रहने वाला है। तस्करी के मामले में उस पर एनडीपीएस के एक दर्जन से अधिक मुकदमे दर्ज हैं। तस्करी की रकम से ही भोला ने करोड़ों रुपये का साम्राज्य खड़ा किया। दिल्ली पुलिस के हत्थे चढ़े तस्करों ने भोला से स्मैक की सप्लाई लेने की बात कुबूली। दिल्ली पुलिस भी भोला की तलाश में बरेली में दबिश देने लगी। शिकंजा कसता देख तस्कर घर छोड़कर भाग गया।

करीब छह वर्षों से तैमूर उर्फ भोला फरार चल रहा था। धीरे-धीरे करके दिल्ली पुलिस ने उस पर ढाई लाख रुपये का इनाम घोषित कर दिया। इधर, फतेहगंज पूर्वी में पढेरा का तस्कर प्रधान शहीद खां उर्फ छोटे को पुलिस ने 20 किलो स्मैक के साथ उसके भतीजे सैफ उर्फ राजू को गिरफ्तार किया। पूछताछ में पता चला कि शहीद खां उर्फ छोटे तस्कर तैमूर का फूफा है। शहीद ने कुबूला कि तैमूर पर शिकंजा कसने के बाद उसने तैमूर के भाई फरमान व उसके दोस्त गट्टू को हथियार बनाया और दिल्ली में स्मैक तस्करी का धंधा जारी रखा।

साल 2020 में कोठी तैमूर की कोठी गिरने पहुंची थी पुलिस

ढाई लाख का इनामी घोषित होने के बाद तस्कर के संपत्ति की जब्तीकरण की कार्रवाई भी शुरू हो गई थी। करोड़ों रुपये की संपत्ति के साथ तैमूर की बेहरा में ही करोड़ों की लागत से दो कोठियां निकली थी। इसके बाद कुर्की के कार्रवाई के तहत पुलिस तस्कर की कोठी गिराने पहुंची थी लेकिन, सिर्फ दीवार ढहाने के बाद ही कार्रवाई रुक गई थी। शहीद खां के पकड़े जाने के बाद तैमूर की संपत्ति की कुर्की के लिए दोबारा से जांच चल रही है।

सात के खिलाफ एनबीडब्ल्यू, भाई समेत 25 नामजद

शहीद खां के पकड़े जाने के बाद पुलिस ने उसके भाई सलीम समेत नौ के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया। विवेचना में करीब 16 नाम और मुकदमे में शामिल किये गए। कुल 25 तस्करों के खिलाफ एनडीपीएस की धाराओं में मुकदमा हुआ। नामजदों में तस्कर तैमूर के रिश्तेदार, पार्टनर के साथ उसका भाई फरमान भी शामिल है।

तस्कर तैमूर उर्फ भोला ने दिल्ली नारकोटिक्स में सरेंडर किया है। पूछताछ के लिए उसे रिमांड पर लेने की कार्रवाई शुरू करा दी गई है। - राजकुमार अग्रवाल, एसपी देहात

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.