Bareilly Weather Forecast : बरेली में मौसम की अंगड़ाई से ध्वस्त हुई बिजली व्यवस्था, मौसम विज्ञानी बोले- अरब सागर से आने वाली हवाएं दे रही संकेत

Bareilly Weather Forecast मानसून सक्रिय होने से बरेली में मंगलवार शाम मौसम का मिजाज अचानक बदल गया। शाम करीब छह बजे से दो घंटे तक बरसात हुई। महज इतनी बारिश में ही पूरे शहर की बिजली व्यवस्था ध्वस्त हो गए।

Ravi MishraWed, 15 Sep 2021 09:40 AM (IST)
Bareilly Weather Forecast : बरेली में मौसम की अंगड़ाई से ध्वस्त हुई बिजली व्यवस्था

बरेली, जेएनएन। Bareilly Weather Forecast : मानसून सक्रिय होने से बरेली में मंगलवार शाम मौसम का मिजाज अचानक बदल गया। शाम करीब छह बजे से दो घंटे तक बरसात हुई। महज इतनी बारिश में ही पूरे शहर की बिजली व्यवस्था ध्वस्त हो गए। सब स्टेशनों से जुड़े फीडरों और जगह-जगह लाइनों पर दर्जनों फाल्ट हुए। कई जगड़ पेड़ टूटने से भी हाईटेंशन लाइन टूटीं। वहीं सड़कों पर यातायात बाधित हुआ, क्योंकि पेड़ों की शाखाएं टूटकर सड़कों पर गिर गई थी।

36 जगह पोल क्षतिग्रस्त, 52 जगह तार टूटे 

जिले में सोमवार को 36 जगह पोल क्षतिग्रस्त हुए। वहीं, पेड़ टूटने या दूसरे फाल्ट की वजह से 52 जगह हाईटेंशन लाइन टूटीं। सिविल लाइंस सब स्टेशन से संबंधित रामपुर गार्डन, सिविल लाइंस, आवास विकास, कचहरी रोड, सुभाष नगर, मढ़ीनाथ, बीडीए कालोनी से करगैना तक जगह-जगह आपूर्ति बाधित हुई। वहीं, हरूनगला सब स्टेशन से जुड़े पवन विहार, ग्रीन पार्क, मुंशी नगर, सनराइज इन्क्लेव, महानगर, सन सिटी विस्तार, आशुतोष सिटी, कूर्मांचल नगर, बिहार कलां, छोटी विहार, जगतपुरा इलाकों की बिजली गुल रही। इसके अलावा कुतुबखाना, बिहारीपुर, राजेंद्र नगर, माडल टाउन जैसे मुहल्लों में भी शाम छह बजे से देर रात तक बिजली आपूर्ति बदहाल रही। अधीक्षण अभियंता (शहर) विकास सिंघल ने बताया कि बारिश और तेज हवा की वजह से कई जगह पेड़ गिरे वहीं अन्य फाल्ट भी हुए। उपलब्ध संसाधनों में जल्द से जल्द बिजली आपूर्ति बहाल करने के लिए सभी टीमें लगी हैं।

अरब सागर से आई हवाओं से तीन दिन तक हल्की बारिश के आसार

पंत नगर कृषि विश्वविद्यालय के मौसम विज्ञानी डा.आरके सिंह ने बताया कि अरब सागर से आने वाली नम हवाओं ने मानसून सक्रिय कर दिया है। उत्तर पश्चिम दिशा से आने वाली इन नम हवाओं की वजह से अगले तीन दिनों तक 10 से 15 मिलीमीटर के करीब बारिश के आसार हैं। वहीं, मंगलवार को अधिकतम तापमान 35.5 डिग्री सेल्सियस रहा। वहीं, न्यूनतम पारा 25.9 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। वहीं दिन में अधिकतम आर्द्रता 95 और न्यूनतम 59 फीसद रिकार्ड हुई।

पेड़ गिरे, शाखाओं के टूटने से रास्ते ब्लॉक हुए

तेज हवाओं के बीच कई पेड़ों की जड़े भी हिल गई। रुहेलखंड विश्वविद्यालय के अंदर परिसर में तीन पेड़ गिर गए। स्टेडियम रोड पर पेड़ों की शाखाओं के टूटकर गिरने से लोग चोटिल होने से बचे। प्रेमनगर में भी एक बड़ा पेड़ तेज हवाओं की वजह से गिर गया। शाखाओं के टूटकर गिरने की वजह से रास्ते भी ब्लॉक हुए। लोगों की मदद से इनको हटवाया गया। तेज हवाओं में लगे विज्ञापन के होर्डिंग भी उड़ गए।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.