गल्ला मंडी में पर्याप्त स्थान फिर भी राजस्व को पहुंचायी जा रही क्षति

गल्ला मंडी में पर्याप्त स्थान फिर भी राजस्व को पहुंचायी जा रही क्षति

संवाद सहयोगी बबेरू कोरोना महामारी की आड़ में सत्ता पक्ष के नेताओं व अधिकारियों ने मिलक

JagranTue, 11 May 2021 04:50 PM (IST)

संवाद सहयोगी, बबेरू : कोरोना महामारी की आड़ में सत्ता पक्ष के नेताओं व अधिकारियों ने मिलकर निजी जमीन मालिकों से सांठगांठ कर मोटी रकम लेकर किसानों के सामने रोजी-रोटी की समस्या खड़ी कर दी है। आने वाले समय में क्षेत्र का किसान व व्यापारी कतई माफ नहीं करेगा। यह आरोप क्षेत्र के नेताओं ने लगाए। वहीं सत्तापक्ष के विधायक ने आरोपों को खारिज कर कहा कि विपक्षियों की मिलीभगत से कृषि उत्पादन मंडी समिति से सब्जी मंडी हटी है। शीघ्र सब्जी मंडी पुराने स्थान (गल्ला मंडी) पर लगाई जाएगी।

बबेरू कृषि उत्पादन मंडी समिति परिसर में 23 वर्षों से लग रही सब्जी मंडी को पिछले वर्ष कोरोना महामारी के समय बंद कर दिया गया। महामारी के चलते किसानों को कृषि उत्पादन मंडी समिति में सब्जी व्यापारी दुकान नहीं लगाएंगे कहकर हटा दिया गया था। लेकिन अब सत्ता पक्ष और विपक्ष के बीच चल रही लुकाछिपी का खेल जागरण के अभियान से सामने आने लगा है। नेताओं के बोल भी बदलने लगे। कोई कह रहा है कि सरकार के इशारे पर यह खेल हुआ है तो कोई कह रहा है कि वोट की राजनीति हो रही है। लेकिन अब मंडी कहां लगेगी यह आने वाला समय ही बताएगा।

----

पूर्व नेता प्रतिपक्ष विधानसभा व कद्दावर मंत्री रहे गयाचरन दिनकर कहते हैं कि कृषि उत्पादन मंडी समिति किसानों के कृषि उपज विक्रय के लिए है। किसानों-व्यापारियों का दंभ भरने वाली सरकार में रोजी-रोटी का खतरा पैदा हो गया है। कृषि उत्पादन मंडी समिति में पर्याप्त स्थान के साथ-साथ महामारी से बचाव के लिए पर्याप्त जगह है। प्रशासन की धांधली व गुंडागर्दी नियमों को ठेंगा दिखा रही है। बाहर दुकान लगाकर छोटे किसानों, व्यापारियों से वसूली कर उपभोक्ताओं के साथ छलावा हो रहा है। शीघ्र पुराने स्थान (गल्ला मंडी) पर ही सब्जी मंडी लगनी चाहिए।

--

-सपा के पूर्व विधायक विशंभर सिंह यादव कहते हैं कि केंद्र व प्रदेश में भाजपा की सरकार है। सांसद-विधायक भी यहां के हैं। इसके बावजूद भी किसानों, व्यापारियों की पीड़ा किसी स्तर पर नही समझी जा रही है। अन्य जनपदों में कृषि उत्पादन मंडी समितियों में ही सब्जी मंडी लग रही है। यहां कमाई के चक्कर में किसानों, व्यापारियों को डंडे मार-मार कर कृषि उत्पादन मंडी समिति व फुटपाथ से भगाया जा रहा है। इतना ही नही प्राइवेट जमीन मालिक के इशारे पर सब्जी मंडी प्रशासन लगवा रहा है। किसानों को सम्मान निधि नही इस सरकार में अपमान निधि मिल रही है। कहा कि सपा की सरकार आई तो शपथ ग्रहण लेते ही 24 घंटे के अंदर कृषि उत्पादन मंडी समिति पर ही सब्जी मंडी की दुकाने लगेंगी ।

--

- क्षेत्रीय विधायक चंद्रपाल कुशवाहा ने कहा कि विपक्षियों ने मिलकर कृषि उत्पादन मंडी समिति मंडी हटाने का गुपचुप तरीके से काम किया है। लेकिन अब यह खेल नहीं चलेगा। शीघ्र ही पुराने स्थान (गल्ला मंडी) पर ही सब्जी मंडी की दुकानें लगेगी। किसानों, व्यापारियों के साथ कतई अन्याय नहीं होने दिया जाएगा। इससे राजस्व की प्राप्ति भी होगी।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.