इंफ्रास्ट्रक्चर व कृषि क्षेत्र में और काम की जरूरत

इंफ्रास्ट्रक्चर व कृषि क्षेत्र में और काम की जरूरत

आकांक्षात्मक की श्रेणी से निकालने के रोडमैप को परखा बांस आधारित उत्पाद के लिए प्रस्ताव तैयार करने का दिया सुझाव

JagranThu, 25 Feb 2021 10:08 PM (IST)

बहराइच: नीति आयोग के उपाध्यक्ष डॉ. राजीव कुमार ने कलेक्ट्रेट सभागार में शिक्षा, स्वास्थ्य, पोषण, वित्तीय समायोजन, कौशल विकास समेत सभी सूचकांकों पर चर्चा की। उन्होंने इंफ्रास्ट्रक्चर व कृषि क्षेत्र में और काम करने की जरूरत बताई। कहा कि आकांक्षात्मक श्रेणी से जिले को उबारने के लिए सभी विभागों की सहभागिता जरूरी है। तराई के वातावरण को देखते हुए बांस आधारित उद्योग स्थापना का प्रस्ताव तैयार करने का सुझाव दिया। जैविक खेती पर जोर देते हुए कहा कि बहुफसली खेती को लेकर किसानों को प्रेरित करें।

डीएम शंभु कुमार ने निर्धारित सूचकांक के हिसाब से तैयार किए गए रोडमैप को आयोग के उपाध्यक्ष के सामने रखा। संस्थागत प्रसव के जरिए शिशु व मातृ मृत्युदर में कमी लाने का फार्मूला, गर्भवती व धात्री महिलाओं को कुपोषण से बचाने के लिए संचालित योजना से लाभान्वितों की रिपोर्ट, जानलेवा बीमारियों से बच्चों को बचाने के लिए टीकाकरण व पौष्टिक भोजन के लिए प्रेरणा कैंटीन की सुविधा को डीएम ने उनके समक्ष रखा। डीएम ने कहा कि 602 आंगनबाड़ी केंद्रों पर पोषण वाटिका विकसित की गई है। अतिकुपोषित परिवारों को गो दान किया गया है।

बी-टू बाजार का किया उद्घाटन

- स्वयं सहायता समूहों के उत्पादों के लिए बनाए गए ब्रांड बहराइच बी-टू का उपाध्यक्ष ने फीता काटकर उद्घाटन किया। स्टालों का निरीक्षण कर समूह की सदस्यों के उत्पादों के निर्माण, मार्केटिग एवं बिक्री की जानकारी ली। रेशम धागा, फिनायल व लेडी•ा पर्स के मेकिग प्रोसेस के डेमो को भी देखा। -------इनसेट-------

गर्भवती की गोदभराई व नवजात को कराया अन्नप्रासन

कैसरगंज: नीति आयोग के उपाध्यक्ष डॉ. राजीव कुमार के मानकों पर स्वास्थ्य, शिक्षा व पोषण की कवायद खरी उतरी। चिकित्सकीय सेवाएं, बेसिक शिक्षा व गर्भवती महिलाओं को कुपोषण से बचाने के लिए उठाए जा रहे कदम को बारीकी से परखा। सुबह आयोग उपाध्यक्ष सीधे सीएचसी कैसरगंज पहुंचे। यहां 50 बेड की मैटरनिटी विग, न्यू बार्न सिक यूनिट, परिवार नियोजन परामर्श कक्ष, कंगारू मदर केयर यूनिट, मिनी स्किल लैब, लेबर रूम, ब्लड बैंक, लैब, आपरेशन थियेटर, किचन, आशा वेटिग रूम, मुख्यमंत्री सुपोषण घर का निरीक्षण किया। डॉ. पायल श्रीवास्तव व डॉ. रजनी चौधरी से गर्भवती महिलाओं की देखभाल व संस्थागत प्रसव से जुड़े कई सवाल पूछे। सीएमओ डॉ. राजेश मोहन श्रीवास्तव व सीएचसी के अधीक्षक डॉ. एन.के.सिंह से भर्ती मरीजों व आशा कार्यकर्ताओं की सुविधाओं के बारे में जानकारी ली।

यहां से वे सीधे ब्लॉक संसाधन केंद्र, प्राथमिक एवं उच्च प्राथमिक विद्यालय कुंडासर, मिशन प्रेरणा प्रशिक्षण भवन का निरीक्षण किया। कक्षा के बच्चों से पठन-पाठन के बारे में जानकारी ली। स्मार्ट क्लास, पोषण वाटिका, पुस्तकालय, मीना मंच, विज्ञान प्रयोगशाला, स्वच्छ शौचालय की स्थिति देखी। इसके बाद एएनएम सेंटर व आंगनबाड़ी केंद्र परसेंडी गए। उत्कृष्ट कार्य के लिए एएनएम आयशा परवीन को मिशन शक्ति अभियान के तहत सम्मानपत्र भेंट किया। बच्चे के जन्मदिवस का केक काटा। बच्चों को पोषण किट वितरित किया। पांच गर्भवती महिलाओं की गोद भराई व नवजात बच्चों को अन्नप्रासन सभी कराया। निदेशक नीति आयोग अनामिका सिंह, वरिष्ठ सलाहकार रामा काजा राजू, सचिव शिवम तेवतिया मौजूद रहे।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.