बरेली में लाखों की 40 भैंसे चोरी, आजम खां की भैंसे पलभर में ढूंढने वाली यूपी पुलिस बोली, ये हमारा काम नहीं

Buffalo Stolen Worth 40 Lakhs in Bareilly यूं तो भैंस चोरी बड़ी ही सामान्य घटना लगती है लेकिन पशुपालकों के दिल से पूछिए। रोजी रोटी के लिए एक-एक तिनका जोड़कर यह सोचकर पशु खरीदते हैं कि कुछ नहीं तो पशु के दूध के सहारे ही जिंदगी गुजर बसर हो जाएगी।

Ravi MishraThu, 02 Dec 2021 06:50 AM (IST)
बरेली में चोरी हुई 40 लाख की भैंस, पुलिस बोली भैंस ढूंढना हमारा काम नहीं

बरेली, जेएनएन। Buffalo Stolen Worth 40 Lakhs in Bareilly: यूं तो भैंस चोरी बड़ी ही सामान्य घटना लगती है लेकिन, पशुपालकों के दिल से पूछिए। रोजी रोटी के लिए एक-एक तिनका जोड़कर यह सोचकर पशु खरीदते हैं कि कुछ नहीं तो पशु के दूध के सहारे ही जिंदगी गुजर बसर हो जाएगी। बावजूद भैंस चोरी की वारदात पर पुलिस कहती है कि क्या अब पुलिस भैंस भी ढूंढेगी। भैंस ढूंढना पुलिस का काम नहीं है। यह वही पुलिस है जो कभी सपा नेता आजम खां की भैंस चोरी होने पर पलभर में खोज निकालती थी।

हैरानी की बात सामने आई हाफिजगंज व इज्जतनगर में भैंस चोरी की 40 वारदातों में एक में भी रिपोर्ट नहीं लिखी गई। रिपोर्ट बुधवार को महज वह लिखी गई जिसमे भैंस चोर गैंग के तीन आरोपित पकड़ गए। गिरोह के पकड़े जाने की सूचना पर ही सैकड़ों की संख्या में पशुपालक थाने पहुंच गए। देखते ही बोले-साहब यहीं चोर हैं जिन्होंने रोजी-रोटी का सहारा छीन लिया।

गिरोह के पकड़े जाने के बाद बुधवार को हाफिजगंज के किलिकापुर, टांडा दयानतपुर, चैना मुरारपुर, कमुआ, संतोषपुर, मुंशीनगर व इज्जतनगर के आसपुर खूबचंद्र के 100 से अधिक किसान इज्जतनगर थाने पहुंचे। बताया कि एक माह में जयराम गिरि की पांच, नत्थूलाल की तीन, रामङ्क्षसह, भागीरथ, हरिशंकर, जयपाल की दो-दो, मोर ङ्क्षसह, राजेंद्र, सुरेश व रामचंद्र की एक-एक भैंस समेत कुल 40 भैंस चोरी हो गईं। पकड़े गए आरोपितों बाबू, निजामुद्दीन व आबिद की शिनाख्त की। क्षेत्रीय पशुपालकों ने बताया कि शिकायत करने पर हाफिजगंज पुलिस ने टका सा जवाब दिया कि भैंस ढूढना पुलिस का काम नहीं। खुद ढूंढ लो। पशुपालकों का आरोप है कि किसी की भी रिपोर्ट दर्ज नहीं की गई।

पशुपालकों ने बिजली विभाग के संविदाकर्मियों को भी कटघरे में खड़ा करते हुए कहा कि गिरोह जब भी चोरी की वारदात को अंजाम देता है, उस समय बिजली भी गुल हो जाती है। पकड़ी गई भैंस इज्जतनगर क्षेत्र से ही आरोपितों ने चोरी की थी। वे उसे रामपुर की बिलासपुर बाजार में बेचने जा रहे थे। इज्जतनगर इंस्पेक्टर संजय कुमार ने बताया कि आरोपितों से गिरोह से जुड़े अन्य सदस्यों के बारे में भी जानकारी मिली है। उनकी तलाश की जा रही है।

सुभाषनगर में भैंस चोरी का वीडियो हुआ था वायरल

सुभाषनगर में बीते दिनों भैंस चोरी का वीडियो वायरल हुआ था। यहां भी पशुपालक को सुभाषनगर पुलिस ने टरका दिया। पशुपालक एसएसपी के पास पहुंचा तब जाकर मामले में रिपोर्ट दर्ज हुई थी। रिपोर्ट तो पुलिस ने जैसे-तैसे दर्ज कर ली लेकिन, आज तक पशुपालक की भैंस नहीं मिली। हर बार पशुपालक को टहला लिया जाता है। उसके सिर्फ और सिर्फ निराशा हाथ लगती है।

साहब, आप के पैर पकड़ता हूं, भैंस दिलवा दीजिए

पशुपालक बिलखता हुुआ कहता है कि साहब भैंस दिलवा दो। बेटा बीमार था। इलाज के लिए रुपये नहीं थे। डाक्टर ने गरीबी देख बच्चे के इलाज का पैसा नहीं लिया। बेटे का इलाज कराकर घर लौटा तो भैंस चोरी होने की जानकारी हुई। अब तो साहब पेट पर लात पड़ गई। कर्ज लेकर भैंस खरीदी थी। ढूंढवा दो साहब, जीवन भर एहसानमंद रहूंगा।

पशु खरीदने के नाम पर करते हैं रेकी, फिर वारदात को देते हैं अंजाम

इज्जतनगर पुलिस ने भैंस चोर व कटान गिरोह को दबोच लिया। आरोपित पहले पशुओं को खरीदने के नाम पर रेकी कर लेते, बाद में वारदात को अंजाम देते। दुधारू पशुओं को बाजार में बेच देते, जबकि अन्य को बूचडख़ाने भेजकर कटवा दिया जाता। सैदपुर भोजीपुरा निवासी तीन आरेपितों बाबू, निजामुद्दीन व ड्राइवर आबिद को गिरफ्तार किया गया है। गिरोह के अन्य आरोपित दिनेश, नाजिम, भूरा आदि फरार हैं। आरेपितों के पास से पुलिस ने चार भैंस, एक कटरा व पिकअप समेत अन्य सामान बरामद कर मुकदमा दर्ज कर लिया गया है।

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

Tags
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.