Bareilly CMO Inspection : स्वास्थ्य केंद्र के निरीक्षण में उडे़ सीएमओ के होश, हाजिरी लगाकर केंद्र प्रभारी सहित गायब था 75 फीसद स्टाफ

Bareilly CMO Inspection जिले के ग्रामीण इलाकों में बने सामुदायिक और प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों की चिकित्सा व्यवस्था पर कुछ बेपरवाह अधिकारी और कर्मचारी बट्टा लगा रहे हैं। मंगलवार को मुख्य चिकित्सा अधिकारी के निरीक्षण में रिछा सीएचसी के केंद्र अधीक्षक समेत करीब 75 फीसद स्टाफ नदारद मिला।

Ravi MishraWed, 15 Sep 2021 08:59 AM (IST)
स्वास्थ्य केंद्र के निरीक्षण में उडे़ सीएमओ के होश, हाजिरी लगाकर केंद्र प्रभारी सहित गायब था 75 फीसद स्टाफ

बरेली, जेएनएन। Bareilly CMO Inspection : जिले के ग्रामीण इलाकों में बने सामुदायिक और प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों की चिकित्सा व्यवस्था पर कुछ बेपरवाह अधिकारी और कर्मचारी बट्टा लगा रहे हैं। मंगलवार को मुख्य चिकित्सा अधिकारी के निरीक्षण में रिछा सीएचसी के केंद्र अधीक्षक समेत करीब 75 फीसद स्टाफ नदारद मिला। कुछ ऐसा ही हाल मुड़िया नवीबक्श प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र का भी मिला। सभी के खिलाफ कार्रवाई की जा रही है।

मुख्य चिकित्सा अधिकारी डा.बलवीर सिंह ने बताया कि रिछा सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र (सीएचसी) में चिकित्सा अधीक्षक समेत 29 लोगों का स्टाफ है। यहां निरीक्षण के दौरान चिकित्साधीक्षक डा.आरके वर्मा बिना जानकारी दिए अनुपस्थित थे। यही नहीं डा.शोएब खान, लैब टेक्नीशियन दिनेश व अशोक, एएनएम हेमा समेत 22 लोग नदारद थे। वहीं, मुड़िया नवीबक्श प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र का भी प्रभार चिकित्साधीक्षक डा.आर के वर्मा के पास था।

चिकित्सा अधीक्षक यहां भी नहीं मिले। इनके अलावा डा.योगेंद्र गंगवार, रवि गंगवार, राजीव मिश्रा, राहुल, सुमन लता समेत आदि कर्मचारी यहां से भी बिना बताए नदारद थे। रवि गंगवार ने मंगलवार यानी 14 सितंबर की एडवांस हाजिरी लगाई हुई थी, लेकिन वह अनुपस्थित थे। सभी के खिलाफ कार्रवाई की जा रही है।

बरेली में डेंगू के तीन व मलेरिया के मिले 29 केस

जिले में मंगलवार को कोरोना संक्रमण के केस भले ही सामने नहीं आए, लेकिन डेंगू और मलेरिया के मरीजों का आंकड़ा तेजी से बढ़ रहा है। मंगलवार को जिले भर में हुई जांचों में डेंगू के तीन केस मिले हैं। ये सभी जांच निजी लैब में हुई हैं। स्वास्थ्य महकमे के अधिकारी अब इनकी एलाइजा जांच करने की तैयारी में है। वहीं, मलेरिया के भी 29 पाजिटिव केस सामने आए हैं। जिला मलेरिया अधिकारी डा.देशराज सिंह ने बताया कि जहां-जहां डेंगू और मलेरिया के केस मिले हैं, वहां अन्य लोगों की भी जांच कराई जाएगी। साथ ही डेंगू या मलेरिया के मच्छरों के लार्वा खोजकर उन्हें नष्ट कराया जाएगा

 

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.