Girl molested in Bareilly : बरेली में रास्ता रोककर युवती से छेड़छाड़, विरोध करने पर दी जान से मारने की धमकी

Girl molested in Bareilly रास्ता रोककर दबंग ने युवती से छेड़छाड़ की। वह इतने पर ही नहीं रुका जैसे-तैसे जान बचाकर युवती भागी तो उसने जान से मारने की धमकी दी। युवती ने पुलिस को घटना की आपबीती सुनाई जिसके बाद पुलिस ने आरोपित के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज की।

Samanvay PandeyThu, 17 Jun 2021 02:30 PM (IST)
रास्ता रोककर छेड़छाड़ की कोशिश की तो जान से मारने की धमकी देने लगा।

बरेली, जेएनएन। Girl molested in Bareilly : रास्ता रोककर दबंग ने युवती से छेड़छाड़ की। वह इतने पर ही नहीं रुका, जैसे-तैसे जान बचाकर युवती भागी तो उसने जान से मारने की धमकी दी। युवती ने इज्ज्तनगर पुलिस को घटना की आपबीती सुनाई जिसके बाद इज्जतनगर पुलिस ने भोजीपुरा के थानपुर गांव निवासी आरोपित लालता प्रसाद के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज की।मामला इज्ज्तनगर का है। पीड़िता ने बताया कि वह क्षेत्र में पति के साथ किराए पर रहती है। आरोप है कि जब से उसने वहां रहना शुरू किया। भोजीपुरा के थानपुर गांव का निवासी लालता प्रसाद उसने परेशान करने लगा। 14 जून को सुबह 11 बजे घर से निकल थोड़ी दूर पहुंची ही थी कि आरोपित ने पीछा करना शुरू कर दिया। रास्ता रोककर छेड़छाड़ की कोशिश की तो जान से मारने की धमकी देने लगा। शोर मचाने पर आस-पास के लोग आ गए, इससे वह भाग निकला।

मोहम्मदपुर हत्याकांड के फरार तीन आरोपितों के खिलाफ गैर जमानती वारंट जारी : शेरगढ़ के माेहम्मदपुर हत्याकांड मामले में फरार तीन आरोपितों सुखदेव, वेदप्रकाश व जितेंद्र के खिलाफ बुधवार को कोर्ट ने गैर जमानती वारंट जारी कर दिया। प्रकरण में अब तक चार आरोपित रवि, संजीव, धर्मेंद्र व मुनेंद्र को गिरफ्तार कर जेल भेज चुकी है। आठवें आरोपित दोआरकी का दोष न सिद्ध होने पर पुलिस ने उसे छोड़ दिया था।बता दें कि शेरगढ़ के मोहम्मदपुर में बीते 19 मई को हुए सुरेंद्र पाल सिंह हत्याकांड मामले में मंगलवार को मृतक के भतीजे ने वीडियो वायरल कर शेरगढ़ पुलिस पर गंभीर आरोप लगाए थे।

आरोप लगाया कि शेरगढ़ पुलिस हत्यारोपितों से मिली हुई है। इसी के चलते आरोपित दोआरकी को 12 दिन हिरासत में रखने के बाद डेढ़ लाख रुपये लेकर उसे छोड़ दिया गया। ऐसे में पीड़ित परिवार को न्याय कैसे मिलेगा। एडीजी ने एसएसपी को मामले की जांच के निर्देश दिये थे। एसएसपी ने सीओ बहेड़ी को पूरे मामले की जांच सौंप दी थी। हालांकि, प्रकरण में एसओ शेरगढ़ वीरेंद्र प्रताप सिंह का कहना है था विवेचना में दोआरकी की सीडीआर में घटनास्थल पर कोई लोकेशन नहीं मिली थी। इसलिए उसे छोड़ा गया था। फरार अन्य आराेपित सुखदेख, वेदप्रकाश व जितेंद्र के खिलाफ कोर्ट ने गैर जमानती वारंट जारी कर दिया है।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.