बरेली में बढ़ते कोरोना संक्रमण के चलते रेल प्रशासन हुआ अलर्ट, आइसोलेशन कोच तैयार रखने के दिए निर्देश

बरेली जंक्शन के सेंकेंड इंट्री साइड पर खड़े 10 आइसोलेशन कोचों की जांच मंगलवार को की गई।

Bareilly Coronavirus Infection News कोरोना का संक्रमण एक बार फिर से बढ़ने लगा है। मुंबई से खासतौर पर संक्रमित मरीजों की संख्या देखने को मिल रही है। ऐसे में स्वास्थ्य महकमा जहां अलर्ट मोड पर आया है। वहीं रेलवे ने फिर से अपनी तैयारियां पूरी कर ली है।

Samanvay PandeyTue, 13 Apr 2021 02:20 PM (IST)

बरेली, जेएनएन। Bareilly Coronavirus Infection News : कोरोना का संक्रमण एक बार फिर से बढ़ने लगा है। मुंबई से खासतौर पर संक्रमित मरीजों की संख्या देखने को मिल रही है। ऐसे में स्वास्थ्य महकमा जहां अलर्ट मोड पर आया है। वहीं दूसरी ओर रेलवे ने एक बार फिर से अपनी तैयारियां पूरी कर ली है। बरेली जंक्शन के सेंकेंड इंट्री साइड पर खड़े 10 आइसोलेशन कोचों की जांच मंगलवार को की गई। 

पिछले साल 25 मार्च को लॉकडाउन से रेलवे ने सभी यात्री ट्रेनों का संचालन बंद कर दिया था। उस समय बढ़ते कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या को देखते हुए रेलवे ने पुराने यात्री कोचों को आइसोलेशन कोचों में बदलवा दिया था। जिन्हें चिन्हित स्टेशनों पर खड़ा भी कराया गया था। मुरादाबाद मंडल की ओर से जंक्शन में 10 आइसोलेशन कोच की एक रैक खड़ी की गई। इसी प्रकार इज्जतनगर मंडल की ओर से बरेली सिटी में 10 आइसोलेशन कोच की एक रैक खड़ी की गई थी। जो कि अभी तक है। निरीक्षण के समय स्टेशन अधीक्षक सत्यवीर सिंह के साथ, रेलवे स्वास्थ विभाग से नावेद खां, फार्मासिस्ट प्रवीण राणा, एसएसई सीएनडब्ल्यू सत्यवीर सिंह आदि मौजूद रहे।स्टेशन अधीक्षक सत्यवीर सिंह ने बताया कि आइसोलेशन कोचों की जांच की गई है। जिला प्रशासन की मांग पर उन्हें सुपुर्द किया जाएगा।

एक रैक में भर्ती हो सकते हैं 80 मरीज

एक रैक में कुल 10 आइसोलेट कोच व एक एसी कोच लगाया गया है। प्रत्येक कोच में आठ मरीज भर्ती किए जा सकते हैं। इस प्रकार एक रैक में कुल 80 मरीज भर्ती हो सकते हैं। वहीं एसी कोच में सीनियर रेजीडेंट डॉक्टर और दवाएं रखी जाएंगी।सभी कोच में पैरामेडिकल स्टाफ के लिए अलग से वार्ड बनाया गया है।

रेलवे को देनी है सुरक्षा, पानी और बिजली की व्यवस्था

स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय भारत सरकार की सचिव प्रीति सूदन की ओर से पूर्व में राज्यों व रेलवे को आइसोलेशन कोच संबंधी गाइडलाइन जारी की गई थी। जिसमें रेलवे को केवल कोच को खड़ा करने के लिए जगह, उसमें बिजली-पानी और सुरक्षा की व्यवस्था की जिम्मेदारी दी गई है। 

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

पांच राज्यों के विधानसभा चुनावों से जुड़ी प्रमुख जानकारियों और आंकड़ों के लिए क्लिक करें।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.