रुला रही बिजली, खीझ रहा मन

शहर में 24 घंटे बिजली देने का फरमान भले ही जारी है लेकिन धरा

JagranSun, 11 Jul 2021 04:17 PM (IST)
रुला रही बिजली, खीझ रहा मन

जागरण संवाददाता, बलिया : शहर में 24 घंटे बिजली देने का फरमान भले ही जारी है लेकिन धरातल पर उमस भरी गर्मी में पूरा शहर तड़प रहा है। तीन लाख की आबादी को बिजली खूब रुला रही है। मंत्रियों के निर्देश का भी कोई असर नहीं है। कहीं लो वोल्टेज से लोग परेशान हैं तो कहीं ट्रिपिग की समस्या से नींद गायब है।

शहर के रामपुर उदयभान, आनंदनगर, जगदीशपुर, काजीपुरा, आवास विकास कालोनी आदि में कब बिजली आएगी और जाएगी, इसका कोई भरोसा नहीं है। हर 10 मिनट पर ट्रिपिग के कारण लोग परेशान हैं। -अधिक लोड के चलते हो रही ट्रिपिग

जून माह में शहर में बिजली की खपत 41.372 मेगावाट पहुंच गई है। मई में 41.330 मेगावाट खपत थी। मई के मुकाबले 10 फीसद लोड बढ़ा है। विद्युत व्यवस्था सुधारने के लिए सरकार की ओर से भारी धन खर्च होने के बाद भी अन्य शहरों की तरह बलिया को बिजली उपलब्ध नहीं हो पाती। बिजली की दु‌र्व्यवस्था के संबंध में विद्युत वितरण खंड द्वितीय के अधिशासी अभियंता चंद्रेश उपाध्याय से पूछने पर बताया कि अधिक लोड के चलते ट्रिपिग की समस्या आ रही है, उसे सुधारा जा रहा है। पांच घंटे बिजली ने सबको रुलाया

जासं, सिकंदरपुर (बलिया) : सरकार का ग्रामीण इलाकों में 18 घंटे बिजली देने का निर्देश फीका पड़ गया है। 10 घंटे भी बिजली नहीं मिल पा रही है। रात को बार-बार हो रही ट्रिपिग के कारण लोग करवटें बदल कर रात काटने को मजबूर हैं। सुबह व शाम को पेयजल के लिए लोग इधर उधर भटकते नजर आते हैं। नियाज अहमद, मदन यादव, आनंद मिश्रा ने कहा कि अगर समय रहते विभाग नहीं चेता तो ग्रामीण आंदोलन के लिए बाध्य होंगे।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.