डाक्टर ने सीएम पर की अभद्र टिप्पणी, आडियो वायरल होने पर जांच शुरू

सीएमओ ने अधीक्षक को सौंपी जांच प्रथम दृष्टया दोनों डाक्टर दोषी

JagranMon, 20 Sep 2021 11:09 PM (IST)
डाक्टर ने सीएम पर की अभद्र टिप्पणी, आडियो वायरल होने पर जांच शुरू

बलरामपुर: तुलसीपुर क्षेत्र में दो डाक्टरों के बीच फोन पर हुई कहासुनी गाली-गलौज में बदल गई। इस दौरान एक डाक्टर ने सीएम पर भी अभद्र टिप्पणी कर दी। दूसरे चिकित्सक ने आडियो वायरल कर मामले को तूल दे दिया। मुख्य चिकित्साधिकारी ने प्रकरण की जांच तुलसीपुर सीएचसी अधीक्षक को सौंपी है। जांच अधिकारी के मुताबिक मामले में प्रथम दृष्टया दोनों डाक्टर दोषी मिले हैं।

रविवार की शाम तुलसीपुर सीएचसी में तैनात डा. आशीष तिवारी व यहीं के प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र महाराजगंज तराई में चिकित्साधिकारी डा. सुहैल खान के बीच हुई गाली-गलौज का आडियो इंटरनेट मीडिया पर वायरल है। इसमें दोनों चिकित्सक एक दूसरे को गाली देते हुए देख लेने की धमकी दे रहे हैं। दूसरा डाक्टर सीएम पर भी अभद्र टिप्पणी कर रहा है। डाक्टर शराब पीकर बदतमीजी से बात करने का आरोप लगा रहा है तो दूसरा योगी बाबा की सरकार होने की बात कहते हुए धमका रहा है। दोनों के बीच हुई गाली-गलौज का आडियो वायरल होने के बाद मुख्य चिकित्साधिकारी ने प्रकरण की जांच तुलसीपुर सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र के अधीक्षक को सौंपी है।

प्रकरण की जांच कर रहे सीएचएसी अधीक्षक डा. सुमंत सिंह चौहान ने बताया कि शराब पीकर आपस में कहासुनी गाली-गलौज में बदल गई। इसमें सीएम पर भी टिप्पणी हुई। प्रथम दृष्टया दोनों डाक्टर दोषी पाए गए हैं। दोनों को बुलाकर मुख्य चिकित्साधिकारी के समक्ष पेश किया जाएगा।

वहीं, मुख्य चिकित्साधिकारी डा. सुशील कुमार ने बताया कि जांच रिपोर्ट मिलने के बाद संबंधित के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी।

सभासदों ने नपाप के खिलाफ खोला मोर्चा

बलरामपुर: नगर पालिका परिषद उतरौला के सभासदों ने जिलाधिकारी को ज्ञापन देकर नपाप प्रशासन की शिकायत की है। अवर अभियंता समेत अन्य अधिकारियों के कार्यशैली की जांच कराकर स्थानांतरण की मांग की है।

सभासद केदारनाथ कश्यप, फज्जू, मोहम्मद शरीफ, नसीम बानो, सरस्वती देवी का आरोप है कि अधिशासी अधिकारी हम सभासदगण का कोई काम नहीं कर रहे हैं। नगरवासियों का कोई वैधानिक कार्य नहीं हो रहा है। इससे लोगों में आक्रोश है।

बताया कि नगर निकाय नियमावली में स्पष्ट उल्लेख है कि अगर दो तिहाई सदस्य यदि किसी अधिकारी व कर्मचारी के विरुद्ध हों, तो उसका स्थानांतरण एवं दंडित किए जाने की व्यवस्था है। सभासदों का आरोप है कि जेई ब्लाक के साथ करीब तीन वर्ष से नगर पालिका परिषद का भी कार्य भार देख रहे हैं। 10 दिन के भीतर कार्रवाई न हुई तो आंदोलन किया जाएगा।

मोहम्मद रिजवान, मुजीबुल्ला, शहनाज, सुशीला देवी, राजकुमार शामिल रहे।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.