top menutop menutop menu

मोदी गमछा के समर्थन में आगे आए सांसद

बाराबंकी : मोदी गमछा के समर्थन में सांसद उपेंद्र सिंह रावत आए आए हैं। बुनकर अधिकार संगठन के जिलाध्यक्ष तफज्जुल हुसैन अंसारी ओर से ज्ञापन दिए जाने के तुरंत बाद सांसद ने प्रमुख सचिव हथकरघा को पत्र लिखा है।

सांसद ने प्रमुख सचिव हथकरघा को भेजे गए पत्र में कहा है कि प्रधानमंत्री 'मन की बात' में जिस गमछे को पहने थे उसी डिजाइन का गमछा जिले के बुनकरों ने बनाया तो उसे मोदी का गमझे का नाम दिया था। इससे उसकी पहचान मोदी गमछे के रूप में होने से बिक्री बढ़ी। मोदी गमछा (स्टोल) मास्क का विकल्प भी बना। हथकरघा एवं वस्त्र मंत्रालय भारत सरकार की टीम ने जैदपुर कस्बे में पहुंचकर बुनकरों को मोदी गमछा बनाने से रोक दिया। सांसद ने प्रमुख सचिव से इस मामले की जांच कर मोदी गमछा बनाने की अनुमति देने की बात भी कही है।

उन्होंने प्रमुख सचिव से यह भी जानकारी मांगी है कि मणिपुर के बुनकरों ने जिस लिग्यान मफलर की डिजाइन को मोदी गमछा में होना बताकर रोक लगाए जाने की मांग की है उस लिग्यान मफलर का पीस भी उपलब्ध कराया जाए। यह भी बताया जाए कि किस नियम के तहत कितने वर्ष के लिए मणिपुर के बुनकरों ने डिजाइन को पंजीकृत कराया है। सांसद ने बताया कि उनकी प्रेरणा से जिले के बुनकरों ने मोदी गमछा बनाना शुरू किया। अब इसका निर्माण बंद न होने पाए इसके लिए वह पूरी कोशिश करेंगे।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.