UPTET Exam 2021 : बरेली और बदायूं में परीक्षा निरस्त होने के बाद छात्रों से वापस ली आंसर शीट

UPTET Exam 2021 in Bareilly एटीएस की सूचना पर उत्तर प्रदेश शिक्षक पात्रता परीक्षा पेपर लीक होने की आशंका के चलते निरस्त कर दी गई। जिसके बाद बरेली मंडल के एक जनपद में छात्रों ने अपना आक्रोश व्यक्त किया।

Ravi MishraPublish:Sun, 28 Nov 2021 11:33 AM (IST) Updated:Sun, 28 Nov 2021 11:33 AM (IST)
UPTET Exam 2021 : बरेली और बदायूं में परीक्षा निरस्त होने के बाद छात्रों से वापस ली आंसर शीट
UPTET Exam 2021 : बरेली और बदायूं में परीक्षा निरस्त होने के बाद छात्रों से वापस ली आंसर शीट

UPTET Exam 2021 in Bareilly : एटीएस की सूचना पर उत्तर प्रदेश शिक्षक पात्रता परीक्षा पेपर लीक होने की आशंका के चलते निरस्त कर दी गई। जिसके बाद बरेली मंडल के एक जनपद में छात्रों ने अपना आक्रोश व्यक्त किया। वहीं बरेली और बदायूं में परीक्षा निरस्त होने के बाद छात्रों से आंसरशीट वापस ले ली गई। इस दौरान अधिकारियों ने छात्रों को समझा बुझाकर वापस घर भेज दिया।

सचिव परीक्षा नियामक प्राधिकारी संजय कुमार उपाध्याय ने बताया कि एसटीएस की सूचना पर परीक्षा निरस्त कर दी गई है।दोनों पारियों की परीक्षाएं निरस्त कर हो गई हैं।जिले में कई केंद्रों में पेपर बटने के बाद डीआईओएस मुकेश कुमार सिंह के निर्देश पर बटी आंसरशीट वापस ले ली गई है।छात्रों को परीक्षा निरस्त होने की जानकारी दे दी गयी है।

पीलीभीत में ऐन मौके पर पात्रता परीक्षा ऐन वक्त पर रद, परीक्षार्थी हुए मायूस

पीलीभीत : शहर में रविवार को सुबह दस बजे से शिक्षक पात्रता परीक्षा (टीईटी) 17 केंद्रों पर कड़ी सुरक्षा के बीच शुरू होनी थी। इसमें शामिल होने के लिए  परीक्षार्थी अपने अपने केंद्रों पर पहुंचने लगे थे। अनेक केंद्रों पर परीक्षार्थी पहुंच चुके थे। पेपर शुरू होने वाला था, तभी अचानक परीक्षा रद कर दिए जाने की घोषणा हो गई। इससे परीक्षार्थी काफी निराश हुए। जिलाधिकारी पुलकित खरे ने बताया कि शासन से पता चला है कि पश्चिमी उप्र के किसी केंद्र पर पेपर लीक हो गया है। इसी कारण परीक्षा रद की गई। 

जिलाधिकारी के अनुसार शासन से बताया गया कि एक माह के अंदर ही टीईटी परीक्षा की नई तिथि घोषित होगी। इसके लिए परीक्षार्थियों से किसी प्रकार का शुल्क नहीं लिया जाएगा। उन्होंने बताया कि परीक्षा के लिए नियुक्त सेक्टर मजिस्ट्रेटों, स्टेटिक मजिस्ट्रेटों, पर्यवेक्षकों को निर्देशित किया गया है कि परीक्षार्थियों से बातचीत कर उन्हें वस्तुस्थिति के बारे में समझाते हुए शांतिपूर्ण ढंग से उनकी वापसी को सुनिश्चित कराएं। परीक्षा के लिए शहर में 17 केंद्र बनाए गए थे। इन केंद्रों पर सुबह साढ़े नौ बजे से ही अभ्यर्थियों का पहुंचना शुरू हो गया था। परीक्षा केंद्रो के गेट पर कोविड हेल्पडेस्क बनाई गई थी।

जिला प्रशासन की ओर से चार सेक्टर मजिस्ट्रेट तथा  19 स्टेटिक मजिस्ट्रेट तथा 19 प्रशासन के पर्यवेक्षकों के साथ ही इतनी ही संख्या में शिक्षा विभाग के पर्यवेक्षकों को तैनात किए गए थे। परीक्षा केंद्रों के बाहर सुरक्षा एवं शांति व्यवस्था के मद्देनजर पुलिस कर्मियों को तैनात हो गए थे। परीक्षा केंद्रों के आसपास की दुकानों को बंद करा दिया गया था। पहली पाली की परीक्षा सुबह दस से दोपहर साढ़े बारह बजे तक होनी थी। टीईटी परीक्षा में जिले में 17 केंद्रों पर कुल 13 हजार 550 परीक्षार्थी पंजीकृत हैं। परीक्षा रद हो जाने से परीक्षार्थियों में मायूसी के साथ ही आक्रोश भी व्याप्त हो गया।