प्रति वर्ष दस प्रतिशत घटनाओं को कम कराने का है संकल्प : आइजी

विश्व में दुर्घटनाओं की राजधानी हिदुस्तान को कहा जाता है। यहां हो रहे सड़क हादसों में प्रत्येक दो सेकेंड में एक व्यक्ति की मौत हो रही है। हादसों की तुलना में विभिन्न अपराधों में एक तिहाई लोगों की जान जाती है।

JagranTue, 30 Nov 2021 11:28 PM (IST)
प्रति वर्ष दस प्रतिशत घटनाओं को कम कराने का है संकल्प : आइजी

बाराबंकी : विश्व में दुर्घटनाओं की राजधानी हिदुस्तान को कहा जाता है। यहां हो रहे सड़क हादसों में प्रत्येक दो सेकेंड में एक व्यक्ति की मौत हो रही है। हादसों की तुलना में विभिन्न अपराधों में एक तिहाई लोगों की जान जाती है। बाराबंकी जिले में एक वर्ष के अंतराल में 554 हादसे हुए जिसमें से 325 लोगों की मौत हुई और करीब इतने ही लोग गंभीर रूप से घायल अथवा अपंग हुए। यातायात माह के जरिए प्रत्येक वर्ष हादसों में दस प्रतिशत कमी लाने का संकल्प है।

आइजी अयोध्या रेंज कवींद्र प्रताप सिंह ने यह बातें मंगलवार को यातायात माह समापन के मौके पर पुलिस लाइंस में आयोजित कार्यक्रम में कहीं। उन्होंने कहा कि यातायात व्यवस्था को सुधारने के लिए पुलिस के साथ, परिवहन, पीडब्ल्यूडी और एनएचएआइ भी साथ में कार्य करते हैं। पूरी रेंज में सर्वाधिक हादसे बाराबंकी में हुए हैं। एक वर्ष में रेंज के सभी जिलों में करीब 1700 हादसे हुए जिसमें से करीब एक हजार लोगों की मौत हुई है। अन्य विषयों के साथ यातायात की जानकारी भी विद्यालयों में बच्चों को दी जानी चाहिए। यातायात कानून व्यवस्था का एक महत्वपूर्ण हिस्सा है। डीएम डा. आदर्श सिंह ने कहा कि लोगों को यातायात के नियमों के प्रति स्वयं जागरूक रहना होगा। रामसनेहीघाट और देवा के भीषण हादसे की चर्चा करते हुए वहां मौजूद स्कूली बच्चों से अपने बड़ों व अभिभावकों को सीख देने और यातायात नियम का पालन करने की अपील करने की बात कही। एसपी अनुराग वत्स सहित एडीएम, एएसपी, एआरटीओ, सीओ आदि मौजूद थे। बच्चे हुए पुरस्कृत : यातायात निरीक्षक सुधांशु वर्मा ने बताया कि समापन के मौके पर साईं इंटर कालेज में यातायात विषय पर पेंटिग प्रतियोगिता का आयोजन किया गया। इसमें कक्षा छह की छात्रा आशी मिश्रा, भाव्या वर्मा और महक वर्मा ने क्रमश: पहला, दूसरा और तीसरा स्थान हासिल किया। इन बच्चों को आइजी, डीएम और एसपी ने पुरस्कृत किया। एक माह में 6566 चालान यातायात माह में लोगों को नियमों का पाठ पढ़ाने और जागरूक करने के साथ-साथ दंडात्मक कार्रवाई भी की गई। पूरे माह में जिले में कुल 6566 चालान किए गए। इसमें 92 लाख 37 हजार रुपये का जुर्माना किया गया। इनमें बिना हेलमेट के 3196, बिना डीएल के 1162, अवैध पार्किंग के 907, बिना सीट बेल्ट के 360, तीन सवारी होने पर 291 और अन्य उल्लंघन में-343 वाहनों के चालान किए गए।

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

Tags
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.