रेलवे लाइन के दोहरीकरण में देरी, आधे-अधूरे पड़े काम

जागरण संवाददाता बैरिया (बलिया) पिछले दो वर्षों से छपरा-औड़िहार रेलखंड पर रेवती से मा

JagranPublish:Fri, 27 May 2022 05:37 PM (IST) Updated:Fri, 27 May 2022 05:37 PM (IST)
रेलवे लाइन के दोहरीकरण में देरी, आधे-अधूरे पड़े काम
रेलवे लाइन के दोहरीकरण में देरी, आधे-अधूरे पड़े काम

जागरण संवाददाता, बैरिया (बलिया) : पिछले दो वर्षों से छपरा-औड़िहार रेलखंड पर रेवती से माझी रेल पुल तक रेलवे लाइन के दोहरीकरण का कार्य ठप है। वहीं सुरेमनपुर में प्लेटफार्म नंबर दो का निर्माण कार्य भी दो वर्षों से आधा-अधूरा पड़ा हुआ है। दोहरीकरण कार्य क्यों ठप पड़ा है यह बताने वाला कोई भी जिम्मेदार व्यक्ति नहीं है। रेवती से सुरेमनपुर तक दूसरी रेलवे लाइन के लिए मिट्टी भरने का काम भी पूरा नहीं हो पाया है जबकि सुरेमनपुर से बकुल्हां तक एक वर्ष पूर्व दूसरी लाइन बिछा दी गई है लेकिन उसमें नट-बोल्ट नहीं कसे गए हैं। इसी तरह बकुल्हां रेलवे स्टेशन से माझी रेलवे पुल तक दूसरी लाइन के लिए मिट्टी भरने का काम आधा अधूरा पड़ा हुआ है। साथ ही बकुल्हां सुरेमनपुर तथा रेवती स्टेशन पर भी दोहरीकरण से संबंधित कई कार्य अधूरे हैं। रेलवे ने घोषणा की थी कि अप्रैल 2022 से छपरा औड़िहार रेलखंड पर दोहरीकरण का कार्य पूरा हो जाएगा। वहीं स्थिति को देखने से लगता है कि अभी एक वर्ष से अधिक समय दोहरीकरण कार्य में लगेगा। वाराणसी के जनसंपर्क अधिकारी अशोक कुमार ने बताया कि डीआरएम कार्यालय से संबंधित लोगों को निर्देश जारी किया गया है कि दोहरीकरण के कार्य में तेजी लाई जाए।