बरेली में केंद्र प्रभारी पर फूटा भाजपा नेता समर्थको का गुस्सा, पीटकर लगाया किसानों का धान ना तौलने का आरोप

नवाबगंज मंडी परिषद में स्थित पीसीएफ के क्रय केंद्र पर केंद्र प्रभारी को भाजपा नेता के समर्थकों ने पीट दिया। भाजपा नेता और उनके समर्थकों ने क्रय केंद्र प्रभारी पर किसानों का धान ना तौले जाने का आरोप लगाते हुए जमकर हंगामा भी काटा।

Ravi MishraThu, 09 Dec 2021 07:52 AM (IST)
बरेली में केंद्र प्रभारी पर फूटा भाजपा नेता समर्थको का गुस्सा, पीटकर लगाया किसानों का धान ना तौलने का आरोप

बरेली, जेएनएन। नवाबगंज मंडी परिषद में स्थित पीसीएफ के क्रय केंद्र पर केंद्र प्रभारी को भाजपा नेता के समर्थकों ने पीट दिया। भाजपा नेता और उनके समर्थकों ने क्रय केंद्र प्रभारी पर किसानों का धान ना तौले जाने का आरोप लगाते हुए जमकर हंगामा भी काटा। क्रय केंद्र प्रभारी ने एसडीएम, आरएफसी और पुलिस से मामले की शिकायत की। इससे आक्रोशित सभी केंद्र प्रभारियों ने तौल बंद कर हड़ताल कर दी। आरएफसी ने आरोपितों के विरुद्ध कार्रवाई का आश्वासन दिए जाने पर सभी ने हड़ताल वापस ली।

एसडीएम नवाबगंज को दिए गए शिकायती पत्र में नवाबगंज मंडी समिति के सचिव रामप्रकाश गंगवार, एएमओ बृजेश पाल ने बताया गया कि नवाबगंज मंडी में बुधवार की शाम 4.20 बजे भाजपा नेता डा. एमपी आर्या अपने 30 से 35 समर्थकों के साथ किसानों की समस्या को लेकर पहुंचे थे। जहां उन्होंने खराब धान (मानक के विपरीत) को पीसीएफ के क्रेंद्र प्रभारी अरुण कुमार से जबरदस्ती तौल कराने का दबाव बनाया। क्रय केंद्र प्रभारी ने धान को रिजेक्ट कर दिया। इस पर एमपी आर्या के समर्थक हरीश गंगवार, सचिन रस्तोगी, ओमवीर, रामवीर भड़क गए और हंगामा करने लगे।

मामला गालीगलौज व हाथापाई तक पहुंच गया। इसकी जानकारी होने पर अन्य क्रय केंद्र प्रभारी भी पहुंच गए। वहां काफी देर तक हंगामा होता रहा। पूरे प्रकरण का वीडियो रात में इंटरनेट मीडिया पर वायरल हो गया। आक्रोशित क्रय केंद्र प्रभारी ने एसडीएम नवाबगंज को मामले की जानकारी दी। यह भी आरोप लगाया कि मंडी गेट के बाहर टोकन काटने वाले कर्मी अनुराग को भी पीट दिया। कई गाड़ी बिना टोकन कटवाए ही मंडी के अंदर दाखिल करा दीं, जबकि एसडीएम का आदेश था कि शाम को चार बजे के बाद कोई ट्राली अंदर न जाए।

किसी कर्मचारी से नहीं हुई मारपीट : भाजपा नेता

इस बारे में भाजपा नेता डा. एमपी आर्य ने बताया कि धान क्रय केंद्रों पर किसानों के सही धान को भी खराब बताकर उनका धान न तौलकर उन्हें केंद्रों से लौटाया जा रहा है। इसकी शिकायत किसानों ने उनसे की थी। वह बात करने के लिए मंडी गए थे। उनके वहां पहुंचने पर किसान धान तौल में रुपये लेने की बात कहकर हंगामा करने लग,। जिन्हें समझा दिया गया। वहां किसी भी कर्मचारी से मारपीट नहीं की गई है। कर्मचारी जो भी आरोप लगा रहे हैं वह गलत हैं।

पहले केंद्र संचालित करता था ओमवीर

बताया गया कि हंगामा करने में शामिल ओमवीर पहले क्रय केंद्र चलाता था। इस बार उसे केंद्र की जिम्मेदारी नहीं मिली तो कई किसानों के नाम पर मंडी पर धान बेचने का वह काम कर रहा है।

दलालों को लेकर कुछ तथाकथित नेता धान तौल कराने मंडी पहुंचने व केंद्र प्रभारियों के साथ मारपीट-गालीगलौज करने की जानकारी हुई हैं। जबरन फर्जी खरीद का प्रयास करने वालों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया जाएगा।- जोगिंदर सिंह, आरएफसी

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

Tags
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.