आतंकवाद के विरोध में छात्राओं का मार्च, नारेबाजी

जागरण संवाददाता, बलिया: पुलवामा घटना के विरोध में गुरुवार को सैकडों की संख्या में छात्राओं ने सड़क पर उतर कर जबरदस्त प्रदर्शन किया। नगर के विभिन्न कालेजों की छात्राओं ने कात्यायनी पाण्डेय के नेतृत्व में बहादुरपुर से जुलूस मार्च निकाला और तकरीबन दो किलोमीटर का सफर तय कर टीडी कालेज पहुंच कर पाकिस्तान व आतंकवाद का पुतला दहन किया।

इस दौरान आक्रोशित छात्राओं ने जमकर नारेबाजी की तथा शहीद सैनिकों को श्रद्धांजलि अर्पित की। मौके पर वैष्णवी, नेहा, महिमा, नीतू, आकांक्षा, जिया, प्रतिक्षा, आंचल, संजू, शुभ्रा, रागिनी व आस्था मौजूद रहीं। इसी क्रम में रसड़ा के मुस्लिम समुदाय के लोगों ने जुलूस निकालकर पाकिस्तान मुर्दाबाद तथा ¨हदुस्तान ¨जदाबाद के नारे लगाये। प्यारे लाल चौराहा पर लोगों ने एकजूटता का परिचय देते हुए पाकिस्तान को नेस्तनाबूद करने की मांग सरकार से की। मौके पर मसूद आलम, गुलजार अहमद, जावेद अंसारी, अशरफ अली, एकबाल अहमद, मुमताज अहमद, हंषनाथ, जहागीर आदि थे।

नगरा क्षेत्र के प्राथमिक व उच्च प्राथमिक विद्यालय के सैकडों शिक्षकों ने बुधवार की देर शाम बाजार में कैंडिल मार्च निकाल कर शहीदों को श्रद्धांजलि दी। बीआरसी से जुलुस की शक्ल में निकले सैकडों शिक्षक हाथों में कैंडिल व बैनर के साथ पूरे बाजार का भ्रमण किया। मौके पर बीईओ लालजी शर्मा, वीरेन्द्र प्रताप यादव, ओमप्रकाश, सुधीर तिवारी, मुकेश ¨सह, आशू ¨सह, राजबहादुर ¨सह आदि थे। उधर रतसर इलाके के डीपीएचएस स्कूल बाराबांध के तत्वावधान में आतंकवाद विरोधी पदयात्रा निकाली गयी। इसमें छात्र-छात्राओं व शिक्षकों के अलावा क्षेत्रीय युवक, बुजुर्ग और महिलाओं ने बढ़चढ़ कर हिस्सा लिया। इस दौरान आतंकवाद के विरोध में जमकर नारेबाजी की गई और पुलवामा घटना को अंजाम देने वालों के खिलाफ कठोर कार्रवाई की मांग की गई।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.