UP TET रद होने के बाद जानिये कहां रखी गईं ओएमआर शीट और प्रश्नपत्र, अब इनका क्या किया जाएगा

UP TET 2021 उत्तर प्रदेश शिक्षक पात्रता परीक्षा रद होने के बाद अभ्यर्थियों की ओएमआर शीट और उत्तर पुस्तिकाएं सभी परीक्षा केंद्रों से जीआइसी में भेज दी गई हैं। इन्हें राजकीय इंटर कालेज के स्ट्रांग रूम में रखा गया है।

Samanvay PandeyWed, 01 Dec 2021 06:55 AM (IST)
निर्देश मिलते ही शासन को भेज दी जाएंगी ओएमआर शीट

बरेली, जेएनएन। UP TET 2021 : उत्तर प्रदेश शिक्षक पात्रता परीक्षा रद होने के बाद अभ्यर्थियों की ओएमआर शीट और उत्तर पुस्तिकाएं सभी परीक्षा केंद्रों से जीआइसी में भेज दी गई हैं। इन्हें राजकीय इंटर कालेज के स्ट्रांग रूम में रखा गया है। डीआइओएस के अनुसार परीक्षा नियामक की ओर से निर्देश मिलते ही उत्तर पुस्तिका व ओएमआर शीट को भेज दिया जाएगा।यूपी टीईटी की परीक्षा रविवार को जिले में 95 केंद्रों पर प्रस्तावित थी।

हजारों की संख्या में परीक्षार्थी केंद्रों पर पहुंचे, उन्हें उत्तर पुस्तिका व ओएमआर शीट भी दी गईं और बीस मिनट बाद एक ऐसा अनाउंसमेंट हुआ, जिसने हर अभ्यर्थी को झकझोर दिया। परीक्षा निरस्त होने का अनाउसमेंट होते ही परीक्षार्थियों के पैरों से जैसे जमीन ही खिसक गई हो। उनसे उत्तर पुस्तिका लेकर उन्हें वापस लौटा दिया गया। जानकारों का कहना है कि अब यदि किसी प्रकार परीक्षा हो भी जाए तो अधिसूचना जारी होने तक परिणाम आ पाना मुश्किल लगा रहा है। जिला विद्यालय निरीक्षक डा. मुकेश कुमार सिंह ने बताया कि स्ट्रांग रूम में उत्तर पुस्तिकाएं व शीट को सुरक्षित रखा गया है। इसको कब भेजना है इसके लिए फिलहाल कोई निर्देश नहीं हैं।

एनआरएचएम संविदा कर्मियों ने सीएमओ कार्यालय को घेरा, किया प्रदर्शन : अपनी विभिन्न मांगों को लेकर उत्तर प्रदेश राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन संविदा (एनआरएचएम) कर्मियों ने मंगलवार को धरना प्रदर्शन किया। सीएमओ कार्यालय का घेराव कर समान कार्य के लिए समान वेतन की मांग करते हुए संविदा कर्मियों ने नारेबाजी की और सरकार से उनकी मांगों पर विचार किए जाने की बात कही। उन्होंने कहा कि कोविड महामारी के दौरान संविदा कर्मचारियों ने जान की परवाह न करते हुए स्वास्थ्य विभाग के कार्यों में सहयोग किया।

इसके बाद भी उनके साथ सौतेला व्यवहार किया जा रहा है। संगठन ने कहा कि कई बार जिला प्रशासन और शासन स्तर पर समान कार्य के लिए समान वेतन की मांग की गई है। लेकिन अब तक इस दिशा में कोई ठोस कदम नहीं उठाया गया। उनको कोई आश्वासन भी नहीं दिया गया। कर्मियों का कहना है कि सरकार की ओर से यदि कोई ध्यान नही तो इस बार आर पार की लडाई लड़ी जाएगी।

कर्मचारियों ने लगाया मास्कः कोरोना वायरस की तीसरी लहर की आशंका के चलते प्रशासन के द्वारा नए आदेश जारी किए जा रहे हैं, मगर जिस हेल्थ विभाग पर मरीजों के इलाज का जिम्मा है, वहां के कर्मचारी सीएमओ कार्यालय के बाहर धरना प्रदर्शन करने के दौरान भीड़ में भी मास्क पहनने की जरूरत नहीं समझी।

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

Tags
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.