पीलीभीत डीएम की फटकार के बाद सक्रिय हुआ पुलिस का मुखबिर तंत्र, छात्रा से दुष्कर्म का आरोपित असिस्टेंट प्राेफेसर हुआ गिरफ्तार

Pilibhit Professor Molested With Student Case पीलीभीत शहर के एक महिला महाविद्यालय की छात्रा के साथ दुष्कर्म के आरोपित सहायक प्राध्यापक को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। उसे सदर कोतवाली में ले जाया गया है। जहां सीओ सिटी ने आरोपित से पूछताछ शुरू कर दी है।

Ravi MishraPublish:Fri, 26 Nov 2021 08:54 PM (IST) Updated:Fri, 26 Nov 2021 08:54 PM (IST)
पीलीभीत डीएम की फटकार के बाद सक्रिय हुआ पुलिस का मुखबिर तंत्र, छात्रा से दुष्कर्म का आरोपित असिस्टेंट प्राेफेसर हुआ गिरफ्तार
पीलीभीत डीएम की फटकार के बाद सक्रिय हुआ पुलिस का मुखबिर तंत्र, छात्रा से दुष्कर्म का आरोपित असिस्टेंट प्राेफेसर हुआ गिरफ्तार

बरेली, जेएनएन। Pilibhit Professor Molested With Student Case : पीलीभीत शहर के एक महिला महाविद्यालय की छात्रा के साथ दुष्कर्म के आरोपित सहायक प्राध्यापक को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। उसे सदर कोतवाली में ले जाया गया है। जहां सीओ सिटी ने आरोपित से पूछताछ शुरू कर दी है।

शुक्रवार शाम काे कोतवाली एसएसआइ व छात्रा के साथ दुष्कर्म के मुकदमे की विवेचना कर रहे सदाकत अली को मुखबिर से सूचना मिली कि आरोपित सहायक प्राध्यापक कामरान आलम खान शहर के ईदगाह फाटक के पास खड़ा है। सूचना मिलते ही एसएसआइ पुलिस टीम के साथ आरोपित की तलाश में पहुंचे। पुलिस को देखते ही आरोपित भागने लगा। इस पर पुलिस टीम ने घेराबंदी करके उसे पकड़ लिया।

इसके बाद सहायक प्राध्यापक को सदर कोतवाली ले जाया गया। सूचना पाकर सीओ सिटी सुनील दत्त शर्मा भी कोतवाली जा पहुंचे। उन्होंने आरोपित से पूछताछ शुरू कर दी है। शहर के महिला महाविद्यालय में बीएससी द्वितीय वर्ष की छात्रा ने गणित विषय के सहायक प्राध्यापक डा. कामरान आलम खान पर दुष्कर्म करने तथा देह व्यापार चलाने, छात्राओं का शोषण करने का आरोप लगाते हुए 21 नवंबर को सदर कोतवाली में मुकदमा दर्ज कराया था।

जिसके बाद से पुलिस लगातार आरोपित की गिरफ्तारी के प्रयासों में जुटी हुई थी। उसके मूल निवास रामपुर में भी टीम भेजी गई लेकिन वहां आरोपित नहीं मिल सका। दो दिन पहले जब आरोपित की ओर उसके अधिवक्ता अग्रिम जमानत पाने के लिए जनपद सत्र न्यायालय में अर्जी दाखिल, तब पता चला था कि आरोपित अपने अधिवक्ता के चेंबर में पहुंचा था। क्योंकि जमानत अर्जी पर उसके हस्ताक्षर होने थे लेकिन पुलिस को इसकी भनक नहीं लग की थी। उसके बाद से पुलिस और ज्यादा अलर्ट हो गई। विवेचक के अनुसार आरोपित की गिरफ्तारी शुक्रवार को सायं करीब साढ़े छह बजे हुई है।