आग की चपेट में आए पांच मकान, लाखों की संपत्ति राख

आग की चपेट में आए पांच मकान, लाखों की संपत्ति राख

संवाद सूत्र कमासिन भीती गांव में एक घर में लगी आग की लपटों ने पड़ोसियों के भी आशियाने अ

JagranMon, 19 Apr 2021 04:41 PM (IST)

संवाद सूत्र, कमासिन : भीती गांव में एक घर में लगी आग की लपटों ने पड़ोसियों के भी आशियाने आगोश में ले लिए। धू-धूकर जलते मकानों से जान बचाकर भागे लोग शोर मचाते रहे और आंखों के सामने आशियाने राख हो गए। आग ने आसपास के पांच घरों को अपनी चपेट में ले लिया, तीन पूरी तरह राख हो गए। घटना में पांच घरों की करीब दस लाख की संपत्ति राख हो गई। सूचना पर पहुंची दमकल टीम ने जब तक आग पर काबू पाया, लोगों के यहां रखा अनाज, कपड़े, जेवरात और अन्य कीमती सामान जलकर राख हो गया। राजस्व टीम व लेखपाल ने जांच की। आग लगने की वजह शार्ट सर्किट बताई जा रही है।

ग्राम भीती निवासी जफरअली के मकान में रविवार रात शार्ट सर्किट से आग लग गई। धुआं व लपट की तपिश से घर वालों की नींद टूटी और जान बचाने के लिए बाहर भागे। देखते ही देखते आसपास के घर भी आग की चपेट में आते गए। जफर ने बताया कि रात को सभी लोग सो रहे थे। तभी घर में शार्ट सर्किट के कारण आग लग गई।

शोर सुन जुटे लोग, बढ़ती गई आग

जफर और घर के लोगों ने बाहर निकल शोर मचाया। आवाज सुन आसपास के लोग जुट गए और आग बुझाने का जतन करने लगे। तेज हवा के चलते आग ने पड़ोसियों के भी आशियाने अपनी चपेट में ले लिए। आग की लपटें इतनी तेज थीं कि पड़ोसी रमजान खां व चुन्नू के घर भी धू-धूकर जलने लगे। सूचना पर प्रभारी निरीक्षक रामाश्रय सिंह पहुंचे और पुलिस बल के साथ आग बुझाने में जुट गए।

दो और घर आ गए चपेट में, थम गईं सांसें

इधर, आग बुझाने की कोशिश हो रही थी तभी बगल के रणविजय व रामस्वरूप के मकानों तक लपटें जा पहुंची। हालांकि तब तक दमकल की गाड़ी भी मौके पर पहुंच गई। इससे रणविजय व रामस्वरूप के घर के एक-एक कमरे ही जले, बाकी बचा लिए गए। अग्नि कांड में दस लाख से ज्यादा का नुकसान बताया जा रहा है। जफर अली, चुन्नू व रमजान खां के घर में कुछ भी नहीं बचा। रणविजय व रामस्वरूप का मामूली नुकसान हुआ है। प्रभारी निरीक्षक रामाश्रय सिंह ने बताया है कि चुन्नू दलित के मकान में ताला बंदी के कारण आग बेकाबू हो गयी थी।

पति पंजाब में और पत्नी गई थी मायके

थानेदार रामाश्रय सिंह ने बताया कि चुन्नू पंजाब में मजदूरी करता है। उसकी पत्नी माया देवी अतर्रा के ग्राम बल्लान अपने मायके गई थी। अग्निकांड की सूचना मिलने पर राजस्व विभाग व हल्का लेखपाल ने जांच की। इधर, पूर्व विधायक विशंभर सिंह यादव ने पीड़ितों को तत्काल आर्थिक सहायता व प्रधानमंत्री आवास दिलाए जाने की मांग की है।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

पांच राज्यों के विधानसभा चुनावों से जुड़ी प्रमुख जानकारियों और आंकड़ों के लिए क्लिक करें।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.