Bareilly Weekly Lockdown : बरेली में आटाे चालक की मनमानी, दो कदम के मांग रहे 15 रुपये

Bareilly Weekly Lockdown आटो चालक साप्ताहिक लाकडाउन में पब्लिक से मनमाना किराया वसूलने का काम कर रहे हैं। सेटेलाइट से पटेल चौक का 15 तो सेटेलाइट से जंक्शन का 20 रुपये किराया वसूला जा रहा है। जबकि सामान्य दिनों में यह किराया 10 रुपये रहता है।

Ravi MishraMon, 02 Aug 2021 03:15 PM (IST)
Bareilly Weekly Lockdown : बरेली में आटाे चालक की मनमानी, दो कदम के मांग रहे 15 रुपये

बरेली, जेएनएन। Bareilly Weekly Lockdown : आटो चालक साप्ताहिक लाकडाउन में पब्लिक से मनमाना किराया वसूलने का काम कर रहे हैं। सेटेलाइट से पटेल चौक का 15 तो सेटेलाइट से जंक्शन का 20 रुपये किराया वसूला जा रहा है। जबकि सामान्य दिनों में यह किराया 10 रुपये रहता है। यही नहीं रात होते ही यह किराया सवारियों की संख्या के मुताबिक और बढ़ता जाता है। आटो चालकों के मनमाने किराए वसूलने से प्रतिदिन यात्री परेशान रहते हैं। यह आटो चालक परिवाहन विभाग के तय न्यूनतम किराए से अधिक वसूली कर विभाग को भी खुली चुनौती देते हैं।

आटो चालकों की ओर से मनमाने किराये वसूली के लिए जागरण की टीम ने जब पड़ताल की तो सामने आया कि एक ही रूट में सवारियों से एक किलोमीटर के रूट में अलग-अलग किराया वसूला गया। इसी तरह कुछ आटो चालक ऐसे भी सामने आए जिन्होंने खुले पैसे न होने की बात कहकर तुरंत ही यात्री से फुटकर रुपये देने की बात कही, जब यात्री ने फुटकर रुपये होने से मना किया तो तय मूल्य से पांच रुपये अधिक लेकर आटो चालक चल दिए। यानि यात्री के बैठते समय जो किराया तय किया गया था उससे भी पांच रुपये अधिक यात्री से वसूल किए गए। उधर, शाम को जब सड़कों पर भीड़ बढ़ी तो आटो चालकों ने अचानक अपने किराये में पांच से दस रुपये की बढ़ोतरी कर दी। घर जल्दी पहुंचने के लिए यात्रियों ने मन को मारते हुए आटो में सफर किया।

सेटेलाइट से पटेल चौक 15 रुपये

सेटेलाइट बस अड्डे से पटेल चौक तक आटो संचालक 15 से 20 रुपये तक प्रति सवारी किराया वसूल करते हैं। साप्ताहिक लाकडाउन में यात्रियों से मनमाफिक वसूली कर रहे हैं। जबकि न्यूनतम दो किलोमीटर का किराया 10 की जगह 15 रुपये कर दिया गया। यात्रियों का कहना है कि बगैर किसी रेट चार्ट के आटो चालक मनमाफिक किराया वसूल करते रहे।

नहीं लगाते रेट लिस्ट

सड़क पर आटो चलाने वालों के लिए यह नियम है कि वे यात्रियों के चढ़ने वाले स्थान और सामने रेट लिस्ट जरूर चस्पा करेंगे। बावजूद इसके किसी भी आटो में विभाग की ओर से तय न्यूनतम किराये की रेट लिस्ट नहीं थी। यह लिस्ट न होने के चलते यात्रियों को भी जानकारी नहीं हो पाती है कि किस रूट की कितनी दूरी का तय मूल्य का निर्धारण क्या है। रेट लिस्ट को हटाकर आटो चालकों को यात्रियों से मनमानी करने का लाभ मिल जाता है।

कुछ कहने पर झगड़े पर उतारू हो जाते चालक

एक किलोमीटर तक का सफर तय करने पर भी कई बार 15 से 20 रुपये तक देने पड़ते हैं। यदि आटो वालों से बहस करों तो वह झगड़े पर उतारू हो जाते हैं। इन सबसे बचने के लिए यात्री मांगे जाने वाले रुपये देने का काम करते हैं।

ऐसी कई शिकायतें यूनियन को भी मिली है। बैठक कर सभी को चेतावनी जारी कि गई है। जल्द ही आरटीओ से मिलकर नई रेट लिस्ट जारी की जाएगी। न्यूनतम किराया 10 किया गया है। सभी आटो में नई रेट लिस्ट चस्पा कराई जाएगी। इसके बाद अतिरिक्त किराया वसूलने वालों पर कार्रवाई कराई जाएगी। - गुरदर्शन सिंह, महासचिव बरेली आटो- रिक्शा टैंपो चालक कल्याण कमेटी एंड सोसाइटी

यात्रियों से तय न्यूनतम किराया से अधिक वसूली करने की शिकायत यात्रियों की ओर से विभाग में आती है। विभाग लगातार विभिन्न रूट में आटो संचालकों का चालान किया जाता है। आटो संचालकों को चेतावनी भी दिया जाता है। - जेपी गुप्ता, एआरटीओ प्रवर्तन प्रथम

 

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.