Accident in Pilibhit : पीलीभीत में टला बड़ा हादसा, खाई में घुसी स्कूली वैन, बाल-बाल बचे बच्चे

Accident in Pilibhit मंगलवार को सुबह अमरिया क्षेत्र के दो दर्जन से अधिक परिवारों में उस समय अफरा तफरी मच गई जब उन्हें पता चला कि उनके लाडलो को स्कूल ले जाने लाने वाली वैन हादसे का शिकार हो गई।

Ravi MishraTue, 30 Nov 2021 12:36 PM (IST)
Accident in Pilibhit : पीलीभीत में टला बड़ा हादसा, खाई में घुसी स्कूली वैन, बाल-बाल बचे बच्चे

पीलीभीत, जेएनएन। Accident in Pilibhit : मंगलवार को सुबह अमरिया क्षेत्र के दो दर्जन से अधिक परिवारों में उस समय अफरा तफरी मच गई, जब उन्हें पता चला कि उनके लाडलो को स्कूल ले जाने, लाने वाली वैन हादसे का शिकार हो गई। आनन फानन अभिभावक अपने बच्चों की खैरियत जानने के लिए मौके पर रवाना हो गए। गनीमत रही कि हादसे में कोई हताहत नहीं हुआ।

अमरिया स्थित सेंट मेरी पब्लिक स्कूल में एक बोलेरो गाड़ी को स्कूल वैन के तौर पर उपयोग किया जा रहा है। रोज की भांति मंगलवार को सुबह यह गाड़ी फरीदपुर, ढेरम व सुकटिया गांवों से बच्चों को लेकर स्कूल जा रही थी। रास्ते में पौटा गांव के पास गाड़ी का अचानक संतुलन बिगड़ गया और वह सड़क से उतरकर खाई में जा घुसी। गनीमत रही कि गाड़ी पलटी नहीं, वरना बड़ा हादसा हो जाता। इस गाड़ी में इन तीनों गांवों के 28 बच्चे सवार थे।

हादसे से सभी बच्चे सहम गए। उधर, जब इन बच्चों के अभिभावकों को हादसे की जानकारी हुई तो उनके परिवारों में अफरा तफरी मच गई। आनन फानन अभिभावक अपने बच्चों की खैरियत मालूम करने के लिए घटना स्थल पर पहुंचने लगे। बच्चों को सुरक्षित पाकर अभिभावकों ने राहत की सांस ली। बच्चों ने बताया कि हादसे के बाद आस पास खेतों में काम कर रहे लोगों ने उन्हें गाड़ी से बाहर निकाला। इस हादसे में दो बच्चों को मामूली चोटें आई हैं।

अभिभावकों का कहना है कि स्कूल प्रबंधन को कई बार अवगत कराया गया कि इस गाड़ी में बच्चे अधिक हो जाते हैं। ऐसे में एक और वाहन की व्यवस्था कराई जाए लेकिन कोई ध्यान नहीं दिया गया। हालत यह है कि बोलेरो गाड़ी में जगह कम पड़ जाती है। बच्चों की  अधिक हो जाती है। ऐसे में बच्चे एक दूसरे के ऊपर बैठते हैं। जिससे हादसा होने का खतरा बना रहता है। 

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

Tags
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.