Action : बरेली में कोविड अस्पतालों की खुलने लगी पोल, अब लौटानी होगी मरीजाें से वसूली गईं अधिक रकम

Action on Private Hospital News जिले में कोरोना मरीजों के इलाज के लिए बनाए गए निजी कोविड अस्पतालों की पोल खुलने लगी है। स्वास्थ्य विभाग के अफसरों की सख्ती के बाद अब निजी अस्पतालों ने बिल भेजने शुरू कर दिए हैं।

Ravi MishraMon, 31 May 2021 05:38 PM (IST)
Action : बरेली में कोविड अस्पतालों की खुलने लगी पोल

बरेली, जेएनएन। Action on Private Hospital News : जिले में कोरोना मरीजों के इलाज के लिए बनाए गए निजी कोविड अस्पतालों की पोल खुलने लगी है। स्वास्थ्य विभाग के अफसरों की सख्ती के बाद अब निजी अस्पतालों ने बिल भेजने शुरू कर दिए हैं। जितने अस्पतालों से बिल आए हैं, उनकी जांच में काफी कमियां पाई गई है। उन्हें मरीजों के स्वजनों को रकम लौटानी होगी।

शासन के निर्देश पर जिले में 16 निजी अस्पतालों को कोविड अस्पताल बनाया गया है। स्वास्थ्य विभाग ने उन्हें मरीजों से लिए जाने वाले चार्ज की लिस्ट दी है। इसके साथ ही मरीजों को दिए जाने वाले बिल की एक प्रति भी भिजवाने को कहा था। अस्पतालों ने स्वास्थ्य विभाग को बिलों की प्रति उपलब्ध नहीं कराई।

इस पर बीते दिनों सीएमओ ने उन्हें नोटिस दिया तो अब कुछ अस्पतालों ने डिटेल भेजनी शुरू की है। अब तक विनायक अस्पताल, रामकिशोर अस्पताल, साईं सुखदा और गंगाशील अस्पताल ने ही बिल भेजे हैं। अस्पतालों से आने वाले बिलों और तीमारदारों की शिकायतों की जांच एसीएमओ डॉ. आरएन गिरी और डा. पंकज अग्रवाल कर रहे हैं।

दो अस्पतालों ने लौटाई रकम 

अधिकारियों के अनुसार अब तक विनायक अस्पताल की चार शिकायतें मिलीं हैं। इसमें से दो मरीजों के तीमारदार को अस्पताल अधिक ली गई रकम लौटा चुका है। बीते दिनों आकाशपुरम के जितेंद्र पाल सिंह और दुर्गा नगर के पुरुषोत्तम सचदेवा ने भी अधिक रकम वसूलने की शिकायत की थी। जांच में गड़बड़ी पाई जाने पर अब अस्पताल प्रबंधक इन्हें भी अधिक ली गई रकम वापस करेगा। वही, साईं सुखदा अस्पताल अरविंद सक्सेना की शिकायत पर 1.40 लाख रुपये लौटा चुका है।

शहर के निजी कोविड अस्पतालों को मरीजों से लिए जाने वाले चार्ज के बिलों की प्रति मांगी है। कुछ अस्पतालों ने भेजनी शुरू भी कर दी है, जिनकी जांच डॉक्टरों की टीम कर रही है। जिन अस्पतालों ने अधिक चार्ज वसूले हैं, उनसे मरीज के परिवार वालों को रकम वापस कराई जाएगी। जो अस्पताल सूचना नहीं दे रहे, उनके खिलाफ सख्त कार्रवाई होगी। डॉ. सुधीर कुमार गर्ग, सीएमओ 

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.