121 गांवों में पहली बार, बहेगी पोषण की बयार

121 गांवों में खुले नए उप स्वास्थ्य केंद्रों के विभिन्न गांवों में पहली बार शनिवार क

JagranFri, 03 Dec 2021 09:27 PM (IST)
121 गांवों में पहली बार, बहेगी पोषण की बयार

बलरामपुर : 121 गांवों में खुले नए उप स्वास्थ्य केंद्रों के विभिन्न गांवों में पहली बार शनिवार को ग्राम स्वास्थ्य पोषण दिवस का आयोजन होगा। यहां एएनएम दीदी गर्भवती की ब्लड, यूरीन समेत अन्य जांच करेंगी। साथ ही उन्हें व जच्चा-बच्चा का वजन लेकर पोषण वाले टिप्स देते हुए दुलार की थपकी देंगी।

उप स्वास्थ्य केंद्रों पर सप्ताह में दो बार ग्राम स्वास्थ्य एवं पोषण दिवस का आयोजन होता है, लेकिन हाल में शुरू हुए 121 उप स्वास्थ्य केंद्रों पर अभी तक एएनएम नहीं है। इसलिए यहां के गांवों में अब तक ग्राम स्वास्थ्य एवं पोषण दिवस का आयोजन नहीं हो पा रहा था। शनिवार से इसकी शुरूआत होने जा रही है। आशा ने गर्भवती, जच्चा व बच्चा की सूची बना ली है। अब पड़ोस की एएनएम के जरिए इन गांवों की महिलाओं व बच्चों को पोषण की सुविधा दिलाई जाएगी। बगल के गांव की एएनएम व आशा,आंगनबाड़ी कार्यकर्ता बच्चों व गर्भवती का वजन लेकर सेहत परखेंगी। बच्चों व उनकी माताओं को जरूरी टीके लगाएंगी। गर्भवती व बच्चों के कुपोषित व अति कुपोषित मिलने पर उनकी देखभाल शुरू की जाएगी। खानपान के तरीके बताते हुए पौष्टिक आहार व दवाएं दी जाएंगी। साथ ही जरूरी जांचें भी निश्शुल्क मिलेंगी। कुपोषित बच्चों को चिह्नित कर माता पिता को पोषाहार देते हुए सेहतमंद बनाने के तरीके बताएं जाएंगे। यही नहीं अतिकुपोषित बच्चों को जिला अस्पताल के पोषण पुनर्वास केंद्र में 14 दिन रखकर उन्हें स्वस्थ बनाया जाएगा। साथ ही स्तनपान कराने वाली महिलाओं को भी पोषाहार दिए जाएंगे। राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन के जिला कार्यक्रम प्रबंधक शिवेंद्र मणि त्रिपाठी ने बताया कि ग्राम स्वास्थ्य एवं पोषण दिवस में जांच व इलाज के साथ पोषण की सुविधा मिलेगी। सुविधाएं परखने के लिए पर्यवेक्षक लगाए गए हैं जो नजर रखेंगे।

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

Tags
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.