गोशाला का डीएम ने लिया जायजा, जैविक खाद के दिए टिप्स

गोशाला का डीएम ने लिया जायजा, जैविक खाद के दिए टिप्स

शनिवार को मनियर ब्लाक के स्थाई गो-आश्रय स्थल जिगिरसड़ का जिलाधिकारी श्रीहरि प्रताप शाही ने निरीक्षण किया। कहा कि ठंड के मौसम को देखते हुए पशुओं की देखरेख विशेष रूप से की जाय। वहां वर्मी कंपोस्ट पिट के संचालन के संबंध में जरूरी दिशा-निर्देश भी दिए। डीएम ने कहा कि पशुओं की सेवा पुनीत काम है। कर्मचारी पूरी तन्मयता के साथ उनकी सेवा करें। चारा व वर्मी कंपोस्ट खाद बनाने में लगे सफाईकर्मियों को जैविक खाद बनाने के जरूरी टिप्स दिए। कहा इसके माध्यम से गोबर का सबसे बेहतर प्रयोग होगा और उसकी बिक्री कर उनके देखरेख की और बेहतर व्यवस्था की जा सकेगी। भूमि संरक्षण अधिकारी संतोष यादव को मौके पर भेजकर सभी कर्मियों को वर्मी कंपोस्ट खाद बनाने के लिए प्रशिक्षित करने को कहा। पशुओं के पेयजल के लिए बनाए गए पक्के हौद में हर तीन-चार दिन पर पानी बदलते रहने व चारा का मुकम्मल प्रबंध करने के लिए मातहतों को निर्देश दिए।

Publish Date:Sat, 16 Jan 2021 07:14 PM (IST) Author: Jagran

जागरण संवाददाता, बलिया: शनिवार को मनियर ब्लाक के स्थाई गो-आश्रय स्थल जिगिरसड़ का जिलाधिकारी श्रीहरि प्रताप शाही ने निरीक्षण किया। कहा कि ठंड के मौसम को देखते हुए पशुओं की देखरेख विशेष रूप से की जाय। वहां वर्मी कंपोस्ट पिट के संचालन के संबंध में जरूरी दिशा-निर्देश भी दिए।

डीएम ने कहा कि पशुओं की सेवा पुनीत काम है। कर्मचारी पूरी तन्मयता के साथ उनकी सेवा करें। चारा व वर्मी कंपोस्ट खाद बनाने में लगे सफाईकर्मियों को जैविक खाद बनाने के जरूरी टिप्स दिए। कहा, इसके माध्यम से गोबर का सबसे बेहतर प्रयोग होगा और उसकी बिक्री कर उनके देखरेख की और बेहतर व्यवस्था की जा सकेगी। भूमि संरक्षण अधिकारी संतोष यादव को मौके पर भेजकर सभी कर्मियों को वर्मी कंपोस्ट खाद बनाने के लिए प्रशिक्षित करने को कहा। पशुओं के पेयजल के लिए बनाए गए पक्के हौद में हर तीन-चार दिन पर पानी बदलते रहने व चारा का मुकम्मल प्रबंध करने के लिए मातहतों को निर्देश दिए।

गौशाला के बगल में खाली पड़ी ग्राम समाज की जमीन में बाउंड्री बनवाने के लिए इस्टीमेट बनाने का निर्देश बीडीओ रमेश यादव को दिए। कहा, इस बाउंड्री के हो जाने से पशुओं के घूमने व चरने की अच्छी खासी व्यवस्था हो जाएगी। सामुदायिक शौचालय व पानी टंकी देखी

जिगिरसड़ में बने सामुदायिक शौचालय व संचालित पानी टंका का भी निरीक्षण जिलाधिकारी ने किया। कहा कि शौचालय अभी नया और बहुत ही बेहतरीन बना है। इसकी देखरेख हो और आगे भी ऐसा ही बना रहे। वहीं पानी टंकी व गांव में कनेक्शन के बारे में जानकारी ली। पंप को चलवाकर देखा तो पाया कि पाइप में लिकेज होने से काफी पानी बाहर गिर रहा है। उसे शीघ्र कराने के निर्देश पंचायत सचिव को दिए। निर्माण कार्य को लेकर हुए नाराज

मनियर ब्लॉक के जिगिरसड़ में एएनएम सेंटर के पास बन रहे कक्ष में खराब मैटेरियल के प्रयोग पर जिलाधिकारी ने कड़ी नाराजगी जताई। उन्होंने संबंधित जेई को जमकर फटकार लगाई और तत्काल मौके पर आकर ईंट व अन्य खराब मैटेरियल को हटवाने के निर्देश दिए। चेताया कि अगर सुधार नहीं हुआ तो मुकदमा दर्ज कर जेल भेज दिए जाएंगे। सबसे बड़ी बात कि निर्माण कार्य के बारे में वहां लेबरों के साथ आसपास के लोगों तक को जानकारी नहीं थी कि क्या बन रहा है और कौन बनवा रहा है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.