दिल्ली

उत्तर प्रदेश

पंजाब

बिहार

उत्तराखंड

हरियाणा

झारखण्ड

राजस्थान

जम्मू-कश्मीर

हिमाचल प्रदेश

पश्चिम बंगाल

ओडिशा

महाराष्ट्र

गुजरात

होम आइसोलेट मरीजों को किट वितरण में न हो लापरवाही

होम आइसोलेट मरीजों को किट वितरण में न हो लापरवाही

बाराबंकी शासन के निर्देश के क्रम में डीएम डा. आदर्श सिंह ने जिले में कोविड-19 संक्रमण क

JagranFri, 07 May 2021 12:18 AM (IST)

बाराबंकी: शासन के निर्देश के क्रम में डीएम डा. आदर्श सिंह ने जिले में कोविड-19 संक्रमण के निरंतर मरीजों की संख्या में इजाफा के मद्देनजर छह जोन और 16 सेक्टर व्यवस्था लागू की है। संबंधित तहसील के उपजिलाधिकारी को जोनल मजिस्ट्रेट नामित किया है। सीडीओ ने भी कोरोना पर नियंत्रण को लेकर डीआरडीए में बैठक की।

डीएम ने पत्र जारी कर बताया है कि होम आइसोलेशन के मरीजों की ओर 1070 पर प्राप्त हो रही शिकायतों के समाधान के लिए जिले को जोन में बांटकर वाहन लगाए गए है। इसमें प्रत्येक जोन में चार से पांच टीमें बनाकर उनको होम किट पहुंचाने हेतु वाहन उपलब्ध कराए जाने और कोताही न बरतने का निर्देश दिए है। प्रत्येक जोन में वाहनों के नंबर एवं लगाए अधिकारियों व कर्मचारियों के मोबाइल नंबर क्षेत्रवार प्रकाशित करने का निर्देश दिया गया है। होम क्वारंटाइन की सुचारू व्यवस्था तथा मेडिकल किट उपलब्ध कराना एवं इसकी प्रतिदिन समीक्षा किए जाने के लिए जनपद स्तर टीम एक का गठन किया गया है। साथ ही डीआरएफ मध्य से प्रति ब्लाक दो वाहन सहित जिले में कुल 30 वाहन मुख्य चिकित्साधिकारी की ओर से गठित समिति की संस्तुति के क्रम में उपलब्ध कराया है।

त्यागपत्र देने वाले मेयो मेडिकल कालेज के तीन डाक्टरों को नोटिस

बाराबंकी : मेयो मेडिकल कालेज गदिया के तीन डाक्टरों ने त्यागपत्र दे दिया। डीएम डा. आदर्श सिंह ने नोटिस देकर जवाब-तलब किया है।

वरिष्ठ एसआर जर्नल सर्जरी डा. जेनेश सिंह, असिस्टेंट प्रोफेसर जनरल सर्जरी डा. रत्नाकर, डा. ज्ञानेंद्र सिंह के इस्तीफे को डीएम ने गलत बताया है। नोटिस में कहा गया है कि मेडिकल कालेज की ओर से इन डाक्टरों से कोविड ड्यूटी के लिए निर्देशित किया गया तो अपने पद से इस्तीफा दे दिया। अनधिकृत रूप से कोविड ड्यूटी से अनुपस्थित हो गए। यह कृत्य कोविड महामारी अधिनियम के निर्देशों का उल्लंघन के साथ ही कर्तव्य निष्ठा के प्रति उदासीनता है। डीएम ने इन डाक्टरों को निर्देशित किया है कि पत्र प्राप्ति के तीन दिन के अंदर अपनी ड्यूटी पर योगदान दें। अन्यथा महामारी अधिनियम के तहत एफआइआर कराई जाएगी।

संचालित किए जाएंगे कम्युनिटी किचन

कोविड महामारी के ²ष्टिगत प्रवासी श्रमिकों, कामगारों व मजदूरों सहित अन्य जरूरतमंदों के लिए कम्युनिटी किचन संचालित किए जाएंगे। कम्युनिटी किचनों की जिला स्तर पर नोडल अधिकारी प्रियंका सिंह अभिहीत अधिकारी को नामित किया गया है। कक्युनिटी किचन में बनने वाले भोजन के पैकेट का वितरण मुहल्लों व आश्रय स्थलों के नाम सहित बेवसाइट पर दर्ज किया जाएगा।

आस्था में कोविड मरीज भर्ती करने पर रोक

नगर के देवा रोड स्थित आस्था हास्पिटल में कोविड मरीजों को भर्ती करने पर डीएम ने रोक लगा दी है। उन्होंने मौजूदा समय भर्ती मरीजों को डिस्चार्ज होने तक गुणवत्तापरक इलाज प्रदान करने के निर्देश दिए हैं। डीएम ने यह भी कहा कि यदि मरीजों की ओर से यह संज्ञान में लाया गया कि उपचार गुणवत्ता परक नहीं किया गया तो प्रबंधन के खिलाफ विधिक कार्रवाई की जाएगी।

डीएम ने आस्था हास्पिटल में भर्ती मरीजों के तीमारदारों से आक्सीजन सिलिंडर व रेगुलेटर मंगाने, निर्धारित शुल्क से अधिक वूसली करने सहित अन्य शिकायतों की जांच के लिए चार सदस्यीय टीम भी गठित की है। इस टीम के अध्यक्ष एसडीएम सदर अभय कुमार पांडेय व सदस्य एसीएमओ डा. केएनएम त्रिपाठी, सीओ सिटी सीमा यादव व प्रशिक्षु एसडीएम सचिन वर्मा हैं।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.